ताज़ा खबर
 

रीयाल मैड्रिड ने 11वीं बार जीता चैंपियंस लीग खिताब

चैंपियंस लीग के फाइनल में पेनल्टी शूटआउट में क्रिस्टियानो रोनाल्डो के निर्णायक गोल की मदद से रीयाल मैड्रिड ने एटलेटिको मैड्रिड को 5-3 से हराकर रेकार्ड 11वीं बार इस यूरोपीय खिताब पर कब्जा किया।

मिलान | May 30, 2016 1:45 AM
रीयाल ने इससे पहले 2014 में एटलेटिको मैड्रिड को ही हराकर खिताब जीता था।

चैंपियंस लीग के फाइनल में पेनल्टी शूटआउट में क्रिस्टियानो रोनाल्डो के निर्णायक गोल की मदद से रीयाल मैड्रिड ने एटलेटिको मैड्रिड को 5-3 से हराकर रेकार्ड 11वीं बार इस यूरोपीय खिताब पर कब्जा किया। रीयाल ने इससे पहले 2014 में एटलेटिको मैड्रिड को ही हराकर खिताब जीता था। इससे पहले निर्धारित समय तक दोनों टीमें 1-1 से बराबर पर थीं और अतिरिक्त समय में भी कोई गोल नहीं हो पाने के कारण मैच पेनल्टी शूट आउट तक खिंचा।

दर्शकों से खचाखच भरे सान सिरो स्टेडियम में मैच के शुरू में ही रीयाल ने कई हमले बोले। रीयाल को पहला मौका छठवें मिनट में ही मिला जब फ्री किक पर गैरेथ बेल के शाट का खूबसूरती से बचाव करते हुए एटलेटिको के गोलकीपर जान ओबलाक ने इसे अपने सीने पर रोका। पंद्रहवें मिनट में रीयाल को एक और फ्री किक मिली और टोनी क्रूस के शाट पर गैरेथ बेल के हेडर को बिलकुल गोलमुख पर खड़े सर्जियो रामोस गोल में धकेल कर रीयाल को बढ़त दिला दी। हालांकि ऐसा लगा कि रामोस थोड़े से आफ साइड थे। इसके बाद स्थानापन्न के रूप में मैदान में उतरे एटलेटिको के बेल्जियम के खिलाड़ी यान्निक कैरासको ने 79वें मिनट में गोल दागकर एटलेटिको को बराबरी दिला दी।
दोनों अतिरिक्त समय में कोई गोल नहीं पाने के बाद पेनल्टी शूट हुआ जिसमें एटलेटिको के डिफेंडर जुआनफ्रान का शाट गोल पोस्ट से टकराकर बाहर चला गया। रीयाल के पास मौका था और निर्णायक पेनल्टी में रोनाल्डो ने कोई चूक नहीं करते हुए खचाखच भरे स्टेडियम में रीयाल मैड्रिड के प्रशंसकों को झूमने का मौका दे दिया।

खिताब के इतने करीब पहुंचकर एटलेटिको को लगातार अपने दूसरे फाइनल में रीयाल के हाथों हार का सामना करना पड़ा। रीयाल ने 1956 में शुरुआती साल ही खिताब जीता था जब चैंपियंस लीग की शुरुआत हुई थी। दो साल पहले इसने लिस्बन में एटलेटिको को हराकर अपना दसवां खिताब जीता था। उस मैच में एटलेटिको 1-0 से आगे चल रहा था पर अंतिम क्षणों में सर्जियो रामोस ने गोल करके रियाल को बराबरी दिलाई और फिर अतिरिक्त समय में रीयाल ने तीन गोल करके 4-1 से खिताब जीता। एटलेटिको के कोच डिएगो सिमियोन ने वादा किया था कि इस बार इतिहास नहीं दोहराया जाएगा और टीम खिताब के साथ मिलान से लौटेगी। पर मैच शुरू होते ही रीयाल ने एटलेटिको के गोल पर हमले शुरू कर दिए। छठवें मिनट में बेल की फ्री किक को गोलकीपर ओबलाक ने एकदम सामने आकर अपने सीने पर रोक कर गोल बचाया। यह एक तरह से चेतावनी थी। दूसरी बार रीयाल को फ्री किक मिली तो गोल से इसकी दूरी को देखते हुए खतरे जैसी कोई बात नहीं लगी। पर टोनी क्रूस की सधी हुई किक पर बेल का हेडर सीधे गोल के पास गया जहां रामोस ने कोई गलती नहीं की।

इस झटके के बाद एटलेटिको को उबरने में कुछ समय लगा और जब उन्हें मौके भी मिले तो शाट कभी निशाने पर नहीं था। जुआनफ्रान का शाट बार से काफी ऊपर गया तो फर्नांडो टोरेस को मिले कोके के एक बेहद सधे पास को रीयाल के सेंट्रल डिफेंडर पेपे ने बेकार कर दिया। मुश्किल यह भी थी कि एटलेटिको बड़ी आसानी से गेंद पर कब्जा गंवा रहा था और उनकी पासिंग भी सटीक नहीं थी। 30वें मिनट में वे इसका खमियाजा भुगतने से बाल बाच बचे जब एक गलत पास का फायदा उठाकर कैशेमीरो ने गेंद अपने कब्जे में ली और करीम बेंजेमा की तरफ बढ़ाया। बेंजेमा के शाट को गोलकीपर ओबलाक ने बड़ी मुश्किल से एक हाथ से बचाया। एक गोल से पिछड़ने के बाद भी एटलेटिको मैड्रिड पहले हाफ में कोई खास मौके नहीं बना पाई। हाफ टाइम से पहले एक बार एंटोइने ग्रीजमान शाट को गोल पोस्ट से काफी बाहर मार बैठे। पर दूसरा हाफ शुरू होते ही एटलेटिको को सुनहरा मौका मिला जब जब पेपे ने पेनल्टी एरिया में फर्नांडो टोरेस को गिराया और रेफरी ने पेनल्टी स्ट्रोक देने में कोई हिचकिचाहट नहीं दिखाई। पर इस सत्र में एटलेटिको के लिए चैंपियंस लीग में सात गोल करने वाले ग्रीजमान अंतिम क्षणों में एकाग्रता नहीं बनाए रख पाए और उनका शाट बार के निचले हिस्से से टकराकर लौट आया। बेयर्न म्यूनिख के खिलाफ करिश्माई गोल करने वाले सोल निगुएज को कैरिसको से एक बेहतरीन क्रास मिला पर वे इसे बाहर मार बैठे और कोच सिमियोन माथा पीटते नजर आए।

रीयाल ने दबाव बनाए रखा और ल्यूका मोड्रिक ने बेंजेमा को बिलकुल सधा पास दिया। बेंजेमा के सामने खाली गोल था और गोलकीपर ओबलाक बचाव के लिए आगे दौड़ रहे थे पर उनका शाट फिर ओबलाक के सीने से लगकर लौट गया। मोड्रिक ने फिर मौका बनाया और इस बार रोनाल्डो थे। रोनाल्डो ने 25 यार्ड की दूरी से जबरदस्त शाट मारा और ओबलाक इसे पूरी तरह से रोकने में नाकाम रहे। बेल गेंद पर झपट रहे थे कि स्टेफान सैविक ने किसी तरह से बाहर कर एटलेटिको को राहत दी। पर इसके कुछ ही देर बाद मैच का नक्शा बदल गया जब जुआनफ्रान के एकदम सधे पास पर कैरिसको ने रीयाल के रक्षकों को को धता बताकर गेंद को गोल में डाल दिया। पर आखिर में यह पेनल्टी किक को गोल में बदलने में जुआनफ्रान और ग्रीजमान की नाकामी ही थी जो एटलेटिको को भारी पड़ी और उसका पहली बार चैंपियंस लीग का खिताब जीतने का सपना तीसरे प्रयास में भी पूरा नहीं हो पाया।

पिछले तीन साल में दो बार अपनी टीम को यूरोप के इस सबसे प्रतिष्ठित खिताब के करीब ले जाने के बावजूद बन पाने में नाकाम रहने से एटलेटिको के कोच डिएगो सिमियोन बुरी तरह हताश दिखे। चैंपियंस लीग को छोड़कर पिछले साढ़े चार साल में एटलेटिको के लिए सभी प्रमुख खिताब जीतने वाले सिमियोन ने कहा कि हमारे पास खिताब जीतने का मौका था पर हम चूक गए। सिमियोन ने कहा कि उन्हें अपने खिलाड़ियों पर गर्व है, उन्होंने अपना सब कुछ झोंक दिया, उन्होंने हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ दिया है। उन्होंने कहा कि तीन साल में दो बार चैंपियंस लीग का फाइनल खेलना शानदार उपलब्धि है। पर हमने जो हासिल किया मैं उससे खुश नहीं हूं। एटलेटिको ने 2014 में नौ साल से जारी बार्सीलोना और रीयाल मैड्रिड का वर्चस्व तोड़ते हुए ला लीगा खिताब जीता था। इस बार भी टीम रीयाल को पीछे छोड़ते हुए ला लीगा में दूसरे स्थान पर रही।

 

Next Stories
1 सुशील कुमार के लिए की थी नेताओं ने सिफारिशें : भारतीय कुश्ती महासंघ अध्यक्ष
2 थिएम चौथे राउंड में और पेस-हिंगिस की जोड़ी क्वार्टर फाइनल में
3 French Open 2016: मिक्स्ड डबल्स में पेस और सानिया की जीत, प्रीक्वाटरफाइनल में किया प्रवेश
ये पढ़ा क्या?
X