scorecardresearch

Ranji Trophy Star: मैं 8 साल से फिटनेस टेस्ट पास कर रहा, मोटापे के कारण कभी टीम से निकाले गए रणजी स्टार सरफराज खान की दो टूक

सरफराज खान (Sarfaraz Khan) 2015 से आईपीएल (IPL) का हिस्सा हैं। वह 2015 से 2018 तक रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेले। साल 2019 से 2021 तक प्रीति जिंटा के सह-मालिकाना हक वाली पंजाब किंग्स और 2022 में दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेले।

Ranji Trophy Star: मैं 8 साल से फिटनेस टेस्ट पास कर रहा, मोटापे के कारण कभी टीम से निकाले गए रणजी स्टार सरफराज खान की दो टूक
इंडियन एक्सप्रेस के मुंबई कार्यालय में टाउन हॉल कार्यक्रम के दौरान सरफराज खान। (एक्सप्रेस फोटो नरेंद्र वस्कर)

रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) के इस साल के सीजन में सबसे अधिक रन बनाने वाले 24 साल के सरफराज खान (Sarfaraz Khan) टीम इंडिया में चुने जाने के लिए दस्तक दे चुके हैं। सरफराज ने रणजी ट्रॉफी 2022 में 6 मैच में 936 रन बनाए। इंडियन एक्सप्रेस के ‘टाउनहाल’ कार्यक्रम में सरफराज खान ने अपनी फिटनेस, टीम इंडिया के लिए खेलने के सपने और पिता के साथ अपने रिश्तों को लेकर खुलकर बात की।

सरफराज खान मूल रूप से उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आजमगढ़ की सगड़ी तहसील स्थित बासूपार गांव के रहने वाले हैं। हालांकि, वह रणजी ट्रॉफी में मुंबई के लिए खेलते हैं। सरफराज खान 2015 से इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का हिस्सा हैं। वह 2015 से 2018 तक रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (Royal Challengers Bangalore) का हिस्सा रहे। हालांकि, मोटापा के कारण सही फिटनेस नहीं होने की वजह से रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) ने उन्हें टीम से बाहर कर दिया था।

विराट कोहली और कई शीर्ष फुटबॉल खिलाड़ी और एथलीट सलाह देते हैं कि शीर्ष पर बने रहने के लिए एक डाइट का पालन करना चाहिए। क्या आप कोई डाइट फॉलो करते हैं के सवाल पर सरफराज खान ने कहा, ‘जब मैंने 2015-16 में आईपीएल खेला था, तब मेरा फिटनेस स्तर अच्छा नहीं था। मुझे यह बात विराट कोहली ने भी बताई थी। उसके बाद, मैंने अपनी फिटनेस में सुधार किया, लेकिन मेरा वजन फिर बढ़ गया।’

सरफराज ने बताया, ‘हालांकि, पिछले दो साल से मैं अपनी सेहत को लेकर काफी अनुशासित रहा हूं। हर किसी का शरीर अलग होता है, लेकिन इससे मेरे खेल पर असर नहीं पड़ना चाहिए। मैं पिछले 8 साल से आईपीएल में हूं और फिटनेस टेस्ट पास कर रहा हूं। मैं ऑफ सीजन में भी अपनी सेहत और फिटनेस पर ध्यान दूंगा।’

उन्होंने कहा, ‘जब हमें खान-पान की जानकारी नहीं होती थी, तब हम कुछ भी खा लेते थे। लेकिन अब हम अपने खान-पान को लेकर सख्त हैं। हमारे घर में हम रोज मांसाहारी खाना खाते थे। हालांकि, अब हम बिरयानी और चावल से बने अन्य व्यंजन खाने से बचते हैं। इस तरह का खाना हम या तो रविवार को खाते हैं या फिर किसी विशेष मौके पर।’

सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने कहा था कि यदि आप भारतीय टीम में नहीं चुने गए तो उन्हें हैरानी होगी। उस पर आपके क्या विचार या टिप्पणियां हैं? इस सवाल के जवाब में सरफराज ने कहा, ‘यह बड़े सम्मान की बात है कि वह मेरे बारे में इतना अधिक सोचते हैं।’

सरफराज खान ने अपनी बात जारी रखते हुए कहा, ‘अगर आप देश के किसी भी क्रिकेट मैदान पर जाकर वहां अभ्यास कर रहे किसी भी बच्चे या खिलाड़ी से से पूछेंगे कि उसका अंतिम लक्ष्य क्या है तो उसका जवाब होगा कि वह भारत के लिए खेलना चाहता है। मेरा भी यही सपना है।’

उन्होंने कहा, ‘हालांकि, मेरे अब्बू कहते हैं, प्रक्रिया पर भरोसा करो। मैं इस उम्मीद में खेलता हूं कि मैं हर दिन बेहतर होता जाऊं। यह मेरा जुनून है; मैं हमेशा से यही करना चाहता था और मैं कभी भी इस क्षेत्र से बाहर नहीं आना चाहता। जब यह मेरी किस्मत में होगा तो मैं भारत के लिए खेलूंगा।’

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट