ताज़ा खबर
 

रेसलर से फाइटर बनीं रितु फोगाट का धमाल, चौथी बार MMA चैम्पियनशिप खिताब जीता

फोगाट की तुलना में टॉरेस के खाते में ज्‍यादा फाइट दर्ज थी। उसने 8 फाइट कर रखी थीं जबकि फोगाट ने तीन फाइट की थीं। रितु ने अपने रेसलिंग करियर में तीन भारतीय नेशनल चैंपियनशिप और 2016 में कॉमनवेल्‍थ रेसलिंग चैंपियनशिप्‍स में गोल्‍ड मेडल जीता था।

Ritu Phogat, pro MMA Championshipरितु ने इस जीत के साथ ही प्रो एमएमए में अपने 4-0 के रिकॉर्ड को कायम रखा है। (सोर्स – सोशल मीडिया)

भारतीय पहलवान और मार्शल आर्ट फाइटर रितु फोगाट ने लगातार चौथा एमएमए चैम्पियनशिप खिताब जीत लिया। भारत की इस पहलवान ने फिलीपीन की जोमारी टोरेस को वन चैम्पियनशिप के पहले दौर में तकनीकी नॉकआउट में हराया। उन्होंने मैच जीतने के बाद कहा ,‘‘मैं लगातार अच्छे प्रदर्शन की कोशिश कर रही हूं। यह आसान मैच नहीं था लेकिन भविष्य में चुनौतियां और भी कठिन होंगी। अब मेरा ध्यान वन महिला एटमवेट ग्रां प्री जीतने पर है और मैं मेहनत कर रही हूं।’’

द इंडियन टाइग्रेस के नाम से फेमस रितु फोगट एक बार फिर विजयी रही। फोगाट की तुलना में टॉरेस के खाते में ज्‍यादा फाइट दर्ज थी। उसने 8 फाइट कर रखी थीं जबकि फोगाट ने तीन फाइट की थीं। रितु ने अपने रेसलिंग करियर में तीन भारतीय नेशनल चैंपियनशिप और 2016 में कॉमनवेल्‍थ रेसलिंग चैंपियनशिप्‍स में गोल्‍ड मेडल जीता था। रितु ने इस जीत के साथ ही प्रो एमएमए में अपने 4-0 के रिकॉर्ड को कायम रखा है।

रितु ने मैच के बाद कहा, ‘‘मैं लगातार सर्कल में उसे धक्का दे रही थी। टॉरेस के साथ मैच उसी का गवाह है। मैं बहुत भाग्यशाली हूं कि मुझे उससे ONE: Big Bang में लड़ने का मौका मिला। हालांकि, यह एक आसान मैच नहीं था, लेकिन मुझे पता है कि मेरे पास भविष्य में मुकाबला करने के लिए बड़ी चुनौतियां हैं। मेरा अगला लक्ष्य ONE Women’s Atomweight Grand Prix टूर्नामेंट में शीर्ष स्थान हासिल करना है।’’

रितु ने मैच के बाद ट्वीट कर कहा, ‘‘यह 4-0 है। आपके प्यार, समर्थन और दुआओं के लिए धन्यवाद। अब तक मुझ पर विश्वास करने और अपनी पूरी यात्रा में मेरा समर्थन करने के लिए मैं अपने कोच, अपनी टीम, अपनी टीम, अपने देश का इससे ज्यादा धन्यवाद नहीं कर सकती। यह टीम का प्रयास है और मैं अपनी जीत का आनंद ले रही हूं। मैं इस गति को 2021 तक ले जाने का वादा करती हूं।’’

Next Stories
1 इंग्लैंड में काउंटी खेलने के दौरान चेतेश्वर पुजारा हुए थे नस्लवाद का शिकार! एशियाई होने के कारण कहते थे ‘स्टीव’
2 ‘सब्जी की गाड़ी पर बैठकर जाता था कॉलेज, क्रिकेट खेलने पर लैब से कर दिया गया था बाहर’, अश्विन ने किया खुलासा
3 पाकिस्तान से मैच में राहुल द्रविड़ की बैटिंग पर कमेंटेटर ने मारा था ताना, ‘द वाल’ ने दोनों पारियों में ठोक दिए थे शतक
यह पढ़ा क्या?
X