IPL 2022: एबी डिविलियर्स को रिटेन नहीं करेगी आरसीबी? विराट कोहली और ग्लेन मैक्सवेल के चुने जाने पर भी गौतम गंभीर ने दी अपनी राय

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान एबी डिविलियर्स 2011 में आरसीबी में शामिल हुए थे। तब से टीम का एक अभिन्न हिस्सा हैं। उन्होंने आईपीएल में अब तक 184 मैच में 151.68 के स्ट्राइक रेट से 5162 रन बनाए हैं।

RCB AB de Villiers IPL 2022 Gautam Gambhir Virat Kohli Glenn Maxwell Yuzvendra Chahal
विराट कोहली ने रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर की कप्तानी छोड़ दी है। आईपीएल 2022 के लिए मेगा ऑक्शन होना है। (सोर्स- आईपीएल/बीसीसीआई)

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर गौतम गंभीर ने कहा है कि अगर ग्लेन मैक्सवेल को रखना है तो इसका मतलब है कि रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर (आरसीबी) अगले सीजन यानी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 के लिए एबी डिविलियर्स को रिटेन नहीं करने का विकल्प चुन सकता है।

गंभीर ने कहा कि इस सीजन आरसीबी के शीर्ष रन स्कोरर रहे मैक्सवेल भविष्य का प्रतिनिधित्व करते हैं, जबकि 37 वर्षीय डिविलियर्स नहीं करते हैं।जब गंभीर से पूछा गया कि क्या उन्हें लगता है कि आरसीबी इस सीजन में डिविलियर्स को रिटेन नहीं करने का विकल्प चुन सकती है, तो गंभीर ने कहा, ‘हां, क्योंकि मुझे लगता है कि वे ग्लेन मैक्सवेल को बरकरार रखेंगे, क्योंकि वह भविष्य हैं और एबी डिविलियर्स नहीं हैं।’

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान एबी डिविलियर्स 2011 में आरसीबी में शामिल हुए थे। तब से टीम का एक अभिन्न हिस्सा हैं। उन्होंने आईपीएल में अब तक 184 मैच में 151.68 के स्ट्राइक रेट से 5162 रन बनाए हैं। उन्होंने इस सीजन में 313 रन बनाए। हालांकि, उनके अधिकांश रन टूर्नामेंट के पहले चरण (भारत में खेले गए) में आए।

एबी डिविलियर्स का आईपीएल 2021 के यूएई चरण में सर्वोच्च स्कोर 26 रन रहा। डिलिवियर्स यूएई में सिर्फ 2 बार ही 20 रन से ज्यादा का स्कोर कर पाए।डिविलियर्स ने 2019 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। वह तब से आईपीएल के अलावा शायद ही कभी किसी टी20 टूर्नामेंट में खेले हों।

IPL: कोहली और डिविलियर्स ही बना पाएं हैं यह रिकॉर्ड, इस मामले में टॉप पर हैं धवन

गंभीर ने कहा कि आरसीबी विराट कोहली और स्पिनर युजवेंद्र चहल के साथ मैक्सवेल को रिटेन करना चाहेगी। साल 2013 में डेनियल विटोरी से बागडोर संभालने के बाद कोहली ने इस सीजन तक फ्रैंचाइजी की कमान संभाली। आईपीएल 2021 में टीम का सफर खत्म होने के बाद उन्होंने आरसीबी के कप्तान का पद छोड़ दिया।

पूर्व बल्लेबाज ने यह भी रेखांकित किया कि विराट कोहली की यूएई-लेग के पहले दिन आरसीबी के कप्तान के रूप में पद छोड़ने की घोषणा खिलाड़ियों को अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने से विचलित कर सकती थी। गंभीर ने कहा कि आरसीबी के भारतीय चरण में अच्छा प्रदर्शन करने के कारण, कोहली घोषणा में देरी कर सकते थे। संभवतः वह टूर्नामेंट के अंत में अपने इस फैसले का ऐलान करते।

गंभीर ने कहा, ‘मुझे लगता है कि वह सही समय नहीं था। अगर उन्हें कप्तान का पद छोड़ना था तो वह टूर्नामेंट के बाद भी ऐसा कर सकते थे। वह इस स्थिति में थे, जहां ऐसा नहीं था कि आरसीबी क्वालिफाई करने की स्थिति में नहीं थी। वह बहुत अच्छी स्थिति में थे, इसलिए मेरा मानना ​​है कि अगर उन्होंने टूर्नामेंट के बाद इस्तीफा दे दिया होता तो वह ज्यादा बेहतर होता।’

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट