scorecardresearch

लॉस एंजिलिस में जफर इकबाल से रियो ओलंपिक में अभिनव बिंद्रा तक: ओलंपिक उद्घाटन समारोह में भारतीय ध्वजवाहकों की पूरी लिस्ट

1920 के ओलंपिक में भारतीय दल की अगुआई ऐथलेटिक्स पुर्मा बनर्जी ने की थी।

लॉस एंजिलिस में जफर इकबाल से रियो ओलंपिक में अभिनव बिंद्रा तक: ओलंपिक उद्घाटन समारोह में भारतीय ध्वजवाहकों की पूरी लिस्ट
भारतीय दल की अगुआई ओलंपिक के इकलौते स्‍वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा करेंगे।

5 अगस्त की शाम को रियो ओलंपिक के उद्घाटन समारोह के साथ ही खेलों के महाकुंभ की शुरुआत हो जाएगी। 1920 से भारत ओलंपिक में भाग ले रहा है लेकिन इस बार भारत ओलंपिक खेलों में पदक जीतने को लेकर काफी आशावान है। रियो के मैराकेना स्‍टेडियम में शुक्रवार (5 अगस्त) की शाम को ओलंपिक का उद्घाटन समारोह आयोजित किया जाएगा। उद्घाटन समारोह में हर देश का कोई एक प्रसिद्ध खिलाड़ी अपने देश का झंडा लेकर अपने दल की अगुआई करेगा। किसी भी खिलाड़ी के लिए यह बेहद सम्मान और गर्व की बात होती है कि उद्घाटन सत्र में वो अपने देश का ध्वज लेकर अपने दल का नेतृत्व करे। भारतीय दल की अगुआई ओलंपिक के इकलौते स्‍वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा करेंगे।  1920 के ओलंपिक में भारतीय दल की अगुआई ऐथलेटिक्स पुर्मा बनर्जी ने की थी।  साल 1936 के ओलंपिक में भारत का झंडा लेकर हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद चले। आखिरी बार किसी हॉकी खिलाड़ी ने भारत का नेतृत्‍व 1996 के ओलंपिक में प्रगट सिंह ने किया था। इसके बाद 2004 में अंजु बॉबी जार्ज, 2008 में मेजर राज्यवर्धन सिंह राठौर, 2012 में सुशील कुमार और इस बार 2016 में अभिनव बिंद्रा भारत के ध्वजवाहक होंगे।

अगर बात भारत के पूरे दल की करें तो भारत ने ओलंपिक के इतिहास में अब तक का अपना सबले बड़ा दल रियो भेजा है। भारत के 120 खिलोड़ी रियो में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे जिनमें 55 पुरुष और 54 महिला खिलाड़ी शामिल हैं। महिला और पुरुष दोनों हॉकी टीम इस बार ओलंपिक में भाग ले रही हैं। भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने भी दावा किया है कि रियो ओलंपिक में उतरने जा रहा रिकॉर्ड भारतीय दल इस बार इन खेलों में 10 से 15 मेडल जीतने में सफल रहेगा। भारतीय खिलाड़ियों का संख्या और उनके प्रदर्शन को देखते हुए उम्मीद की जा रही है कि ये ओलंपिक भारत के लिए अब तक का सर्वश्रेष्ठ ओलंपिक साबित हो सकता है।

वर्तमान में जो खेल हो रहे हैं वे समर ओलंपिक्‍स कहलाते हैं जब सर्दियों में होने वाले खेलों को विंटर ओलंपिक्‍स कहा जाता है। इसके साथ ही पैरालिंपिक्‍स का आयोजन भी होता है। इन खेलों मेंं दिव्‍यांग खिलाड़ी हिस्‍सा लेते हैं। शिवा केशवन इकलौते भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्‍होंने तीन बार विंटर ओलंपिक्‍स में भारतीय दल का नेतृत्‍व किया है। भारतीय हॉकी के सुनहरे दौर में हॉकी खिलाड़ी ही ध्‍वजवाहक बनते थे। लेकिन 1996 के बाद से गैर हॉकी खिलाड़ी भारतीय दल की अगुवाई कर रहे हैं।

खिलाड़ियों के नाम जिन्होंने ओलंपिक खोलों में भारतीय दल का नेतृत्व किया

2016 – अभिनव बिंद्रा
2012 – सुशील कुमार
2010 – शिवा केशवन
2008 – राज्यवर्धन सिंह राठौड़
2006 – नेहा अहुजा
2004 – अंजू बॉबी जॉर्ज
2002 – शिवा केशवन
2000 – लिएंडर पेस
1998 – शिवा केशवन
1996 – प्रगट सिंह
1992 – अब्राहम विल्सन
1988 – करताल ढिल्लो सिंह
1988 – किशोर रठाला राय
1984 – जफर इकबाल
1972 – डी एन डिवाइन जोंस
1964 – गुरबचन सिंह रंधावा
1956 – बलबीर सिंह
1952 – बलबीर सिंह
1936 – ध्यानचंद
1932 – लाल शाह बोखारी
1920- पुर्मा बनर्जी

Rio Olympics 2016 से जुड़ी सभी खबरें यहां पढ़े

रियो ओलंपिक उद्घाटन समारोह 2016 से जुड़ी जानकारी पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पढें Rio 2016 Olympics (Rio2016olympics News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 04-08-2016 at 07:01:39 pm
अपडेट