ताज़ा खबर
 

चांदी की चमक के साथ देश लौटीं पीवी सिंधू, संग सेल्‍फी खिंचाने के लिए नेताओं में लगी होड़

सिंधू की मां का कहना है कि जब आधिकारिक समारोह खत्‍म हो जाएगा, तब वह सिंधू को बिरयानी और मैसूर पाक खिलाना चाहती हैं।

Author नई दिल्‍ली | Updated: August 22, 2016 10:46 AM
खुली बस में प्रशंसकों का अभिवादन स्‍वीकार करती पीवी सिंधू। (Source: Twitter)

रियो ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाली बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू सोमवार को देश लौटीं। हैदराबाद एयरपोर्ट पर सिंधू और उनके कोच पुलेला गोपीचंद के स्‍वागत के लिए फैंस और राजनेताओं की भारी भीड़ जमा थी। तेलंगाना के डिप्‍टी सीएम मोहम्‍मद महमूद अली खुद सिंधू की अगवानी के लिए एयरपोर्ट पहुंचे। उनके अलावा तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के कई मंत्री भी एयरपोर्ट पर मौजूद रहे। बाद में सिंधू अपना मेडल दिखाते हुए बस में सवार हुईं। एयरपोर्ट से शुरू हुआ उनका रोड शो गाचीबोली स्‍टेडियम तक जाएगा। जहां तेलंगाना सरकार ने देश का नाम रोशन करने वाली शटलर के सम्‍मान में भव्‍य कार्यक्रम का आयोजन किया है। तेलंगाना सरकार ने सिंधू के लिए 5 करोड़ रुपए के इनाम की भी घोषणा की है। इसके अलावा सरकार की तरफ से सिंधू को पुलेला गोपीचंद एकेडमी के नजदीक घर और सरकारी नौकरी दी जाएगी। राज्‍य सरकार ने सिंधू के कोच पुलेला गोपीचंद को भी एक करोड़ रुपए बतौर इनाम देने की घोषणा की है।

स्‍टेडियम के रास्‍ते में हजारों बच्‍चों ने लाइन लगाकर सिंधू को चीयर करने की तैयारी कर रखी है। हैदराबाद की सड़कों पर पीवी सिंधू के नाम के नारे गूंज रहे हैं। टॉप राजनेताओं ने सिंधू को फूल और शॉल देकर स्‍वागत किया। सिंधू के साथ सेल्‍फी खिंचाने के लिए राजनेताओं में होड़ मची रही। सिंधू ओलंपिक खोलों में रजत पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला हैं। सिंधू की मां का कहना है कि जब आधिकारिक समारोह खत्‍म हो जाएगा, तब वह सिंधू को बिरयानी और मैसूर पाक खिलाना चाहती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Live closing ceremony, Rio Olympics 2016: मारियो बनकर निकले शिंजो आबे, 2020 में टोक्यो का दिया निमंत्रण
2 Rio Olympics 2016: जजों के फैसले के खिलाफ मंगोलिया पहलवान के कोच ने उतारे कपड़े
3 Rio Olympics closing ceremony 2016, कहां व कब देख सकेंगे भारतीय समय पर ओलंपिक क्लोज़िंग सेरेमनी, जानिए