scorecardresearch

शूटिंग वर्ल्ड कप में राही सरनोबत ने दिलाया भारत को पहला गोल्ड, तीरंदाजी में रांची की दीपिका वर्ल्ड नंबर-1 बनीं

क्रोएशिया के ओसियेक में सरनोबत ने महिलाओं की 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में सोमवार (28 जून) को स्वर्ण पदक जीता जबकि युवा खिलाड़ी मनु भाकर सातवें स्थान पर रहीं।

शूटिंग वर्ल्ड कप में राही सरनोबत ने दिलाया भारत को पहला गोल्ड, तीरंदाजी में रांची की दीपिका वर्ल्ड नंबर-1 बनीं
राही सरनोबत ने शूटिंग तो दीपिका कुमारी ने तीरंदाजी में देश का नाम रोशन किया। (फोटो- ट्विटर)

भारत की स्टार शूटर राही सरनोबत ने टोक्यो ओलंपिक से पहले ISSF शूटिंग वर्ल्ड कप में स्वर्ण पदक जीत लिया। क्रोएशिया के ओसियेक में सरनोबत ने महिलाओं की 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में सोमवार (28 जून) को स्वर्ण पदक जीता जबकि युवा खिलाड़ी मनु भाकर सातवें स्थान पर रहीं। मौजूदा विश्व कप में भारत के लिए यह पहला स्वर्ण पदक है। इससे पहले भारतीय निशानेबाजों ने एक रजत और दो कांस्य पदक जीते है।

दूसरी ओर, तीरंदाजी विश्व कप के तीसरे चरण में तीन स्वर्ण पदक जीतने वाली भारत की स्टार तीरंदाज दीपिका कुमारी विश्व रैंकिंग में फिर से शीर्ष पर काबिज हो गईं। रांची की रहने वाली इस 27 वर्षीय खिलाड़ी ने पहली बार 2012 में नंबर एक रैंकिंग हासिल की थी। उन्होंने रविवार को रिकर्व की तीन स्पर्धाओं-महिलाओं की व्यक्तिगत, टीम और मिश्रित युगल में स्वर्ण पदक जीते थे। विश्व तीरंदाजी ने दीपिका के शानदार प्रदर्शन के बाद ट्वीट किया, ‘‘इससे दीपिका सोमवार को विश्व रैंकिंग में नंबर एक स्थान हासिल कर लेगी।’’

दीपिका विश्व कप में अब तक कुल नौ स्वर्ण, 12 रजत और सात कांस्य पदक जीत चुकी हैं। अगले महीने होने वाले टोक्यो ओलंपिक से पहले भारत का यह इस वैश्विक प्रतियोगिता में बेहतरीन प्रदर्शन रहा। दीपिका की तीन स्वर्ण पदक दिलाने में अहम भूमिका रही। उन्होंने महिला व्यक्तिगत रिकर्व स्पर्धा के फाइनल में रूस की एलिना ओसिपोवा को 6-0 से हराकर एक दिन में स्वर्ण पदकों की हैट्रिक पूरी की। इससे पहले वह मिश्रित और महिला रिकर्व टीम के स्वर्ण पदक जीतने वाली टीम का हिस्सा थीं।

वहीं, तीस साल की सरनोबत ने क्वालीफाइंग में 591 अंक के साथ दूसरे स्थान पर रहने के बाद फाइनल में 39 का स्कोर किया। उन्होंने फाइनल के तीसरे, चौथे, पांचवे और छठी सीरीज में पूरे अंक हासिल किए। फ्रांस की मथिल्डे लामोले को रजत पदक मिला, जिन्होंने फाइनल में 31 अंक बनाए। जीत के बाद सरनोबत ने कहा,‘‘स्वर्ण पक्का होने के बाद आखिरी कुछ सीरीज में मैने प्रयोग किया। मैं कुछ चीजें आजमाना चाहती थी और मैंने वही किया। यह प्रतियोगिता पदक या प्रदर्शन के बारे में नहीं थी क्योंकि मैं कुछ नया आजमा रही थी जो मैं ओलंपिक में करूंगी। यह ओलंपिक से पहले आखिरी टूर्नामेंट है और यहां आजमाने का आखिरी मौका था।’’

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 28-06-2021 at 07:22:04 pm
अपडेट