ताज़ा खबर
 

Rio Olympics 2016: सेमीफाइनल में आज जापान की नोमोजी से भिड़ेंगी बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधू

दो बार विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता भारत की बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधू ने लंदन ओलंपिक की रजत पदक विजेता और दुनिया की दूसरे नंबर की खिलाड़ी चीन की वांग यिहान को हराकर महिला एकल सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है।

Author रियो डि जिनेरियो | August 18, 2016 2:10 AM
महिला एकल बैंडमिंटन मुकाबले के क्वॉर्टर फाइनल में चीन की वांग यिहान को लगातार दूसरे सेट में हराने के बाद खुशी जाहिर करतीं भारत की पीवी सिंधू। (REUTERS/Marcelo del Pozo/File)

दो बार विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता भारत की बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधू ने लंदन ओलंपिक की रजत पदक विजेता और दुनिया की दूसरे नंबर की खिलाड़ी चीन की वांग यिहान को हराकर महिला एकल सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है। अब वह पदक से सिर्फ एक जीत दूर हैं। इस मैच से पहले सिंधू का यिहान के खिलाफ रेकार्ड 2-4 का था। उन्होंने बेहतरीन खेल दिखाते हुए 54 मिनट तक चले मुकाबले में 22-20, 21-19 से जीत दर्ज की। इस यादगार जीत से सिंधू ओलंपिक सेमीफाइनल में पहुंचने वाली दूसरी भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी बन गई हैं। इससे पहले सायना ने सेमीफाइनल में प्रवेश किया था।

इस रोमांचक मुकाबले में दोनों खिलाड़ियों ने तेज रफ्तार रैलियां खेलीं। शानदार स्ट्रोक्स भी लगाए गए और एक दूसरे पर हावी होने की पूरी कोशिश की गई। पहला गेम 29 मिनट तक चला जिसमें वांग ने 3-0 की बढ़त बना ली थी। सिंधू ने जल्दी ही स्कोर 5-5 से बराबर किया। ब्रेक तक वांग ने 11-8 की बढ़त बना ली थी। पिछले साल डेनमार्क ओपन में वांग को हराने वाली सिंधू ने लगातार तीन अंक बनाकर स्कोर 11-12 कर दिया लेकिन इसके बाद अगले स्ट्राक पर उसकी शटल बेसलाइन में रह गई। सिंधू ने फिर 13-13 से बराबरी की जब वांग का शाट कोर्ट के बाहर चला गया। सिंधू ने इसके बाद वांग को बैक कार्नर पर जाने को मजबूर किया और फिर नेट के आगे लेकर आई। उसने रिवर्स एंगल से कुछ बेहतरीन शाट खेलकर वांग पर दबाव बनाया और बढ़त कायम कर ली।

सिंधू ने 18-18 के स्कोर पर वीडियो रेफरल जीता और दो अहम अंक बनाए। इसके बाद लंबी चली रैली के साथ वांग ने फोरहैंड रिटर्न लगाकर बढ़त बना लिया। सिंधू ने क्रासकोर्ट रिटर्न पर अगला अंक बनाया और फिर वांग की गलती का फायदा उठाकर गेम जीत लिया। स्टेडियम में गूंजती ‘जीतेगा भाई जीतेगा इंडिया जीतेगा’ की आवाज के बीच सिंधू ने दूसरे गेम में 8-3 की बढ़त बना ली। दूसरे गेम में गलती की कोई गुंजाइश नहीं थी। वांग अपनी गलतियों पर काबू नहीं रख सकी और सिंधू ने 11-8 से बढ़त बना ली। सिंधू जितनी बार अंक बनाती, दर्शकों का शोर और बढ़ जाता। बीच में सिंधू ने कोच पुलेला गोपीचंद की ओर देखा जो लगातार साइडलाइन से उन्हें मार्गदर्शन दे रहे थे। सिंधू ने एक समय 18-13 की बढ़त बना ली थी लेकिन फिर वांग ने लगातार छह अंक लेकर वापसी की। एक समय स्कोर 19-19 से बराबर हो गया जब सिंधू ने दमदार स्मैश पर मैच प्वाइंट बनाया। वांग की शटल नेट के बीच जा फसी और सिंधू ने यह यादगार मुकाबला जीत लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App