ताज़ा खबर
 

PWL: रोमांचक मुकाबले में दिल्ली के वीर हारे, पंजाब के जियालों ने चटाई धूल

पंजाब के लड़ाकों ने दिल्ली के वीरों की परेशानी बढ़ा दी। पेशेवर कुश्ती लीग के रोमांचक मुकाबले में पंजाब रायल्स ने दिल्ली वीर को रोमांचक मुकाबले में 4-3 से हरा कर अंकतालिका में तीसरे स्थान पर कब्जा जमा लिया है।

पेशेवर कुश्ती लीग (पीडब्ल्यूएल)। (PTI)

पंजाब के लड़ाकों ने दिल्ली के वीरों की परेशानी बढ़ा दी। पेशेवर कुश्ती लीग के रोमांचक मुकाबले में पंजाब रायल्स ने दिल्ली वीर को रोमांचक मुकाबले में 4-3 से हरा कर अंकतालिका में तीसरे स्थान पर कब्जा जमा लिया है। दिल्ली वीर की यह लगातार तीसरी हार है और इस हार के साथ वह अंकतालिका में सबसे नीचे यानी छठे स्थान पर है। उसे अभी अपने अंकों का खाता खोलना है।

हयात होटल में आयोजित लीग के हरियाणा चरण के अंतिम दिन पंजाब रायल्स को दिल्ली वीर ने जोरदार टक्कर दी लेकिन पंजाब के स्टार पहलवान प्रवीण राणा ने अंतिम और निर्णायक मुकाबले में बेहतरीन डिफेंस, चपला आक्रमण और सूजबूझ से कुश्ती लड़ी। उन्होंने 74 किलो वर्ग में आक्रमण और संयम दोनों का सही तालमेल बैठाया और दूसरे दौर के शुरू मे हीं 5-1 की बढ़त बना कर कुश्ती को अपने पक्ष में कर लिया था। पहले दौर में दिल्ली के दिनेश कुमार ने उन्हें बराबरी की टक्कर दी। लेकिन प्रवीण ने दूसरे दौर में अपनी चपलता से दिनेश पर दांव लगाया।

दिनेश ने दांव से बचाव की कोशिश तो की लेकिन तब तक प्रवीण ने चार अंक बना कर बढ़त मजबूत किया और मुकाबले को पंजाब के पक्ष में ला खड़ा किया था। तब दो मिनट का समय बाकी थी। दिनेश ने वापसी की कोशिश की लेकिन प्रवीण के डिफेंस को वे तोड़ नहीं पाए। प्रवीण ने उन्हें दांव लगाने से दूर रखा। इस बीच डैंजर जोन से बाहर ले जाकर दिनेश ने एक अंक जरूर लिया लेकिन यह अंक काफी नहीं था। अंतिम समय में प्रवीण ने एक अंक और बना कर कुश्ती को एकतरफा बना लिया। दर्शकों के बीच मौजूद पंजाब वारियर्स के सह मालिक फिल्म अभिनेता धर्मेेंद्र मुकाबला शुरू होने से पहले तनाव में थे लेकिन प्रवीण की जीत ने उनके चेहरे पर मुस्कान बिखेर दी। कुश्ती जीतने के बाद प्रवीण सबसे पहले धर्मेंद्र से ही मिले और धर्मेंद्र ने उन्हें गले से लगा कर उनकी जीत को सराहा।

दिन की बेहतरीन कुश्ती भारत की स्टार पहलवान और दिल्ली की आइकन खिलाड़ी विनेश फोगाट ने लड़ी। राष्ट्रमंडल खेलों में दो बार की स्वर्ण पदक विजेता विनेश ने अखाड़े में अपनी फुर्ती और चपलता से 48 किलो वर्ग के मुकाबले में पंजाब की याना रतिगान को कभी भी जमने नहीं दिया। पहले दौर से ही उन्होंने काला जंघ लगा कर 0-3 की बढ़त ले ली थी। हालांकि दूसरे दौर में राष्ट्रमंडल खेलों की रजत पदक विजेता याना ने वापसी की और चार अंक बना कर बढ़त बना ली। लेकिन इसके बाद अखाड़े पर विनेश का दबदबा रहा। उन्होंने अपनी विदेशी प्रतिद्वंद्वि को अपने दांव से हैरान भी किया और परेशान भी। उनके दांवों का याना के पास जवाब नहीं था। उन्होंने तो बाद में लगातार दांव लगा कर अंक बटोरे और मैच को 15-6 के बड़े अंतर से कुश्ती जीती। विनेश को उनके चमकदार प्रदर्शन के लिए दिन का श्रेष्ठ पहलवान का पुरस्कार भी दिया गया।

दिन के पहले मुकाबले में पुरुषों के 57 किलो गराम भार वर्ग में विश्व चैंपियनशिप के स्वर्ण पदक विजेता खिंचेगाशविल ने विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता एर्नेबात बेखबायर को 4-3 से हराकर पंजाब को बेहतर शुरुआत दिलाई। विश्व चैंपियनशिप में दो बार की रजत पदक विजेता महिला पहलवान वासिलिसा मार्जाल्यूक ने इस बढ़त को 2-0 कर दिया। महिलाओं के 69 किलोग्राम भार वर्ग में वासिलिसा ने शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने दिल्ली वीर की निक्की को हराने में बहुत मशक्कत नहीं करनी पड़ी। शुरूआती मिनटों में ही उन्होंने निक्की को दबोचा और अंक बनाने का सिलसिला शुरू किया। मुकाबले में उनके दबदबे को इसी समझा जा सकता है कि पहले मिनट में ही वे 8-0 से आगे थीं।

इसके बाद जब दो अंक और उन्होंने बनाए तो तकनीकी आधार पर 10-0 की बढ़त लेकर वे विजेता बनीं। पहले दौर में ही मुकाबला जीत कर वे अखाड़े से बाहर निकलीं। विश्व चैंपियनशिप के रजत पदक विजेता नवरू जोव इखतियोर ने पुरुषों के 65 किग्रा में पंजाब के रजनीश को 4-0 से हरा कर दिल्ली वीर को जीत की राह पर लगाया। विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता येसिलिरमार्क एलिफ जेल ने महिलाओं के 58 किग्रा वर्ग में में गीता फोगाट को हराकर दिल्ली को बराबरी दिला दी। लेकिन पुरुषों के 125 किग्रा वर्ग पंजाब के जर्गालशेखान चुलुबात ने दिल्ली के कृष्ण को हराकर टीम को 3-2 से आगे किया। विनेश ने जीत दर्ज कर मुकाबला को बराबरी पर ला दिया लेकिन निर्णायक मुकाबले में प्रवीण ने जीत दर्ज कर मुकाबले को पंजाब के पक्ष में 4-3 से कर दिया।

इससे पहले गुरुवार को एडलिन ग्रे की अगुआई वाली मुंबई गरू ड़ ने उत्तर प्रदेश वारियर्स पर 5-2 से आसान जीत दर्ज की। विश्व चैंपियनशिप के रजत पदक विजेता पुरेवजाव उनुरबाट ने उम्मीदों के मुताबिक पहला मुकाबला जीता लेकिन इसके बाद उत्तर प्रदेश केवल एक और मुकाबला ही जीत पाया और उसे करारी हार झेलनी पड़ी। शुरुआती मुकाबला एकतरफा रहा जिसमें उनुरबाट ने पुरुषों के 74 किग्रा में मुंबई के प्रदीप को केवल एक मिनट 45 सेकेंड में 12-1 से आसानी से हराया। मुंबई की साक्षी मलिक ने इसके बाद महिलाओं के 58 किग्रा में उत्तर प्रदेश की सरिता को 3-2 के करीबी अंतर से हराकर स्कोर 1-1 से बराबर किया।

राहुल अवारे ने 57 किग्रा में उत्तर प्रदेश के जयदीप कुमार को 11-0 से हराकर मुंबई को बढ़त दिलाई। इसके बाद उत्तर प्रदेश को वापसी दिलाने का दारोमदार कप्तान बबिता पर था लेकिन महिलाओं के 53 किग्रा में आडेकुरोये ने उन्हें तीन मिनट 34 सेकेंड में 10-0 से पराजित कर दिया। इससे मुंबई गरुड़ ने 3-1 से मजबूत बढ़त हासिल कर ली। मुंबई के ओडिकादजे एलिजबार ने 97 किग्रा में उत्तर प्रदेश के सत्यव्रत कादियान को 12-0 से हराकर अपनी टीम को 4-1 से अजेय बढ़त दिला दी। मुंबई के आइकन खिलाड़ी कप्तान एडलिन ग्रे ने इसके बाद एलिना स्टेडिनिक मखीनिया को आसानी से 10-0 से हराया। उत्तर प्रदेश के गांजोरिग मंडाखारन ने पुरुषों के 65 किग्रा में मुंबई के अमित धनकड़ को 7-4 से हराकर हार का अंतर कुछ कम किया।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories