ताज़ा खबर
 

रविचंद्रन अश्विन ने तोड़ा हरभजन सिंह का रिकॉर्ड, 10 में से 7वीं बार झटके 5+ विकेट; कपिल देव के इस रिकॉर्ड पर भी है नजर

अश्विन के पास इंग्लैंड के खिलाफ आगामी सीरीज में दोनों ही महान गेंदबाजों को पीछे छोड़ने का मौका होगा। यदि वह 5 टेस्ट मैच की सीरीज में 22 विकेट ले लेते हैं तो वह कपिल देव और हरभजन सिंह से आगे निकल जाएंगे।

Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: July 15, 2021 6:48 PM
काउंटी चैंपियनशिप में सरे के बेस्ट इंडियन बॉलर्स की सूची में रविचंद्रन अश्विन हरभजन सिंह को पीछे छोड़ते हुए तीसरे नंबर पर पहुंच गए हैं।

रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 500 से ज्यादा विकेट ले चुके हैं। वह भारत की टेस्ट टीम के भरोसेमंद गेंदबाज हैं। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में भारतीय टीम और फैंस को उनसे काफी आशाए हैं। इंग्लैंड में अपनी गेंदबाजी की धार और पैनी करने के लिए अश्विन ने काउंटी चैंपियनशिप में भी खेलने का फैसला किया था।

उन्होंने काउंटी चैंपियनशिप में भी शानदार प्रदर्शन किया। अश्विन ने सरे की ओर से खेलते हुए समरसेट के खिलाफ सिर्फ 15 ओवर में 27 रन देकर 6 विकेट झटक लिए। उनका काउंटी क्रिकेट में यह सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी है। हालांकि, सरे के लिए बेस्ट भारतीय बॉलर का रिकॉर्ड अनिल कुंबले के नाम दर्ज है। अनिल कुंबले (Anil Kumble) ने 2006 में नॉटिंघमशायर के खिलाफ ओवल के मैदान पर 100 रन देकर 8 विकेट झटके थे।

इस मामले में प्रज्ञान ओझा (Pragyan Ojha) दूसरे नंबर पर हैं। प्रज्ञान ने 2011 में नॉटिंघमशायर के खिलाफ 8 रन देकर 6 विकेट झटके थे। तीसरे नंबर पर अब अश्विन आ गए हैं। अश्विन से पहले तीसरे नंबर पर हरभजन सिंह थे। हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने 2005 में हैम्पशायर के खिलाफ 36 रन देकर 6 विकेट लिए थे।

ऐसा नहीं है कि अश्विन ने काउंटी क्रिकेट में पहली बार ऐसा शानदार प्रदर्शन किया है। वह पहले भी काउंटी चैंपियनशिप में कई बार कमाल कर चुके हैं। अश्विन ने काउंटी क्रिकेट में अब तक 10 मैच खेले हैं। इसमें उन्होंने 7 बार 5 या उससे ज्यादा विकेट लिए हैं।

अश्विन ने पहली पार साल 2017 में वारविकशायर की ओर से खेलते हुए ग्लूस्टरशायर के खिलाफ मैच में पांच विकेट लिए थे। तब उन्होंने 34 ओवर में 68 रन देकर विकेट लिए थे। उसी साल उन्होंने डरहम के खिलाफ मैच में 95 रन देकर 5 विकेट लिए। इसके बाद 2019 में भी अश्विन ने कमाल किया। अश्विन ने उस साल नॉटिंघमशायर की ओर से खेलते हुए समरसेट, सरे, सरे और केंट के खिलाफ क्रमशः 5, 6, 6 और 5 विकेट लिए थे।

रविचंद्रन अश्विन टेस्ट क्रिकेट में 413 विकेट ले चुके हैं। वह टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले भारतीयों में चौथे नंबर पर हैं। इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में उनके पास दूसरे नंबर पर पहुंचने का मौका भी रहेगा। वह हरभजन सिंह और कपिल देव (Kapil Dev) के टेस्ट विकेटों के आंकड़ों को पार कर सकते हैं।

कपिल देव ने अपने 16 साल लंबे टेस्ट करियर में 131 मैच खेले और 434 विकेट लिए थे। हरभजन सिंह ने अब तक क्रिकेट संन्यास नहीं लिया है, लेकिन उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट अगस्त 2015 में खेला था। उन्होंने 1998 से 2015 के दौरान 103 टेस्ट मैच खेले और 417 विकेट अपने नाम किए।

अश्विन के पास इंग्लैंड के खिलाफ आगामी सीरीज में दोनों ही महान गेंदबाजों को पीछे छोड़ने का मौका होगा। यदि वह 5 टेस्ट मैच की सीरीज में 22 विकेट ले लेते हैं तो वह कपिल देव और हरभजन सिंह से आगे निकल जाएंगे।

Next Stories
1 कुलदीप यादव ने उतारी विराट कोहली-एमएस धोनी की नकल, युजवेंद्र चहल ने कहा- चांटा पड़ेगा; देखें Video
2 मिशेल मॉर्श ने पहले 24 गेंद में ठोका पचासा, फिर झटके 3 विकेट; ऑस्ट्रेलिया ने रोका विंडीज का विजय रथ
3 ऋषभ पंत का बैट चोरी करना चाहता है दिल्ली कैपिटल्स का यह गेंदबाज, श्रेयस अय्यर को इस चीज में पृथ्वी शॉ से बेस्ट बताया
ये पढ़ा क्या?
X