ताज़ा खबर
 

वर्ल्‍ड कप टीम में दिनेश कार्तिक की जगह महेंद्र सिंह धोनी? संदीप पाटिल ने रखी अपनी राय

धोनी की बढ़ती उम्र और उनकी बल्लेबाजी की धार कुंद पड़ने के बाद कई लोग धोनी की जगह कार्तिक को 2019 का वर्ल्ड कप खिलाने के पक्ष में हैं, लेकिन पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी और पूर्व चयनकर्ता संदीप पाटिल इससे इत्तेफाक नहीं रखते।

दिनेश कार्तिक, एमएस धोनी (image source- Reuters/AP)

निदास ट्रॉफी के फाइनल में खेली गई अपनी ताबड़तोड़ पारी के बाद से दिनेश कार्तिक के सितारे बुलंदियों पर हैं। कार्तिक फिलहाल क्रिकेट फैन्स के नए फेवरेट खिलाड़ी बनकर उभरे हैं। ऐसे में, बात उठ रही है कि क्या 2019 के वर्ल्ड कप में दिनेश कार्तिक एमएस धोनी को रिप्लेस कर सकते हैं। धोनी की बढ़ती उम्र और उनकी बल्लेबाजी की धार कुंद पड़ने के बाद कई फैन्स इसके पक्ष में दिखाई दे रहे हैं, लेकिन पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी और पूर्व चयनकर्ता संदीप पाटिल इससे इत्तेफाक नहीं रखते। पाटिल अभी भी 2019 वर्ल्ड कप के लिए एमएस धोनी को ही विकेटकीपर-बल्लेबाज के तौर पर टीम में रखना चाहते हैं। गौरतलब है कि खुद कार्तिक ने भी स्वीकार किया है कि धोनी से उनकी तुलना सही नहीं है। कार्तिक ने धोनी की तारीफ करते हुए कहा था कि धोनी उस यूनिवर्सिटी के टॉपर हैं, जिसमें वह पढ़ रहे हैं।

संदीप पाटिल ने कार्तिक की तारीफ करते हुए कहा कि कार्तिक अब टीम में सेटल लग रहे हैं। कार्तिक ने टीम मैनेजमेंट और चयनकर्ताओं को एक बेहतर विकल्प दे दिया है। निदास ट्रॉफी के फाइनल में खेली गई कार्तिक की पारी उनके लिए काफी फायदेमंद रहेगी। हालांकि, 2019 में धोनी की जगह कार्तिक को रखने के सवाल पर पाटिल ने कहा, “मैं अभी भी धोनी के साथ जाना पसंद करूंगा। आईसीसी इवेंट में आप 17-18 खिलाड़ियों को सिलेक्ट नहीं कर सकते हैं। मैं चाहता हूं कि धोनी 2019 का वर्ल्ड कप खेलें। धोनी की फिटनेस कमाल की है, हां समय के साथ उनकी मारक क्षमता में कमी आयी है, लेकिन ऐसा सभी के साथ होता है। धोनी के पास जो अनुभव है, उसकी बदौलत वह दबाव में भी खेल सकते हैं, क्योंकि विश्व कप का दबाव बिल्कुल अलग होता है और धोनी के पास यह अनुभव है।”

बता दें कि कप्तान विराट कोहली खुद भी धोनी को अभी टीम में रखना चाहते हैं। कोहली ने सीओए के अध्यक्ष विनोद रॉय से कहा है कि उन्हें मौजूदा टीम में धोनी की जरूरत है, खासकर साल 2019 के वर्ल्ड कप तक। कोहली का मानना है कि धोनी की विकेटकीपिंग क्षमता और क्रिकेट की समझ को देखते हुए वह उन्हें टीम में चाहते हैं। यहां तक कि कोहली की नेतृत्व क्षमता के विकास के लिए भी धोनी का टीम में होना जरूरी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App