ताज़ा खबर
 

सचिन तेंदुलकर ने की निचले क्रम के बल्लेबाजों की तारीफ, कहा- 7वें, 8वें, 9वें नंबर के बल्लेबाजों ने बड़ा योगदान दिया

दिग्गज बल्लेबाज ने कहा, ‘‘जब किसी टीम का मजबूत पक्ष यह होता है कि उसके गेंदबाज आपके लिए महत्वपूर्ण रन जुटा सकते हैं।

Author Published on: March 31, 2017 1:06 PM
सचिन तेंदुलकर ने कहा कि जब विकेटकीपर आपके लिए शतक जड़ सकता है तो आप मजबूत टीम बन जाते हो। (photo source – Indian express)

सचिन तेंदुलकर ने अहम लम्हों में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए भारत के निचले क्रम के बल्लेबाजों की तारीफ की जिनका मानना है कि टीम के सफल घरेलू सत्र में इसने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। भारत ने न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के खिलाफ श्रृंखला के अलावा बांग्लादेश के खिलाफ एकमात्र टेस्ट को मिलाकर कुल 13 टेस्ट खेले जिसमें से 10 में जीत दर्ज की।

तेंदुलकर ने कहा, ‘‘हमारी टीम के लिए सत्र बेजोड़ रहा। चुनौतीपूर्ण लम्हें आए जब मुझे लगता है कि हमारे सातवें, आठवें, नौवें नंबर के बल्लेबाजों ने बड़ा योगदान दिया। ये महत्वपूर्ण लम्हें थे जहां से टेस्ट मैच किसी भी तरफ जा सकता था लेकिन आपने मैच (विरोधी टीम से) दूर कर दिया।’’

इस दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने कहा, ‘‘जब किसी टीम का मजबूत पक्ष यह होता है कि उसके गेंदबाज आपके लिए महत्वपूर्ण रन जुटा सकते हैं, विकेटकीपर आपके लिए शतक जड़ सकता है तो आप मजबूत टीम बन जाते हो।’’ तेंदुलकर ने कल देर रात यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘इसलिए बेशक पहले छह बल्लेबाज और सात, आठ, नौ नंबर के खिलाड़ी भी योगदान देते हैं।’’

सचिन तेंदुलकर ने कहा , ‘‘इन खिलाड़ियों ने महत्वपूर्ण लम्हों में काफी अच्छा प्रदर्शन किया, जो टेस्ट मैच और कभी कभी श्रृंखला का नतीजा तय कर सकते हैं। मुझे लगता है कि यह अंतर था और आप इसे देख सकते हैं।’’ तेंदुलकर ने कहा, ‘‘जब दोनों टीमों के बीच कड़ी टक्कर चल रही होती है और एक टीम अचानक आगे बढ़ जाती है तो आप अंतर देख सकते हैं और ऐसा ही हुआ।’’

भारत ने घरेलू सत्र की शुरूआत न्यूजीलैंड का 3-0 से क्लीनस्वीप करके की और फिर पांच मैचों की श्रृंखला में इंग्लैंड को 4-0 से हराया। टीम ने इसके बाद बांग्लादेश के खिलाफ एकमात्र टेस्ट जीता और फिर पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए आस्ट्रेलिया को चार टेस्ट की श्रृंखला में 2-1 से हराया।

दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर टीम इंडिया के बारे में अपनी राय रखते रहते हैं वो कई मौकों पर खिलाडियों को सलाह भी देते हैं। कुछ समय पहले पत्रकारों को संबोधित करते हुए सचिन ने कहा कि, एक टीम का हिस्सा होकर कुछ नया सीखना वाकई में शानदार अनुभव होता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 2011 में आज के ही दिन पाकिस्तान को हराकर वर्ल्ड कप फाइनल में पहुंच गई थी टीम इंडिया
जस्‍ट नाउ
X