ताज़ा खबर
 

सानिया-हिंगिस ब्रिसबेन इंटरनेशनल के फाइनल में

भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा और स्विट्जरलैंड की उनकी जोड़ीदार मार्टिना हिंगिस ने अपना बेहतरीन प्रदर्शन जारी रखते हुए शुक्रवार को ब्रिसबेन इंटरनेशनल टेनिस टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई

Author ब्रिसबेन | Published on: January 8, 2016 11:37 PM
भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा और उनकी स्विस जोड़ीदार मार्तिना हिंगिस (फाइल फोटो पीटीआई)

भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा और स्विट्जरलैंड की उनकी जोड़ीदार मार्टिना हिंगिस ने अपना बेहतरीन प्रदर्शन जारी रखते हुए शुक्रवार को ब्रिसबेन इंटरनेशनल टेनिस टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई। यह उनकी एक साथ लगातार 25वीं जीत है। भारत और स्विट्जरलैंड की इस टाप सीड जोड़ी ने स्लोवाकिया की आंद्रिया क्लेपाक और रूस की एल्ला कुद्रयावत्सेवा को 6-3, 7-5 से हराकर खिताबी मुकाबले में प्रवेश किया। सानिया और हिंगिस को फाइनल में मुकाबला अनाबेला मेडिना गारिगेज और अरांत्सा पैरा सैंटोंजा की स्पेनिश जोड़ी और एंजेलिक केरबर और आंद्रिया पेटकोविच की जर्मन जोड़ी के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा।

सानिया और हिंगिस अभी दुनिया की नंबर एक जोड़ी है। उन्हें पहले सेट में जीत दर्ज करने में कुछ भी परेशानी नहीं हुई लेकिन दूसरे सेट में उन्हें थोड़ी चुनौती का सामना करना पड़ा। सानिया ने कहा कि लंबे समय से हमें हार नहीं मिली लेकिन नए सत्र की शुरुआत करना आसान नहीं होता है विशेषकर तब जबकि आपके लिए पिछला सत्र शानदार रहा हो। हर कोई हमें हराने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। उन्होंने कहा कि हम अभी एक बार में एक मैच पर ध्यान दे रहे है। सकारात्मक हैं और पिछले सत्र में हमने जहां समापन किया था वहीं से आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे हैं।

सानिया और हिंगिस ने पिछले सत्र में पांच खिताब जीते थे। उनका अजेय अभियान सारा ईरानी और राबर्टा विंसी के 2012 में 25 जीत के बाद सबसे लंबा है। इटली की इस जोड़ी ने भी लगातार पांच टूर्नामेंट बार्सिलोना, मैड्रिड, रोम, फे्रंच ओपन और हर्टगोनबोस्क में जीत दर्ज की थी। विंबलडन में उनके विजय अभियान पर रोक लगी थी। हिंगिस ने कहा कि नए सत्र की हमारी शुरूआत शानदार रही है।

हमने कभी यह नहीं सोचा कि हमने 2015 में समापन कर दिया था। मैं इंडियन लीग में और सानिया आइपीटीएल में खेली इसलिए हमने खुद को कोर्ट पर व्यस्त रखा था। उन्होंने कहा कि हम यहां एक और फाइनल में पहुंचकर वास्तव में खुश हैं और अब हमारी निगाह एक और खिताब जीतने पर हैं। महिला डबल्स में लगातार 25 से अधिक मैच जीतने वाली आखिरी टीम गिगी फर्नाडिस और नतासा जेवेरेवा की थी जिन्होंने 1994 में लगातार 28 जीत दर्ज की थी।

फेडरर ब्रिसबेन इंटरनेशनल के सेमीफाइनल में

गत चैंपियन रोजर फेडरर ने बीमारी से उबरते हुए ग्रिगोर दिमित्रोव को 6-4, 6-7, 6-4 से हराकर ब्रिसबेन इंटरनेशनल टेनिस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में जगह बनाई। फ्लू जैसी बीमारी के कारण फेडरर ने आस्ट्रेलिया ओपन के अभ्यास टूर्नामेंट में अपना पहला मैच पांचवें दिन तक टाला और वे 24 घंटे से भी कम के आराम के बाद क्वार्टर फाइनल में दिमित्रोव के खिलाफ खेल रहे थे। सेमीफाइनल में फेडरर का सामना 22 साल के डोमीनिक थिएम से होगा जो शीर्ष 20 में सबसे युवा खिलाड़ी हैं। थिएम ने क्वार्टर फाइनल में तीसरे वरीय मारिन सिलिच को 2-6, 7-6, 6-4 से शिकस्त दी। एक अन्य सेमीफाइनल में मिलोस राओनिक का सामना बर्नार्ड टोमिच से होगा। टोमिच ने केई निशिकोरी को 6-3, 1-6, 6-3 से हराया जबकि राओनिक ने लुकास पाउली को 6-4, 6-4 से शिकस्त दी। महिला वर्ग में चौथी सीड एंजेलिक कर्बर ने कार्ला सुआरेव नवारो को 6-2, 6-3 से हराकर फाइनल में जगह बनाई।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories