ताज़ा खबर
 

बैटिंग करते हुए खुद से बातें करते हैं रोहित शर्मा, दिमाग की जगह दिल की हैं सुनते; शो में खोला था सफलता का राज

रोहित शर्मा ने वनडे इंटरनेशनल में सचिन तेंदुलकर (49), विराट कोहली (43) और रिकी पोंटिंग (30) के बाद सबसे अधिक शतक (29) लगाए हैं। वह आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप के किसी एक सीजन में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज हैं।

Rohit Sharma ICC World Cupरोहित शर्मा ने पिछले साल आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप के दौरान पाकिस्तान, बांग्लादेश, इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका के खिलाफ शतक लगाए थे। (सोर्स – ESPNcricinfo)

रोहित शर्मा यानी हिटमैन शर्मा मैदान पर बल्लेबाजी करते हुए खुद से बाते करते हैं। यह बात रोहित ने एक न्यूज चैनल के विशेष कार्यक्रम (शो) में बताई थी। इस दौरान उन्होंने वनडे में 3-3 दोहरे शतक लगाने और करियर की सफलता का राज भी बताया था। शो में रोहित ने यह भी बताया कि वह दिमाग की जगह दिल की सुनते हैं।

रोहित के मुताबिक, वह ज्यादा दिमाग लगाने की कोशिश नहीं करते, जो उनके दिल में आता है वह वही करते हैं। रोहित से वनडे में ओपनिंग करने को लेकर सवाल किया था। मालूम हो, रोहित करियर की शुरुआत में वनडे या टेस्ट में ओपनिंग नहीं करते थे। वह मिडिल ऑर्डर बैट्समैन थे। महेंद्र सिंह धोनी ने उनसे वनडे में ओपनिंग करने के लिए पूछा था। तब रोहित ने हामी भर दी थी।

रोहित ने बताया, ‘मेरे दिल में आया कि ओपनिंग करनी चाहिए। मेरे सामने मौका था, तो मैं मुकरने वालों में से नहीं हूं। मुझे वह मौका चाहिए था। सबसे बेस्ट मौका होता है, जब आप ऊपर बैटिंग करते हो। आपको पूरे 50 ओवर खेलने को मौका मिलता है। मेरा मानना है कि उस समय ऊपर खेलने से मुझे काफी हेल्प मिली। अभी तक जैसे चल रहा है खुश हूं।’

एंकर ने कहा, ‘पारी की शुरुआत करने के बाद आपने इतिहास रच दिया। आपने 3-3 दोहरे शतक लगा दिए।’ इस पर रोहित ने कहा, ‘देखिए जब भी आप बैटिंग के लिए जाते हो, तो आप यह नहीं सोचते कि आप डबल सेंचुरी बनाऊंगा, मैं इतना रन बनाऊंगा। आप जाते हैं अच्छा प्रदर्शन करने के लिए। जब एक प्लेटफॉर्म मिल जाता है अच्छा, आप 50- 60 रन बना लेते हैं, तो आगे बैटिंग कैसे करनी है, टीम का स्कोर आगे कैसे लेकर जाना है, वह आपके ऊपर ज्यादा निर्भर करता है।’

रोहित ने बताया, ‘मेरा मानना है कि आप उस समय क्या सोच रहे हैं और उस समय आपको किस तरीके की बैटिंग करना है, किस तरीके से आपको स्कोर आगे लेकर जाना है, वह आपके ऊपर ज्यादा निर्भर करता है। मैं जब भी बैटिंग करता हूं, तो अपने आप से मैं काफी बात करता हूं। मैं खुद से बात करता हूं कि अगले ओवर में यह बॉलर शायद यह गेंद फेंक सकता है तो इसको क्या करना है, क्या नहीं करना है?’

रोहित ने बताया, ‘लेकिन जब मैं पारी की शुरुआत करता हूं तो मैं कोशिश करता हूं कि अपना दिमाग बिल्कुल साफ रखूं। कुछ सोचूं नहीं, एक बार एक प्लेटफॉर्म मिलने के बाद मैं अपने आप से बात करता हूं और क्या सॉल्यूशन होना चाहिए, क्या करना चाहिए, इस तरह की बात करता हूं। ये चीजें मेरे लिए काफी मददगार साबित होती हैं।’

बता दें कि वनडे इंटरनेशनल में तीन दोहरे शतक लगाने वाले दुनिया के इकलौते बल्लेबाज हैं। उनके नाम वनडे क्रिकेट में सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर का भी रिकॉर्ड है। रोहित ने यह रिकॉर्ड श्रीलंका के खिलाफ वनडे में बनाया था, तब उन्होंने 264 रनों की पारी खेली थी। वह इकलौते बल्लेबाज हैं, जिन्होंने वनडे इंटरनेशनल में 8 बार 150 से ज्यादा रन का स्कोर किया है। उनके बाद डेविड वार्नर (6) और सचिन तेंदुलकर (5) का नंबर आता है।

रोहित शर्मा ने वनडे इंटरनेशनल में सचिन तेंदुलकर (49), विराट कोहली (43) और रिकी पोंटिंग (30) के बाद सबसे अधिक शतक (29) लगाए हैं। वह आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप के किसी एक सीजन में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज हैं। उन्होंने 2019 वनडे वर्ल्ड कप में 5 शतक लगाए थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Eng vs Pak 1st Test: शान मसूद ने लगाई शतकों की हैट्रिक, इंग्लैंड में सेंचुरी लगाने वाले 5वें पाकिस्तानी ओपनर बने
2 एक ही टेस्ट में शतक लगा और शून्य पर आउट हो चुके हैं ये टॉप ऑर्डर बैट्समैन, सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली भी हैं शामिल
3 टेस्ट हारने के बाद कप्तान विराट कोहली ने साथियों संग की पार्टी, बवाल मचने पर बताया था यह कारण
IPL 2020 LIVE
X