ताज़ा खबर
 

IPL-8: बेंगलूर और चेन्नई के बीच मैच के साथ कप्तानी का भी मुकाबला

चेन्नई सुपर किंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर कल आईपीएल के दूसरे क्वालीफायर में यहां जब आमने सामने होंगी तो यह मुकाबला महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली की कप्तानी का भी होगा...

Author May 21, 2015 3:52 PM
आईपीएल के इतिहास में चेन्नई सबसे कामयाब टीम रही है जिसने 2010 और 2011 में खिताब जीते और अब तक पांच बार फाइनल में पहुंच चुकी है। (पीटीआई ग्राफिक्स)

चेन्नई सुपर किंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर कल आईपीएल के दूसरे क्वालीफायर में यहां जब आमने सामने होंगी तो यह मुकाबला महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली की कप्तानी का भी होगा।

चेन्नई और बेंगलूर को रविवार को होने वाले फाइनल में जगह बनाने के लिये काफी पसीना बहाना होगा। यह मुकाबला भारत के वनडे कप्तान धोनी और टेस्ट कप्तान कोहली की नेतृत्व क्षमता का भी होगा।

पिछले रिकॉर्ड के आधार पर हालांकि चेन्नई का पलड़ा भारी होगा। इस बार आईपीएल में दो बार दोनों टीमों का मुकाबला हुआ है और दोनों बार चेन्नई ने बाजी मारी। धोनी की टीम ने 27 और 24 रन से ये मुकाबले जीते थे।

मौजूदा फॉर्म को आधार माने तो बेंगलूर का पलड़ा भारी लग रहा है। दो बार की चैम्पियन चेन्नई को पहले क्वालीफायर में मुंबई इंडियंस ने 25 रन से हराया। अब उसे रिकॉर्ड छठी बार फाइनल में जगह बनाने के लिये अपनी गलतियों से सबक लेकर उतरना होगा।

आईपीएल के इतिहास में चेन्नई सबसे कामयाब टीम रही है जिसने 2010 और 2011 में खिताब जीते और अब तक पांच बार फाइनल में पहुंच चुकी है।

बेंगलूर के खिलाफ हालांकि कल जीतने के लिये चेन्नई को एड़ी चोटी का जोर लगाना होगा। उसके लिये सर्वाधिक रन बनने वाले ब्रेंडन मैकुलम के स्वदेश लौटने से चेन्नई की बल्लेबाजी कमजोर हुई है। अब तक टीम अच्छी शुरुआत के लिये इस कीवी बल्लेबाज पर काफी हद तक निर्भर थी।

मुंबई के खिलाफ पहले क्वालीफायर में 187 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए चेन्नई 25 रन से चूक गई। फाफ डु प्लेसिस, सुरेश रैना, ड्वेन ब्रावो अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में नहीं बदल सके। उसके गेंदबाज भी मुंबई के बल्लेबाजों पर अंकुश नहीं लगा सके। आशीष नेहरा और आर अश्विन ने उम्दा गेंदबाजी की लेकिन पवन नेगी, रविंद्र जडेजा, मोहित शर्मा और ब्रावो से उन्हें अपेक्षित सहयोग नहीं मिला।

दूसरी ओर एलिमिनेटर में राजस्थान रॉयल्स को हराने के बाद बेंगलूर के हौसले बुलंद हैं। बेंगलूर ने इस एकतरफा मुकाबले में 71 रन से जीत दर्ज की। क्रिस गेल, कोहली, एबी डिविलियर्स, मनदीप सिंह, दिनेश कार्तिक सभी इस टूर्नामेंट में रन बना चुके हैं।

डिविलियर्स (512 रन) और गेल (450 रन) उन चार बल्लेबाजों में से हैं जिन्होंने इस बार आईपीएल में शतक जमाया है। राजस्थान रॉयल्स के शेन वॉटसन और चेन्नई के ब्रेंडन मैकुलम भी शतक लगा चुके हैं।

बेंगलूर की बल्लेबाजी इतनी मजबूत है कि कल गेल और कोहली के नाकाम रहने के बावजूद उसने 180 रन बनाये। डिविलियर्स (66) और मनदीप (54) ने आक्रामक अर्धशतकीय पारियां खेली।

गेंदबाजी में बेंगलूर ने कल बेहतरीन प्रदर्शन किया। मिशेल स्टार्क ने अपनी ख्याति के अनुरूप गेंदबाजी की जिन्हें अराविंद श्रीनाथ, हर्षल पटेल और डेविड वीज से पूरा सहयोग मिला। युजवेंद्र चहल अकेले स्पिनर हैं और अभी तक 21 विकेट ले चुके हैं।

टीमें इस प्रकार हैं :

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर: विराट कोहली (कप्तान), एबी डिविलियर्स, क्रिस गेल, दिनेश कार्तिक, मिशेल स्टार्क, निक मेडिनसन, वरुण आरोन, युजवेंद्र चहल, विजय जोल, अबु नेचिम अहमद, हर्षल पटेल, अशोक डिंडा, मानविंदर बिस्ला, सीन एबट, जलज सक्सेना, सरफराज खान, शिशिर बवाने, एस अराविंद।

चेन्नई सुपर किंग्स: एम एस धोनी (कप्तान), आशीष नेहरा, बाबा अपराजित, ड्वेन ब्रावो, ड्वेन स्मिथ, फ्रांकोइस डु प्लेसिस, ईश्वर पांडे, मैट हेनरी, मिथुन मन्हास, मोहित शर्मा, पवन नेगी, आर अश्विन, रविंद्र जडेजा, सैमुअल बद्री, सुरेश रैना, रोनित मोरे, माइकल हसी, राहुल शर्मा, काइल एबोट, अंकुश बैंस, इरफान पठान, प्रत्युष सिंह, एंड्रयू टाये और एकलव्य द्विवेदी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App