ताज़ा खबर
 

VIDEO: रोहित शर्मा ने चहल टीवी पर खोला गगनचुम्बी छक्कों का राज, कहा- ताकत नहीं सिर्फ टेक्निक इस्तेमाल करता हूं

IND vs AUS ODI SERIES: मैच के बाद चहल टीवी पर रोहित ने कहा, 'ऑस्ट्रेलिया चाहे घर हो या बाहर दोनों जगह अच्छा खेलती है, तो हमें भी अच्छा प्रदर्शन करने की जरूरत थी। पहले मैच में हम हार गए, लेकिन हमने अच्छा कम बैक किया।'

रोहित शर्मा, युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव (सोर्स- बीसीसीआई ट्विटर स्क्रीनशॉट)

IND vs AUS ODI SERIES: भारत ने रविवार रात ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 3 वनडे मैच की सीरीज 2-1 से अपने नाम की। सीरीज का आखिरी मुकाबला बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम पर खेला गया। टीम इंडिया ने इस मैच में 7 विकेट से जीत हासिल की। भारतीय क्रिकेट टीम की इस जीत में उसके ओपनर रोहित शर्मा का भी बड़ा योगदान रहा। उन्होंने 8 चौके और 6 छक्कों की मदद से 128 गेंदों पर 119 रन की पारी खेली। छक्के लगाने के मामले में रोहित ने क्रिस गेल का रिकॉर्ड तोड़ा।

रोहित ने 23 जून 2007 को इंडिया कैप पहनी थी यानी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था। उसके बाद से वे अब तक 244 छक्के लगा चुके हैं। 23 जून 2007 के बाद से क्रिस गेल ने अब तक 242 छक्के ही लगाए हैं। ओवरऑल बात करें तो रोहित शर्मा ने अब तक कुल 416 छक्के लगाए हैं, जबकि क्रिस गेल अब तक 413 छक्के ही लगा पाए हैं।

मैच के बाद रोहित ने चहल (युजवेंद्र चहल) टीवी पर अपने गगनचुंबी छक्कों का राज खोला। चहल ने रोहित शर्मा से पूछा था कि आपने बेंगलुरु के मैदान पर अब तक आप 4 मैचों में 450 रन बना चुके हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आपने इस मैदान पर वनडे में दोहरा शतक भी लगाया है। क्या कुछ खास लगाव है इस टीम के साथ आपका? इस पर रोहित ने कहा, ‘नहीं मैं उनके सामने खेलना इंज्वाय करता हूं। ऑस्ट्रेलिया अच्छी टीम है। जब अच्छी टीम के सामने आप खेलते हो तो आपका बेस्ट अपने आप सामने आ ही जाता है।’

रोहित ने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया चाहे घर हो या बाहर दोनों जगह अच्छा खेलती है, तो हमें भी अच्छा प्रदर्शन करने की जरूरत थी। पहले मैच में हम हार गए, लेकिन हमने अच्छा कम बैक किया।’ इसके बाद चहल ने पूछा, ‘ आपने आप 5-6 छक्के मारे। आप दूर की ओर ऊंचाई में भी मार रहे हो। इसके लिए आप इतनी पावर कहां से लाते हो?’ इस पर रोहित ने कहा, ‘इसमें पावर की कोई बात नहीं है। टेक्निक जरूरी है। मैं हमेशा बोलता हूं कि छक्का मारना पावर का खेल नहीं है। यह सिर्फ टाइमिंग का खेल है। अच्छी टाइमिंग से शॉट लगाओगे तो गेंद अपने आप सीमा रेखा के पार चली जाती है।’

रोहित ने बताया, ‘मैं कभी नहीं सोचता कि मुझे ऊपर-ऊपर मारना है। ग्राउंड के बाहर मारना है। मेरा टारगेट यह रहता है कि मुझे सिर्फ रोप के पीछे मारना है। छह रन ही मिलते हैं, कोई आठ रन थोड़े ही मिलते हैं।’ बता दें कि रोहित ने बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अब तक 3 वनडे खेले हैं। इसमें 131 के औसत से 393 रन बना चुके हैं। इसमें 2 शतक हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘जसप्रीत बुमराह की तरह कर सकता हूं गेंदबाजी’, मैच देखने आए फैन ने किया दावा तो ICC ने मांगा VIDEO प्रूफ
2 VIDEO: ‘आप पुरुष नहीं महापुरुष हैं’ केएल राहुल की बैटिंग देख, किंग्स इलेवन पंजाब को याद आई अंदाज अपना-अपना
3 VIDEO: विराट कोहली ने हवा में छलांग लगाकर लपका शानदार कैच, हैरान रह गए मार्नस लाबुशाने
ये पढ़ा क्या?
X