ताज़ा खबर
 

दिल्ली के खिलाफ जीत की लय को बरकरार रखने के इरादे से उतरेगा कर्नाटक

कर्नाटक की टीम छह मैचों में दो जीत और चार ड्रा से 21 अंक जुटाकर अंक तालिका में चौथे स्थान पर चल रही है। दिल्ली की टीम सात मैचों में तीन जीत से 24 अंक के साथ शीर्ष पर है।

Author हुबली | November 23, 2015 4:03 AM

ओड़ीशा के खिलाफ पिछले मैच में प्रतियोगिता की दूसरी जीत दर्ज करने के बाद आत्मविश्वास से भरी गत चैंपियन कर्नाटक की टीम सोमवार को यहां ग्रुप ए मुकाबले में अंक तालिका में शीर्ष पर चल रहे दिल्ली के खिलाफ जीत की लय को बरकरार रखने के इरादे से उतरेगी। कर्नाटक की टीम छह मैचों में दो जीत और चार ड्रा से 21 अंक जुटाकर अंक तालिका में चौथे स्थान पर चल रही है। दिल्ली की टीम सात मैचों में तीन जीत से 24 अंक के साथ शीर्ष पर है। सोमवार से शुरू हो रहे मैच में हालांकि जीत मेजबान टीम को अंक तालिका में शीर्ष पर पहुंचा सकती है।

कर्नाटक की टीम ओड़ीशा और राजस्थान को उसी के मैदान पर हराने के बाद बढ़े हुए आत्मविश्वास के साथ उतरेगी। दिल्ली की टीम को हालांकि पिछले मैच में असम के खिलाफ हार से झटका लगा है। असम की टीम छह मैचों में 22 अंक के साथ तीसरे स्थान पर है। कर्नाटक के कप्तान आर विनय कुमार को अपने शीर्ष बल्लेबाजों रोबिन उथप्पा, मयंक अग्रवाल और करुण नायर से एक बार फिर अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी।

सत्र की धीमी शुरुआत करने वाले उथप्पा पिछले दो मैचों में राजस्थान और ओड़ीशा के खिलाफ लगातार दो शतक जड़ चुके हैं जिससे कर्नाटक की टीम दो जीत दर्ज करने में सफल रही। अग्रवाल और नायर ने भी ओड़ीशा के खिलाफ प्रभावी प्रदर्शन करते हुए क्रम से 78 और 73 रन की पारियां खेलीं। नायर और उथप्पा ने पिछले मैच में ओड़ीशा के खिलाफ चौथे विकेट के लिए 169 रन की साझेदारी करके टीम को पहली पारी में 168 रन की बढ़त दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। मनीष पांडे की वापसी से कर्नाटक की टीम को मजबूती मिली जो दाएं हाथ की उंगली में चोट के बाद पूरी तरह फिट हो चुके हैं।

वे इस चोट के कारण कर्नाटक के पिछले दो मैचों में नहीं खेल पाए थे। पांडे ने चोटिल होने से पहले विदर्भ के खिलाफ 104 रन की पारी खेली थी और दिल्ली के खिलाफ वे ऐसे ही प्रदर्शन की उम्मीद कर रहे होंगे। कर्नाटक को हालांकि गेंदबाजी में स्टुअर्ट बिन्नी की कमी खलेगी जिन्होंने ओड़ीशा के खिलाफ दूसरी पारी में 34 रन देकर चार विकेट चटकाते हुए टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई थी। कर्नाटक की गेंदबाजी एक बार फिर कप्तान विनयकुमार, अभिमन्यु मिथुन, एचएस शरत, जे सुचित, डेविड मथियास और श्रेयष गोपाल पर निर्भर होगी। दूसरी तरफ दिल्ली की टीम पिछले मैच में असम के खिलाफ सत्र की पहली हार का सामना करने के बाद इस मैच में खेलने उतरेगी। असम ने पहले तीन मैचों में दो हार के बाद लगातार तीन जीत के साथ जोरदार वापसी की है। दिल्ली की टीम सोमवार के मैच से नाकआउट के लिए लय हासिल करने की कोशिश भी करेगी क्योंकि उसका अंतिम आठ में खेलना लगभग तय है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App