ताज़ा खबर
 

सानिया-मार्टिना ने जीता एक और खिताब

सानिया मिर्जा और मार्टिना हिंगिस ने अपना अजेय अभियान जारी रखते हुए शुक्रवार को यहां डब्लूटीए एपिया इंटरनेशनल टेनिस टूर्नामेंट का खिताब जीता जो उनका इस सत्र में लगातार दूसरा खिताब है।

Author सिडनी | Published on: January 16, 2016 1:15 AM
सानिया मिर्जा और मार्टिना हिंगिस (File Photo-Agency)

सानिया मिर्जा और मार्टिना हिंगिस ने अपना अजेय अभियान जारी रखते हुए शुक्रवार को यहां डब्लूटीए एपिया इंटरनेशनल टेनिस टूर्नामेंट का खिताब जीता जो उनका इस सत्र में लगातार दूसरा खिताब है। इसके साथ ही इन दोनों ने लगातार 30 जीत दर्ज करने का नया रेकार्ड भी बनाया। सानिया और मार्टिना को हालांकि कैरोलिन गर्सिया और क्रिस्टीना मालडेनोविच पर 1-6, 7-5,10-5 से जीत दर्ज करने के लिए काफी पसीना बहाना पड़ा। इस एक घंटे 13 मिनट तक चले मैच के शुरू में शीर्ष वरीयता इस जोड़ी की स्थिति काफी खराब थी। सानिया-मार्टिना की जोड़ी एक समय 1-6, 1-4 से पीछे चल रही थी लेकिन उन्होंने खुद पर दबाव नहीं बनने दिया और शानदार वापसी करके स्कोर 5-5 से बराबरी पर ला दिया। इसके बाद वे मैच को टाईब्रेकर तक ले गईं। विंबलडन और यूएस ओपन चैंपियन इस जोड़ी ने निर्णायक सुपर टाईब्रेकर में 8-3 से बढ़त बनाई और फिर आसानी से जीत दर्ज करके अपने अजेय अभियान को 30 मैच तक बढ़ा दिया।

भारतीय स्टार सानिया और स्विट्जरलैंड की हिंगिस का यह एक साथ में 11वां खिताब है। उन्होंने 2015 में नौ खिताब जीते थे जिनमें दो ग्रैंडस्लैम और साल का आखिरी डब्लूटीए फिनाले भी शामिल है। उन्होंने पिछले सप्ताह ब्रिसबेन इंटरनेशनल ट्राफी जीतकर 2016 की भी शानदार शुरुआत की थी।

सानिया ने मैच के बाद कहा कि जब हम 6-1, 5-2 से पीछे थी तो हम एक दूसरे से यही कह सकती थीं कि केवल एक ब्रेक से हम उम्मीद रख सकती हैं। इस तरह की स्थिति में आप केवल सकारात्मक सोच से ही आगे बढ़ सकते हो। हमने 5-3 पर अपनी सर्विस बचाई और फिर लय हासिल कर ली। हम वास्तव में एक और टूर्नामेंट जीतकर खुश हैं। हमने जिस तरह से वापसी की उससे हम बहुत खुश हैं।

हिंगिस ने कहा कि यह उनके जज्बे की कड़ी परीक्षा थी। आपको अंधेरी गुफा में ज्यादा प्रकाश नहीं दिखाई देगा लेकिन एक दो मौके होते हैं और एक छोटे मौके से हम मैच का पासा पलटने में सफल रहे। सोमवार को जब नई रैंकिंग जारी होगी तो हिंगिस भी सानिया के साथ डब्लूटीए युगल रैंकिंग में संयुक्त पहले स्थान पर पहुंच जाएंगी। वह 2000 के बाद पहली बार शीर्ष पर काबिज होंगी। हिंगिस ने कहा कि यह मेरे करियर का एक और अध्याय है। सानिया जब चार्ल्सटन में नंबर एक बनी थी तो यह उसके लिए बड़ी उपलब्धि थी और अब मेरे लिए कि 16 साल बाद मुझे फिर से नंबर एक बनने का मौका मिला है। यह सपना था जो अब सच हो गया है।

इसके अलावा भारत के रोहन बोपन्ना और रोमानिया की फ्लोरिन मर्जिया की जोड़ी ने थोमाज बेलूची और लियोनार्डो मायेर को सीधे सेटों में हराकर एपिया इंटरनेशनल टेनिस के फाइनल में प्रवेश कर लिया। चौथी वरीयता प्राप्त बोपन्ना और मर्जिया ने ब्राजील के बेलूची और अर्जेंटीना के मायेर की जोड़ी को 7-6, 6-2 से मात दी। अब उनका सामना ब्रिटेन के जैमी मर्रे और ब्राजील के ब्रूनो सोआरेस से होगा। सोआरेस और मर्रे ने पोलैंड के लुकाज कुबोट और मार्सिन मेट्कोवस्की को 7-5, 2-6, 10-3 से मात दी। बोपन्ना ने पिछले साल यहां कनाडा के डेनियल नेस्टर के साथ खिताब जीता था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories