पहली झलक में ही युवराज को दिख गया था रोहित का टैलेंट, कहा- उसको देख आती थी इंजमाम की याद

युवराज सिंह 2007 टी20 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के सदस्य थे। 2011 वनडे वर्ल्ड कप में भारतीय टीम की खिताबी जीत में उनका योगदान सबसे ज्यादा था। उन्हें मैन ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया था।

युवराज सिंह और रोहित शर्मा 2007 में टी20 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के सदस्य थे। (सोर्स- सोशल मीडिया)

भारत के पूर्व बल्लेबाज युवराज सिंह इन दिनों लगातार चर्चा में हैं। कुछ दिन पहले उन्होंने कहा था कि सौरव गांगुली की तरह महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली ने उनकी मदद नहीं की। वहीं, कोरोनावायरस को लेकर पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी की मदद करने की अपील के कारण वे फैंस के निशाने पर आ गए थे। अब युवी ने एक बयान दिया है जिसके मुताबिक रोहित शर्मा में उनको पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक की झलक दिखती है।

युवराज ने उस समय को याद किया जब उन्होंने पहली बार रोहित को देखा था। उनके मुताबिक, शुरू में रोहित उन्हें इंजमाम की याद दिलाते थे, क्योंकि उनके पास शॉट खेलने के लिए काफी समय होता था। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान भी अपने लेट शॉट के कारण जाने जाते थे। वे अंत में शॉट खेलते थे, इससे गेंदबाजों को समस्या होती थी। रोहित ने पहला वनडे 2007 में आयरलैंड के खिलाफ खेला था। वहीं, उन्होंने टी20 में इंग्लैंड के खिलाफ 2007 में डेब्यू किया था। रोहित को पहला टेस्ट खेलने का मौका वेस्टइंडीज के खिलाफ 2013 में मिला था।

युवी ने यूट्यूब पर एक चैट शो में कहा, ‘‘जब वह भारतीय टीम में आए, तो वह किसी ऐसे व्यक्ति की तरह दिखे, जिसके पास बहुत समय था। उन्होंने मुझे इंजमाम की याद दिलाई। जब उन्होंने बल्लेबाजी की थी तो उनके पास इंजमाम की तरह गेंद खेलने के लिए काफी समय था।’’ दोनों खिलाड़ी एक-दूसरे को खूब पसंद करते हैं। जब युवराज सिंह ने क्रिकेट से दूर होने का फैसला किया था, तब रोहित शर्मा ने कहा था कि 17 साल देश की सेवा के बाद उनकी विदाई अच्छी होनी चाहिए थी। इस पर युवी ने कहा था, ‘‘आप जानते हैं मैं कैसा महसूस करता हूं। लव यू।’’

युवराज ने भारत के लिए 40 टेस्ट, 304 वनडे और 58 टी20 खेले हैं। उन्होंने टेस्ट में 1900 रन और वनडे में 8701 रन बनाए हैं। वनडे में वे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले 22वें बल्लेबाज हैं। भारतीयों में उनका स्थान 7वां है। युवराज 2007 टी20 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के सदस्य थे। 2011 वनडे वर्ल्ड कप में भारतीय टीम की खिताबी जीत में उनका योगदान सबसे ज्यादा था। उन्हें मैन ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया था।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट