ताज़ा खबर
 

दक्षिण अफ्रीका के हाथों मिली शर्मनाक हार से आगबबूला शास्‍त्री ने क्‍यूरेटर को दी गाली

दक्षिण अफ्रीका के हाथों मिली शर्मनाक हार के बाद टीम इंडिया के डायरेक्‍टर रवि शास्‍त्री पिच क्‍यूरेटर सुधीर नाइक पर जमकर बरसे और उसे गाली भी दीं। दक्षिण अफ्रीका ने पांच वनडे मैचों की सीरीज के आखिरी मुकाबले में 438 रनों का पहाड़ खड़ा कर दिया था।

Author मुंबई | October 27, 2015 9:38 AM
पिच क्यूरेटर का आरोप, मनचाही पिच नहीं बनाई तो शास्त्री ने दी गाली

दक्षिण अफ्रीका के हाथों मिली शर्मनाक हार के बाद टीम इंडिया के डायरेक्‍टर रवि शास्‍त्री पिच क्‍यूरेटर सुधीर नाइक पर जमकर बरसे और उसे गाली भी दीं। दक्षिण अफ्रीका ने पांच वनडे मैचों की सीरीज के आखिरी मुकाबले में 438 रनों का पहाड़ खड़ा कर दिया था।

टीम इंडिया के नंबर एक गेंदबाज भुवनेश्‍वर कुमार ने 10 ओवर में 100 ज्‍यादा रन लुटा दिए थे। इससे पहले भारत और दक्षिण अफ्रीका 2-2 की बराबरी पर थे। दक्षिण अफ्रीका ने आखिरी वनडे 214 रनों से जीता था। बहरहाल, क्‍यूरेटर सुधीर नाइक ने मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन को पत्र लिखकर टीम के डायरेक्‍टर रवि शास्‍त्री और भारत अरुण की शिकायत की है।

एमसीए ने क्‍यूरेटर की ओर से मिले पत्र की पुष्टि की है। एमसीए के ज्‍वाइंट सेक्रेटरी उन्‍मेश खानविलकर ने इंडियन एक्‍सप्रेस से कहा कि मैनेजिंग कमेटी की अगली बैठक में इस मुद्दे पर सुनवाई की जाएगी।

सूत्रों की मानें तो पिच को लेकर मैच से पहले किचकिच शुरू हो गई थी। टीम के सपोर्ट स्‍टाफ ने मैच से पहले जब पिच देखी तब वह खुश नहीं था। क्‍यूरेटर से कहा गया था कि वह थोड़ी धीमी पिच बनाए। वानखेड़े स्‍टेडियम की पिच वैसे भी स्पिनर्स के लिए मददगार मानी जाती रही है। इसी को ध्‍यान में रखते हुए महेंद्र सिंह धोनी ने तीन स्पिनर टीम में खिलाए थे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

मैच के बाद कप्तान धोनी ने भी कहा था कि सपाट पिच होने के कारण स्पिनर्स को परेशानी हुई और दक्षिण अफ्रीका ने 400 से ज्‍यादा रनों का पहाड़ खड़ा कर दिया। धोनी ने बॉलर्स का बचाव करते हुए कहा था कि पिच से उन्हें कोई मदद नहीं मिल रही थी।

Pro Kabaddi League 2019
  • pro kabaddi league stats 2019, pro kabaddi 2019 stats
  • pro kabaddi 2019, pro kabaddi 2019 teams
  • pro kabaddi 2019 points table, pro kabaddi points table 2019
  • pro kabaddi 2019 schedule, pro kabaddi schedule 2019

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories