रोहित शर्मा के पिता ट्रांसपोर्ट कंपनी में करते थे काम, 50 रुपए ने बदली थी हिटमैन की जिंदगी

रोहित शर्मा ने अपना पहला वनडे मैच 2007 में आयरलैंड के खिलाफ खेला था। उन्होंने अपना पहला टी20 भी उसी साल इंग्लैंड के खिलाफ किंग्समीड में खेला था। रोहित को टेस्ट में डेब्यू करने का मौका 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ ईडन गार्डन्स में मिला था।

Rohit Sharma, Rohit Sharma father, ritika sajdeh
रोहित शर्मा ने 2006 में फर्स्ट क्लास करियर की शुरुआत की थी। (फाइल)

भारत के ओपनर रोहित शर्मा सीमित ओवरों में दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाजों में एक हैं। उन्होंने 2007 में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था। 2013 में रोहित को महेंद्र सिंह धोनी ने ओपनिंग करने के लिए भेजा। वहां से उनका करियर बदला और वे मौजूदा समय के सबसे बेहतरीन ओपनर बन गए। रोहित का क्रिकेटर बनने का सफर इतना आसान नहीं रहा है। उनके पिता के पास पैसे नहीं थे। रोहित को दादा-दादी के यहां रहना पड़ा था।

रोहित को क्रिकेट जगत में ‘बोरिवली का डॉन’ भी कहा जाता था। वे वहां से चर्चगेट अभ्यास के लिए जाते हैं। उनके बारे में वरिष्ठ पत्रकार रेहान फजल ने बीबीसी हिंदी के यूट्यूब चैनल पर कहा था, ‘‘रोहित बहुत साधारण परिवार से आए हैं। गुरुनाथ शर्मा इनके पिता का नाम है। वे एक ट्रांसपोर्ट कंपनी में काम करते थे। उनकी मां विशाखापट्टनम की रहने वाली थी। रोहित के परिवार के पास बहुत कम पैसे हुआ करते थे। उनके चाचा ने 50 रुपए का सहयोग कर क्रिकेट एकेडमी में नाम लिखवाया था। शुरू में ये ऑफ स्पिन गेंदबाजी करते थे। रोहित के कोच दिनेश लाड ने उन्हें प्रेरित किया वे अपना स्कूल बदले। उनका दाखिला स्वामी विवेकानंद इंटरनेशनल स्कूल में हुआ। वहां की फीस ज्यादा थी। उन्हें स्कॉलरशिप मिली थी।’’

रेहान फजल ने आगे बताया, ‘‘मुंबई में हैरिस शील्ड क्रिकेट टूर्नामेंट स्कूल स्तर पर होता है। उसमें रोहित ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। इसके बाद मुंबई अंडर-17 टीम में इनका चयन हुआ। 2006 देवधर ट्रॉफी के फाइनल में रोहित ने नॉर्थ जोन के खिलाफ शतक लगाया। उदयपुर में नॉर्थ जोन ने 279 रन बनाए। वेस्ट जोन खेल रहे रोहित ने 123 गेंद पर 142 नाबाद रहे। वहां से उनका नाम अचानक चमका था। रोहित ने 2006 में फर्स्ट क्लास करियर और 2007 में इंटरनेशनल करियर की शुरुआत की।’’

रोहित शर्मा ने अपना पहला वनडे मैच 2007 में आयरलैंड के खिलाफ खेला था। उन्होंने अपना पहला टी20 भी उसी साल इंग्लैंड के खिलाफ किंग्समीड में खेला था। रोहित को टेस्ट में डेब्यू करने का मौका 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ ईडन गार्डन्स में मिला था। वह सचिन तेंदुलकर के करियर की आखिरी सीरीज का पहला टेस्ट मैच था। रोहित ने अब तक 38 टेस्ट, 227 वनडे और 111 टी20 मैच खेले हैं।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट