ताज़ा खबर
 

सानिया-हिंगिस की जोड़ी ने जीता डब्ल्यूटीए फाइनल्स का खिताब

सानिया मिर्जा और मार्टिना हिंगिस की शीर्ष वरीयता प्राप्त जोड़ी ने यहां सीधे सेटों में जीत दर्ज करके डब्ल्यूटीए फाइनल्स का युगल खिताब जीता जो इन दोनों का इस सत्र में कुल नौवां खिताब है..

Author सिंगापुर | November 2, 2015 2:46 AM
सानिया मिर्जा और मार्टिना हिंगिस (एपी फाइल फोटो)

भारतीय टेनिस तारिका सानिया मिर्जा और स्विट्जरलैंड की मार्टिना हिंगिस की शीर्ष वरीयता प्राप्त जोड़ी ने अपना विजय अभियान जारी रखते हुए रविवार को यहां सीधे सेटों में जीत दर्ज करके डब्ल्यूटीए फाइनल्स का युगल खिताब जीता जो इन दोनों का इस सत्र में कुल नौवां खिताब है।

सानिया और हिंगिस ने 2015 की सर्वश्रेष्ठ युगल टीम चुने जाने के 48 घंटे बाद गार्बाइन मुरूगुजा और कार्ला सुआरेज नवारो की आठवीं वरीयता प्राप्त स्पेनिश जोड़ी को 66 मिनट तक चले मैच में 6-0, 6-3 से हराकर महिला युगल में अपनी बादशाहत कायम रखी।

सानिया और हिंगिस ने इस तरह से लगातार 22वीं जीत दर्ज की। पिछले छह टूर्नामेंट से उन्होंने कोई मैच नहीं गंवाया है। असल में सिनसिनाटीम में चान हाओ चिंग और चान युंग जान के हारने के बाद उन्होंने केवल दो सेट गंवाये हैं।

इन दोनों खिलाड़ियों का यह वर्ष का नौवां खिताब है। उन्होंने इस साल इससे पहले इंडियन वेल्स, मियामी, चार्ल्सटन, विंबलडन, यूएस ओपन, ग्वांग्झू, वुहान और बीजिंग में खिताब जीते थे। मार्च से सानिया और हिंगिस ने दस टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनायी जिनमें उन्हें केवल रोम ओपन में हार का सामना करना पड़ा था।

सानिया डब्ल्यूटीए फाइनल्स में अपना खिताब बचाये रखने में भी सफल रही। उन्होंने पिछले साल जिम्बाब्वे की कारा ब्लैक के साथ मिलकर खिताब जीता था। हिंगिस का यह करियर का 50वां युगल और डब्ल्यूटीए फाइनल्स में तीसरा (इससे पहले 1999 और 2000) खिताब है। सानिया और हिंगिस ने इस टूर्नामेंट में एक भी सेट नहीं गंवाया और आसानी से जीत दर्ज की।

मुरूगुआ और सुआरेज नवारो के खिलाफ कोर्ट पर उतरते ही उन्होंने दबदबा बना दिया। पहले सेट के दूसरे गेम में सानिया ने करारे फोरहैंड से मुरूगुजा की सर्विस तोड़ी। इसके बाद तो सानिया और हिंगिस ने अपने हिसाब से खेल आगे बढ़ाया। भारतीय खिलाड़ी ने बैकहैंड ड्राइव से यह सेट अपनी टीम के नाम किया।

स्पेनिश जोड़ी ने दूसरे सेट में कुछ चुनौती पेश की लेकिन वे भारतीय-स्विस जोड़ी को ब्रेक प्वॉइंट लेने और खिताब जीतने से नहीं रोक पायी। हिंगिस ने मैच के बाद जीत का श्रेय सानिया को दिया जो अभी महिला युगल में नंबर एक खिलाड़ी हैं। हिंगिस ने कहा ‘‘यह एक शानदार दिन था। सानिया ने बेहतरीन टेनिस का नजारा पेश किया। वह कोर्ट पर पूरी तरह छा गयी और उसका हर शॉट शानदार था।’’

हिंगिस दुनिया की 16वीं खिलाड़ी बन गयी है जिन्होंने 50 डब्ल्यूटीए युगल खिताब जीते। उनसे पहले मार्टिना नवरातिलोवा, रोसी कासेल्स, पाम श्राइवर, बिली जीन किंग, नताशा जेवेरेवा, लिसा रेमंड, याना नोवोत्ना, अरांत्सा सांचेज विकारियो, गिगी फर्नाडिस, हेलेना सुकोवा, लारिसा नीलैंड, कारा ब्लैक, रेनी स्टब्स, वेंडी टर्नबुल और लीजल ह्यूबर यह उपलब्धि हासिल कर चुकी हैं।

सानिया और मार्टिना ने सत्र का अंत विश्व की नंबर एक युगल टीम के रूप में किया। भारतीय टेनिस स्टार ने कहा कि वर्ष के आखिर में डब्ल्यूटीए फाइनल्स जीतना शानदार रहा। सानिया ने कहा, ‘‘हम इस टूर्नामेंट में खेलने के लिये उम्र भर जूझते रहते हैं और खचाखच भरे स्टेडियम में खेलने का अनुभव शानदार रहा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम खुद को भाग्यशाली मानते हैं। हमने मिलकर कुछ बेजोड़ परिणाम हासिल किये और हमारे लिये वर्ष का अंत करने का यह शानदार तरीका था।’’

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करेंगूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

World Cup 2019
  • world cup 2019 stats, cricket world cup 2019 stats, world cup 2019 statistics
  • world cup 2019 teams, cricket world cup 2019 teams, world cup 2019 teams list
  • world cup 2019 points table, cricket world cup 2019 points table, world cup 2019 standings
  • world cup 2019 schedule, cricket world cup 2019 schedule, world cup 2019 time table

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X