scorecardresearch

एशियाई खेल 2014: सानिया मिर्जा और साकेत माइनेनी ने जीता मिश्रित युगल का स्वर्ण

इंचियोन। सानिया मिर्जा और साकेत माइनेनी की जोड़ी ने भारत को एशियाई खेलों की टेनिस मिश्रित युगल स्पर्धा में स्वर्ण पदक दिलाया। भारत ने इस बार एशियाई खेलों की टेनिस स्पर्धा में एक स्वर्ण समेत पांच पदक जीते। सानिया और साकेत की दूसरी वरीयता प्राप्त जोड़ी ने सिर्फ 69 मिनट तक चले फाइनल में शीर्ष […]

एशियाई खेल 2014: सानिया मिर्जा और साकेत माइनेनी ने जीता मिश्रित युगल का स्वर्ण

इंचियोन। सानिया मिर्जा और साकेत माइनेनी की जोड़ी ने भारत को एशियाई खेलों की टेनिस मिश्रित युगल स्पर्धा में स्वर्ण पदक दिलाया। भारत ने इस बार एशियाई खेलों की टेनिस स्पर्धा में एक स्वर्ण समेत पांच पदक जीते। सानिया और साकेत की दूसरी वरीयता प्राप्त जोड़ी ने सिर्फ 69 मिनट तक चले फाइनल में शीर्ष वरीयता प्राप्त चीनी ताइपै के हाओ चिंग चान और सियेन यिन पेंग को 6-4, 6-3 से हराया।

माइनेनी इससे पहले सनम सिंह के साथ पुरुष डबल्स फाइनल में योंगक्यू लिन और हियोन चुंग की कोरियाई जोड़ी के हाथों सीधे सैटों में शिकस्त के साथ स्वर्ण नहीं जीत सके थे। पांचवीं वरीय भारतीय जोड़ी को खिताबी मुकाबले में आठवीं वरीय स्थानीय जोड़ी के हाथों 5-7, 6-7 से शिकस्त का सामना करना पड़ा। सनम ने इससे पहले 2010 ग्वांग्झू एशियाई खेलों में सोमदेव देववर्मन के साथ मिलकर पुरुष डबल्स का रजत पदक जीता था लेकिन वह इसे दोहरा नहीं सके।

भारत ने 2010 खेलों में भी पांच पदक जीते थे लेकिन उनमें दो स्वर्ण थे। लिएंडर पेस, सोमदेव देववर्मन और रोहन बोपन्ना जैसे शीर्ष खिलाड़ियों के पीछे हटने के बाद भारतीय युवा खिलाड़ियों का यह प्रदर्शन अच्छा कहा जाएगा। युकी भांबरी ने पुरुष सिंगल्स में और डबल्स दिविज शरण के साथ कांस्य जीते जबकि सानिया और प्रार्थना थोंबरे ने महिला डबल्स में कांस्य जीता। सानिया के अब एशियाई खेलों में आठ पदक हो गए हैं । पहली बार एशियाई खेलों में उतरे माइनेनी ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया। भारतीय जोड़ी ने हाओ को निशाना बनाया और ताइपै की खिलाड़ी ने कई बार माइनेनी को उसके शरीर पर आक्रामक शाट लगाए।

भारतीय जोड़ी ने सातवें गेम में हाओ की सर्विस तोड़कर बढ़त बना ली जिसमें उन्हें एक भी ब्रेक पाइंट का सामना नहीं करना पड़ा। ब्रेक के बाद माइनेनी की सर्विस पर पेंग का बैकहैंड शाट वाइड चला गया जिससे भारतीय जोड़ी ने सैट जीत लिया। दूसरे सैट में भारतीयों ने शानदार शुरुआत करते हुए पहले ही गेम में पेंग की सर्विस तोड़ी। लेकिन सानिया ने चौथे गेम में सर्विस खो दी जिससे स्कोर बराबर हो गया। एक समय पिछड़ने के बाद सानिया और साकेत ने दो ब्रेक पाइंट बचाए लेकिन बाद में उनकी सर्विस टूटी। ब्रेक के बाद सानिया ने बैकहैंड पर विनर लगाया और हाओ की सहज गलती से भारतीयों को मौका मिल गया। सानिया ने अगले सर्विस गेम में शानदार खेल दिखाया जिससे पेंग ने कई सहज गलतियां करके दो मैच पाइंट खो दिए। पहला उसने ऐस पर बचाया लेकिन ड्यूस पर हाओ का फोरहैंड शाट नेट में चला गया जिससे भारतीय जोड़ी को स्वर्ण मिल गया।

पुरुष डबल्स में पहला सैट हारने के बाद भारतीय जोड़ी दूसरे सैट को टाईब्रेकर में ले गई लेकिन कोरिया जोड़ी ने इसमें दबदबा बनाए रखा। साकेत और सनम शुरुआत में ही 1-4 से पिछड़ गए जिसके बाद कोरियाई जोड़ी ने 6-2 के स्कोर तक चार मैच पाइंट हासिल किए। सनम ने इसके बाद पहले ही मैच पाइंट पर लिम की सर्विस पर फोरहैंड शाट बाहर मारकर विरोधी जोड़ी को विजयी अंक दिया।

 

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 30-09-2014 at 09:10:21 am
अपडेट