ताज़ा खबर
 

‘दबाव के कारण नहीं देख रही थी टेनिस, शोएब मलिक की मदद से कोर्ट पर लौटी’, सानिया मिर्जा ने किया था खुलासा

सानिया डबल्स में ऑस्ट्रेलिया ओपन (2016), विम्बलडन (2015) और यूएस ओपन (2015) का खिताब अपने नाम कर चुकी हैं। वहीं, मिक्स्ड डबल्स में उन्होंने ऑस्ट्रेलियन ओपन (2009), फ्रेंच ओपन (2012) और यूएस ओपन (2014) जीत चुकी हैं।

Sania mirza, shoaib malik, love story, interviewसानिया दो साल पहले चोट के कारण कई टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले सकी थीं। (सोर्स – सोशल मीडिया)

भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने अपने करियर में कई सारी उपलब्धियां हासिल की हैं। उन्होंने अपने करियर में छह ग्रैंड स्लैम टाइटल जीत चुकी हैं। सानिया दो साल पहले चोट के कारण कई टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले सकी थीं। इसके बाद वो मां बन गईं थी तो खेल से लंबे समय तक दूर रही थीं। चोट के कारण सानिया ने टेनिस देखना तक छोड़ दिया था, लेकिन पति शोएब मलिक की मदद से कोर्ट पर वापस लौट गई। उन्होंने एक इंटरव्यू में इसके बारे में खुलासा किया था।

सानिया ने जिओ सुपर चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था, ‘‘मैं पांच-छह महीने के लिए चोटिल हो गई थी। शोएब भी चोटिल हो गए थे और टीम से बाहर चल रहे थे। खिलाड़ियों के लिए सबसे बुरा टीम के लिए नहीं खेलना होता है। इस दौरान कोई भी पति अपनी पत्नी के लिए या कोई पत्नी अपने पति के साथ रहती हैं। जब आप दोनों एक-दूसरे की जरुरतों को समझते हैं तो ज्यादा बेहतर होता है। जब मैं नहीं खेल पा रही थी तो मैंने टेनिस देखना तक छोड़ दिया था। मैं इतने दबाव में आ गई थी कि ऐसा नहीं कर पा रही थी। मुझे मजा ही नहीं आता था।’’

सानिया ने आगे बताया था, ‘‘इन्होंने (शोएब) ने मेरी काफी मदद की। हम साथ में जिम जाते थे, साथ में ट्रेनिंग करते थे। एक-दूसरे की प्रैक्टिस में मदद करते थे। जब बॉल स्पोर्ट्स खेलते हैं तो एक-दूसरे के फिटनेस की जरुरतों के बारे में पता होता है। आपको टाइमिंग के बारे में पता होता है। हमारी ट्रेनिंग काफी मिलती थी। इसलिए ये सब काफी मदद पहुंचाते हैं। ये (मलिक) मुझे हमेशा हलवा-पूड़ी खाने के लिए कहते थे।’’

इंटरव्यू के दौरान शोएब मलिक ने कहा, ‘‘हमदोनों का ऐसा खेल है कि ज्यादातर समय अलग-अलग रहते हैं। इस दौरान फोन पर दुखों को शेयर करते थे। ये मुझे हमेशा समझाती थीं कि स्पोर्ट्समैन के जीवन में ऐसा समय है। अगर एक स्पोर्ट्समैन की पत्नी भी खेल से हो तो चीजों को ज्यादा समझने में आसानी होती है।’’ सानिया डबल्स में ऑस्ट्रेलिया ओपन (2016), विम्बलडन (2015) और यूएस ओपन (2015) का खिताब अपने नाम कर चुकी हैं। वहीं, मिक्स्ड डबल्स में उन्होंने ऑस्ट्रेलियन ओपन (2009), फ्रेंच ओपन (2012) और यूएस ओपन (2014) जीत चुकी हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘अंबाती रायुडू को वर्ल्ड कप टीम में नहीं रखना हमारी गलती थी, सूर्यकुमार के लिए किसे करें बाहर’, बोले टीम इंडिया के चयनकर्ता
2 सचिन तेंदुलकर की एक सलाह ने बदला सूर्यकुमार यादव का करियर, रामाकांत आचरेकर के ‘गुरु मंत्र’ का हुआ था असर
3 ऑटो चलाकर पिता ने मोहम्मद सिराज को बनाया था क्रिकेटर, अब नहीं देख पाएंगे बेटे का टेस्ट में डेब्यू
ये पढ़ा क्या ?
X