ताज़ा खबर
 

Rio Olympics 2016: बैडमिंटन संघ ने सिंधू को दिए 50 लाख रुपए, राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री समेत कई बड़े खिलाड़ियों ने की तारीफ

सिंधु को प्रशिक्षण देने वाले द्रोणाचार्य पुरस्कार हासिल कर चुके कोच पुलेला गोपीचंद के लिए भी 10 लाख रुपये की नकद इनाम की घोषणा की।
Author नई दिल्ली | August 20, 2016 03:57 am
पी वी सिंधू ने रियो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीत लिया है।

भारतीय बैडमिंटन संघ (बाई) के अध्यक्ष डा अखिलेश दास गुप्ता ने रियो ओलंपिक खेलों में रजत पदक जीतकर इतिहास रचने वाली पीवी सिंधु के लिए 50 लाख रुपए की इनामी राशि की घोषणा की है। बाई ने सिंधु को प्रशिक्षण देने वाले द्रोणाचार्य पुरस्कार हासिल कर चुके कोच पुलेला गोपीचंद के लिए भी 10 लाख रुपये की नकद इनाम की घोषणा की। विश्व की नंबर दस खिलाड़ी सिंधु को स्पेन की कैरोलिना मारिन के हाथों 21-19, 12-21, 15-21 से हार का सामना करना पड़ा। बैडमिंटन में भारत का यह पहला रजत पदक है। साइना नेहवाल ने 2012 लंदन ओलंपिक खेलों में पहली बार देश को बैडमिंटन में कांस्य के रूप में कोई पदक दिलाया था सिंधु के प्रयासों की सराहना करते हुए दास गुप्ता ने कहा, ‘‘इस ऐतिहासिक उपलब्धि और भारत को सम्मान दिलाने के लिए मैं उन्हें बधाई देता हूं। यह भारतीय बैडमिंटन जगत के लिए मील का पत्थर है और यह वैश्विक मंच पर भारतीय बैडमिंटन की ताकत को दिखलाता है।’’ उन्होंने कहा कि सिंधु की यह उपलब्धि लाखों बच्चों को इस खेल से जुड़ने के लिए प्रेरित करेगी।

दास गुप्ता ने कहा, ‘‘बाई और भारतीय बैडमिंटन जगत की तरफ से मैं एक बार फिर इस शानदार उपलब्धि के लिए उन्हें बधाई देता हूं।’’ उन्होंने साथ ही कहा, ‘‘खेल को एक बार फिर से नयी ऊँचाई तक ले जाने के लिए मैं कोच पी गोपीचंद को भी बधाई देता हूं। पद्म भूषण गोपीचंद ने खुद भारत के लिए खेलते हुए देश को कई सम्मान दिलाये और अब उनके खिलाड़ी नयी उँचाईयों को छू रहे हैं। उनके जैसा कोच या मार्गदर्शक पाकर भारतीय बैडमिंटन जगत बहुत भाग्यशाली है।’’

सिंधु ओलंपिक के फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी बनीं हैं। सिंधू की इस सफलता के बाद राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने भी उन्हें बधाई दी। राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने भी सिंधु को रजत पदक जीतने के लिये बधाई देते हुए संदेश में कहा, ‘‘भारत के लोग तुम्हारे परिवार अ‍ैर तुम्हारे साथ इस शानदार उपलब्धि के लिये खुश हैं। आज तुम्हारा संयम, मानसिक मजबूती और शानदार प्रदर्शन सभी भारतीय खिलाड़ियों को प्रेरित करेगा कि वे किसी भी खेल में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शीर्ष पर पहुंच सके। भविष्य के लिये मेरी शुभकामनायें तुम्हारे साथ हैं।’’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी पीवी सिंधु को रियो ओलंपिक में रजत पदक जीतने पर बधाई देते हुए कहा कि उसकी उपलब्धि ऐतिहासिक है और वर्षों तक याद रहेगी। उन्होंने सिंधु की बैडमिंटन स्पर्धा के फाइनल में खेल की तारीफ की जिसमें वह स्पेन की कैरोलिना मारिन से हार गयी।  प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘रजत पदक के लिये बधाई पीवी सिंधु। बहुत बढ़िया खेली। रियो 2016 में तुम्हारी उपलब्धि ऐतिहासिक है और वर्षों तक याद की जायेगी। ’’

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी सिंधु को बधाई देते हुए कहा कि सिंधु स्टार की तरह खेली और उसने प्रत्येक युवा भारतीय में खुद के जैसा प्रदर्शन करने और उसकी तरह बनने की नयी उम्मीद जगा दी। वह अपने खेल में थकी हुई नहीं दिखी। उन्होंने लिखा कि उसका रजत पदक आज ‘भारत माता’ के ताज में सबसे अमूल्य हीरा है और यह आने वाली पीढ़ियों के लिये उदाहरण पेश करेगा।

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने भी सिंधु को फाइनल मुकाबले में उनके शानदार प्रदर्शन के लिये बधाई दी। उन्होंने बयान में कहा कि सिंधु भारत का और विशेषकर तेलगांना का गौरव हैं। उन्होंने सिंधु के कोच के प्रयासों की भी तारीफ की।

केरल के मुख्यमंत्री पीनाराई विजयन ने भी बधाई देते हुए कहा कि सिंधु ने रियो ओलंपिक में पहला रजत पदक दिलाकर पूरे देश को गौरवान्वित किया।
विजयन ने कहा कि सिंधु, रियो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली पहलवान साक्षी मलिक और जिम्नास्ट दीपा करमाकर देश के लिये संदेश हैं कि अगर महिलाओं को बराबरी का मौका दिया जाये तो वे नयी उँचाईयां छू सकती हैं।

पी वी सिंधू से जुड़ी तमाम खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें 

भारतीय ओलंपिक संघ के पूर्व अध्यक्ष और वर्तमान में अखिल भारतीय खेल परिषद के प्रमुख विजय कुमार मल्होत्रा ने बैडमिंटन खिलाड़ी पी वी सिंधु को रियो ओलंपिक में रजत पदक जीतने पर बधाई देते हुए कहा कि भले ही वह फाइनल में हार गयी लेकिन उन्होंने अपने प्रदर्शन से देश का नाम ऊँचा किया है।
मल्होत्रा ने कहाा, ‘‘सिंधु भले ही स्वर्ण पदक नहीं जीत पायी लेकिन उन्होंने शुरू से बहुत अच्छा खेल दिखाया। सिंधु ने देश का नाम ऊँचा किया है। उन्होंने अपनी तरफ से हर संभव प्रयास किया। सारे देश को उन पर गर्व है। ’’ सिंधु आज खेले गये महिला एकल के फाइनल में स्पेन की कैरोलिना मारिन से 21-19, 12-21, 15-21 से हार गयी लेकिन वह ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनी।

नेताओं के अलावा महान भारतीय खिलाड़ियों ने सिंधू की तारीफ की। भारत के महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर, अभिनव बिंद्रा और विश्वनाथन आनंद ने पीवी सिंधु के रियो ओलंपिक की बैडमिंटन स्पर्धा के फाइनल में दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी कैरोलिना मारिन के खिलाफ किये गये शानदार प्रदर्शन की तारीफ की।  बिंद्रा ने सिंधु को अपने संदेश के जरिये कहा कि वह खुद का पदक चूकने से इतने दुखी नहीं थे जितने कि वह आज थे। भारत के एकमात्र व्यक्तिगत ओलंपिक स्वर्ण पदकधारी निशानेबाज ने ट्वीट किया, ‘‘मुझे लगता है कि मैं पिछले एक हफ्ते पहले के बजाय आज ज्यादा दुखी हूं। पीवी सिंधु बहुत अच्छा खेली, तुम मेरे लिये प्रेरणा हो। ’’

तेंदुलकर ने सभी भारतीय एथलीटों के लिये प्रेरणादायी संदेश लिखे हैं, उन्होंने लिखा, ‘‘भारत की सबसे युवा व्यक्तिगत पदकधारी पीवी सिंधु बढ़िया खेली। तुमने अपने शानदार प्रदर्शन से हम सभी का दिल जीत लिया। ’’

महान शतंरज खिलाड़ी आनंद ने ट्वीट किया, ‘‘पीवी सिंधु बहुत बढ़िया। बहुत छोटा सा अंतर विजेता और फाइनल में पहुंचने वाले को अलग करता है। तुम पर गर्व है। इस रजत पदक का आनंद लो। तुम इसकी हकदार थी। ’’

भारत के एकमात्र टेनिस पदकधारी लिएंडर पेस ने कहा कि इस हैदराबादी लड़की को अपनी उपलब्धि पर गर्व करना चाहिए। उन्होंने लिखा, ‘‘पीवी सिंधु तुम्हें खुद पर गर्व करना चाहिए, पूरे भारत को तुम पर गर्व है। जिस तरह से तुम खेली, तुम सही मायने में योद्धा हो। बधाई। ’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.