VIDEO: मैच में उतरने से पहले शिखर धवन करते हैं टोटका, रोहित शर्मा ने किया खुलासा

टी20 सीरीज में भारत की ओर से ओपनिंग की जिम्मेदारी रोहित शर्मा और शिखर धवन के कंधों पर होगी। सीमित ओवरों के फॉर्मेट में रोहित और शिखर की जोड़ी दुनिया की सफलतम पार्टनरशिप मानी जाती है। वे मैदान के बाहर भी अच्छे दोस्त हैं। दोनों ओपनिंग करते हुए कई रिकॉर्ड अपने नाम कर चुके हैं।

ROHIT SHIKHAR AND GAURAV
गौरव कपूर के टॉक शो में शिखर धवन और रोहित शर्मा। (सोर्स- स्क्रीन शॉट)

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच कल यानी 15 सितंबर से टी20 सीरीज शुरू होने वाली है। सीरीज का पहला मुकाबला धर्मशाला के हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम पर खेला जाना है। दोनों टीमें अपना जौहर दिखाने के लिए धर्मशाला पहुंच चुकी हैं। टीम इंडिया हाल ही में वेस्टइंडीज में 3-0 से टी20 सीरीज कर आई है। उसके हौसले बुलंद हैं। दक्षिण अफ्रीका करीब 6 महीने बाद कोई टी20 मैच खेलेगी। आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप में भी उसका कोई खास प्रदर्शन नहीं रहा था। ऐसे में जाहिर है भारत के मुकाबले उसके खिलाड़ियों का मनोबल भी कम होगा।

टी20 सीरीज में भारत की ओर से ओपनिंग की जिम्मेदारी रोहित शर्मा और शिखर धवन के कंधों पर होगी। सीमित ओवरों के फॉर्मेट में रोहित और शिखर की जोड़ी दुनिया की सफलतम पार्टनरशिप मानी जाती है। वे मैदान के बाहर भी अच्छे दोस्त हैं। दोनों ओपनिंग करते हुए कई रिकॉर्ड अपने नाम कर चुके हैं। अक्सर सुनने में आता है कि क्रिकेटर या यूं कहें खिलाड़ी खुद को सफल करने के लिए कोई न कोई टोटका भी इस्तेमाल करते हैं। बहुत कम लोगों को यह जानकारी होगी कि कुछ ऐसा ही यह जोड़ी भी करती है। एक टॉक शो के दौरान रोहित शर्मा ने खुद इस बात को कबूला।

VIDEO: शिखर धवन के बेटे जोरावर पिता नहीं रोहित शर्मा की बल्लेबाजी के हैं दीवाने, लेकिन वर्ल्ड कप खेलने की इच्छा नहीं

कुछ दिन पहले रोहित शर्मा और शिखर धवन गौरव कपूर के शो ब्रेकफास्ट विद चैंपियन में पहुंचे थे। यहां उन्होंने कुछ रोचक किस्से साझा किए। बातों-बातों में रोहित ने बताया कि ओपनिंग करने के लिए जाते समय कभी स्ट्राइक नहीं लेते हैं। ऐसे में टीम इंडिया की शुरुआत रोहित के बल्ले से ही होती है। रोहित ने बताया, ‘उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में पहली बार ओपनिंग चैंपियंस ट्रॉफी में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ की थी।’

रोहित ने पुरानी बातें याद करते हुए बताया, ‘मैच से एक दिन पहले महेंद्र सिंह धोनी मेरे पास आए और मुझसे कहा कि कल तुम्हें ओपन करना है। मैं हां बोल दिया। हालांकि, बाद में जब मैं अपने रूम में गया तो सोचा यह क्या कह दिया मैंने। फिर मैंने सोचा चलो ठीक है, जो होगा देखा जाएगा। दूसरे दिन जब हम (मैं और शिखर) बैटिंग के लिए मैदान पर जाने लगा तो मैंने शिखर से पूछा कि स्ट्राइक तू लेगा। तो शिखर ने मना कर दिया। उसने कहा कि मैं कभी पहली गेंद नहीं खेलता। मैंने कहा कि भाई ले ले, मैं पहली बार ओपनिंग करने जा रहा हूं, लेकिन शिखर नहीं माना। उसने मैं ऐसा कभी नहीं करूंगा। हालांकि, बाद में हम दोनों ने शतकीय साझेदारी की और हमारी टीम ने 300 से ज्यादा का स्कोर किया और हम वह मैच जीत गए।’

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट