ताज़ा खबर
 

गंभीर ने शतक ठोक कर की रणजी सत्र की शुरुआत, सहवाग सस्ते में आउट

रणजी ट्राफी के नए सत्र की शुरुआत गौतम गंभीर ने जोरदार तरीके से की। दिल्ली की कप्तानी करते हुए इस पूर्व भारतीय ओपनर ने रविवार को रोशनआरा क्लब मैदान पर सौराष्ट्र के खिलाफ शतक जड़ा। गंभीर के नाबाद शतक की मदद से दिल्ली ने पहले दिन का खेल खत्म होने तक छह विकेट पर 260 […]
Author December 8, 2014 10:59 am
गंभीर ने रजत भाटिया के साथ पांचवें विकेट के लिए 88 रनों की महत्त्वपूर्ण साझेदारी की (एक्सप्रेस फाइल)

रणजी ट्राफी के नए सत्र की शुरुआत गौतम गंभीर ने जोरदार तरीके से की। दिल्ली की कप्तानी करते हुए इस पूर्व भारतीय ओपनर ने रविवार को रोशनआरा क्लब मैदान पर सौराष्ट्र के खिलाफ शतक जड़ा। गंभीर के नाबाद शतक की मदद से दिल्ली ने पहले दिन का खेल खत्म होने तक छह विकेट पर 260 रन बना लिए थे। गीभर ने संयमित बल्लेबाजी की। उन्होंने रोशनआरा की पिच पर धैर्य के साथ खेला। हालांकि पिच गेंदबाजों को मदद कर रही थी। तेजी और उछाल की वजह से इस पर रन बनाना मुश्किल लग रहा था लेकिन गंभीर ने कभी भी अपना संयम नहीं खोया। वे 123 रन बना कर क्रीज पर जमे हुए हैं। गंभीर ने रजत भाटिया के साथ पांचवें विकेट के लिए 88 रनों की महत्त्वपूर्ण साझेदारी की। भाटिया ने 47 रन बनाए। यह अलग बात है कि भारत के लिए लंबे समय तक ओपनिंग करने वाले वीरेंद्र सहवाग रणजी ट्राफी के पहले मैच में नहीं चल पाए। उनका किस्मत ने भी साथ नहीं दिया। वे नौ रन बना कर रनआउट हुए। सौराष्ट्र की तरफ से सुदीप त्यागी और अभिषेक भट ने दो-दो विकेट लिए।

सौराष्ट्र के कप्तान जयदेव शाह ने टास जीतकर दिल्ली को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया। गंभीर और उन्मुक्त चंद (28) ने दिल्ली की पारी की सर्तक शुरुआत की। इन दोनों ने दिन का पहल घंटा बिना किसी नुकसान के निकला लिए। विजय हजारे और देवधर ट्राफी में रन के लिए जूझने वाले उन्मुक्त ने शुरू में गेंदबाजों पर हावी होने की कोशिश की लेकिन वे अच्छी शुरुआत का बड़े स्कोर में नहीं बदल पाए और पारी के सत्रहवें ओवर में त्यागी की गेंद पर भट को कैच देकर पवेलियन लौटे। उन्होंने अपनी 55 गेंद की परी में पांच चौके लगाए। गंभीर और उन्मुक्त ने पहले विकेट के लिए 53 रन जोड़े।

त्यागी ने इसके बाद वरुण सूद को विकेट के पीछे कैच कराया। सूद ने चौदह रन बनाए। सहवाग पारी का आगाज करने के बजाय मध्यक्रम में खेलने के लिए उतरे लेकिन उनका खराब फार्म जारी रही। उन्होंने अपने अंदाज में दो चौके भी जड़े। लग रहा था कि वे गेंदबाजों पर हावी होने के लिए शुरू से आक्रामक अंदाज में बल्लेबाजी करने के मूड में आए हैं तभी शेल्डन जैकसन ने उन्हें रन आउट करके सौराष्ट्र को बड़ी सफलता दिलाई। गंभीर इस बीच अच्छी तरह से जम चुके थे। उन्होंने इसके बाद कुछ अच्छे शाट लगाए। दूसरी तरफ से हालांकि विकेट गिरते रहे। वैभव रावल (11) अभिषेक की गेंद पर बोल्ड होकर पवेलियन लौटे लेकिन भाटिया ने फिर से दिखाया कि वे अच्छे फार्म में हैं। उन्होंने कप्तान का पूरा साथ दिया। वे गंभीर के साथ मिलकर चाय के विश्राम तक टीम का स्कोर चार विकेट पर 189 रन पर ले गए।

गंभीर चाय के विश्राम के समय 98 रन पर खेल रहे थे। उन्होंने इसके बाद प्रथम श्रेणी मैचों में अपना 38वां शतक पूरा करके चयनकर्ताओं को भी कड़ा संदेश भेजा। धर्मेंद्रसिंह जडेजा ने हालांकि भाटिया को बोल्ड कर इस साझेदारी को तोड़ा। जबकि भट ने विकेटकीपर बल्लेबाज पुनीत बिष्ट (17) को पवेलियन भेजा। स्टंप के समय गंभीर के साथ परविंदर अवाना खेल रहे थे। उन्हें अभी अपना खाता खोलना है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
Indian Super League 2017 Points Table

Indian Super League 2017 Schedule