ताज़ा खबर
 

CoA संग कोहली-शास्‍त्री की मीटिंग में रोहित-रहाणे भी बैठेंगे, तय होगा टीम इंडिया का अप्रेजल

अपनी कप्‍तानी में भारत को एशिया कप 2018 जिताने वाले रोहित ने कहा था कि वह खिलाड़‍ियों को एक-दो मैच के चलते हटाना पसंद नहीं करते। रोहित के मुताबिक, वह चाहते हैं कि टीम में 'सब सुरक्षित और स्‍थायी महसूस करें।'

पत्‍नी रितिका संग सीमित ओवरों में भारतीय क्रिकेट टीम के उप-कप्‍तान रोहित शर्मा। (Photo : Instagram/ImRo45)

भारतीय क्रिकेट टीम के परफॉर्मेंस अप्रेजल हेतु हैदराबाद में बुधवार (10 अक्‍टूबर) को होने वाली सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित प्रशासकों की समिति (CoA) संग बैठक में रोहित शर्मा भी हिस्‍सा लेंगे। शुरू में केवल कप्‍तान विराट कोहली, कोच रवि शास्‍त्री और चयनकर्ता समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद को बुलाया गया था। बाद में, टेस्‍ट व सीमित ओवरों के उप-कप्‍तानों यानी अजिंक्‍य रहाणे और शर्मा को भी बुलाने का फैसला किया गया। अपनी कप्‍तानी में भारत को एशिया कप 2018 जिताने वाले रोहित ने कहा था कि वह खिलाड़‍ियों को एक-दो मैच के चलते हटाना पसंद नहीं करते। रोहित के मुताबिक, वह चाहते हैं कि ‘सब सुरक्षित और स्‍थायी महसूस करें।’

द इंडियन एक्‍सप्रेस को मिली जानकारी के अनुसार, बैठक का प्रमुख एजेंडा ‘टीम में लगातार हो रहे बदलाव’ होगा। इस पर भी चर्चा हो सकती है कि चयन समिति को अंतिम एकादश के निर्णय में भागीदार होना चाहिए या नहीं। पता चला है कि CoA चाहता है कि चयनकर्ता अंतिम 11 चुनने में शामिल हों ताकि वे अंतिम एकादश को लेकर अपनी राय दे सकें।

बोर्ड को लगता है कि ऐसे इनपुट के बिना, चयनकर्ताओं के टीम के साथ सफर करने का कोई तुक नहीं है। एशिया कप के दौरान जब रोहित कप्‍तान थे तो उन्‍होंने टीम को लेकर अपना विजन सामने रखा था। उन्‍होंने कहा था, ”टीम से बाहर होकर फिर वापस लाया जाना किसी को अच्‍छा नहीं लगता। हम सबको सुरक्षित और स्‍थायित्‍व महसूस कराना चाहते हैं, ताकि वह (क्रिकेटर्स) खुलकर खेल सकें। एक कप्‍तान या एक खिलाड़ी के तौर पर, आप चाहते हैं कि आपकी टीम स्‍थायी हो और जो टीम में जगह पाना चाह रहे हैं, वह भी सेटल होना चाहते हैं।”

रोहित ने यह बयान वनडे मैचों को लेकर दिया था, हालांकि अब देखना दिलचस्‍प होगा कि टेस्‍ट टीम के बारे में उनके क्‍या विचार हैं। विदेशों में भारत की खराब परफॉर्मेंस के पीछे कई विशेषज्ञों ने लगातार टीम बदलने को एक बड़ी वजह बताया है। इंग्‍लैंड दौरे पर ऐसी खबरें आई थीं कि कई वरिष्‍ठ खिलाड़ी बार-बार खिलाड़‍ियों को टीम से अंदर-बाहर करने से नाखुश हैं।

CoA खिलाड़‍ियों से पूछेगा कि विदेश में परफॉर्मेंस बेहतर करने के लिए क्‍या किया जा सकता है, खासकर टेस्‍ट क्रिकेट में। सीमित ओवरों के क्रिकेट में भारत ने अच्‍छा प्रदर्शन किया है, पर विदेशी पिचों पर टेस्‍ट में उसका प्रदर्शन औसत से भी नीचे रहा है। इस साल पहले दक्षिण अफ्रीका में 2-1 से सीरीज हारने के बाद भारतीय टीम इंग्‍लैंड में 4-1 से टेस्‍ट सीरीज हार चुकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App