ताज़ा खबर
 

मुंबई गरुड़ पेशेवर कुश्ती लीग के फाइनल में

मुंबई गरुड़ पहली पेशेवर कुश्ती लीग के फाइनल में जगह बनाने वाली पहली टीम बन गई है। शुक्रवार को इंदिरा गांधी खेल परिसर के केडी जाधव स्टेडियम में खेले गए पहले सेमीफाइनल में उसने बंगलुरु योद्धा को एकतरफा रहे मुकाबले में हरा कर फाइनल में शान से जगह बनाई..

मुंबई गरुड़ पहली पेशेवर कुश्ती लीग के फाइनल में जगह बनाने वाली पहली टीम बन गई है। शुक्रवार को इंदिरा गांधी खेल परिसर के केडी जाधव स्टेडियम में खेले गए पहले सेमीफाइनल में उसने बंगलुरु योद्धा को एकतरफा रहे मुकाबले में हरा कर फाइनल में शान से जगह बनाई। मुंबई की टीम इस कुश्ती लीग में अभी तक अजेय रही है। लीग के अपने पांचों मुकाबले जीत कर वह अंकतालिका में टाप पर रही थी। शुक्रवार को सेमीफाइनल मुकाबला जीत कर उसने अपने जीत के सिलसिले को बनाए रखा। मुंबई के पहलवानों ने मैच को एकतरफा बना डाला और पहले चार मुकाबले जीत कर बंगलुरु को लीग से बाहर कर फाइनल में जगह बनाई।

फाइनल में उसका मुकाबला शनिवार को होने वाले हरियाणा हैमर्स और पंजाब रायल्स के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा। फाइनल रविवार को खेला जाएगा। हालांकि शुक्रवार को देर तक भ्रम की स्थिति बनी रही कि सेमीफाइनल किन टीमों के बीच खेला जाएगा। गुरुवार देर रात तक कुश्ती फेडरेशन ने कुछ भी जानकारी देने से मना कर दिया था। आधिकारिक वेबसाइट पर जो कार्यक्रम दिया गया था उसके मुताबिक पहला सेमीफाइनल पहले व दूसरे स्थान पर रहने वाली टीमों और दूसरा सेमीफाइनल तीसरे व चौथे स्थान पर रहने वाली टीमों के बीच होना बताया गया था। वेबसाइट पर मुंबई लीग मुकाबले के बाद पहले और हरियाणा दूसरे स्थान पर रहा था लेकिन सुबह बताया गया कि पहला सेमीफाइनल मुंबई और पंजाब के बीच होगा। लेकिन भ्रम की स्थिति बनी रही। फेडेरशन ने कहा कि पंजाब दूसरे और हरियाणा तीसरे स्थान पर रहा है। लेकिन शाम में पहला सेमीफाइनल मुंबई और बंगलुरु के बीच खेला गया।

मुंबई की टीम ने पहले चार मुकाबले जीत कर ही बंगलुरु को सेमीफाइनल से बाहर कर दिया था। टास मुंबई टीम की कप्तान एडिलेन ग्रे ने जीता और नियमों के मुताबिक उन्होंने पुरुषों के 58 किलोग्राम वर्ग में बंगलुरु के पहलवान संदीप तोमर को ब्लाक कर दिया। बंगलुरु के कप्तान नरसिंह पंचम यादव ने महिलाओं के 57 किलोग्राम वर्ग में साक्षी मलिक को ब्लाक कर दांव खेला लेकिन मुंबई के पहलवानों ने बंगलुरु को अपने दांव में उलझा कर सेमीफाइनल से आगे बढ़ने नहीं दिया। भारतीय कुश्ती में पहचान बना चुके नरसिंह और बजरंग पुनिया ने अपने-अपने मुकाबले जीत कर बंगलुरु को न सिर्फ यह कि पूरे सफाए से बचाया बल्कि टीम की प्रतिष्ठा भी बचाई। मुंबई ने शुक्रवार को पूरी तरह अपना दबदबा बनाए रखा। बंगलुरु के पहलवानों से उन्हें कभी भी कड़ी चुनौती नहीं मिली।

ओडिकाडजे एलिजबार ने पहले मुकाबले में पुरुषों के 97 किग्रा में पावलो ओलियनिक को 7-2 हरा कर मुंबई को बेहतरीन शुरुआत दिलाई। पहले दौर में 3-2 से आगे जार्जिया के एलिजबार ने दूसरे दौर में कुछ बेहतरीन पेशबंदियां कीं और अपने उक्रेनी प्रतिद्वंद्वि को मुकाबले में कभी लौटने का मौका नहीं दिया। सिंग्ल लेग अटैक के जरिए उन्होंने चार अंक और बना कर मुकाबला 7-2 से जीता। महिलाओं के 48 किलोग्राम वर्ग में रितू फोगाट ने बेहतरीन कुश्ती लड़ी। उन्होंने अमेरिका की 2013 की विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता अलीसा लेंपे को 10-4 से हराया।पहले दौर में वे पिछड़ीं। गुरुवार को हरियाणा के खिलाफ जीत दर्ज करने वाली रितु ने दांव लगाया जरूर लेकिन उनकी अमेरिकी प्रतिद्वंद्वि ने न सिर्फ उनके दांव को बेकार किया बल्कि अपना दांव लगा कर चार अंक बना कर रितु को परेशानी में डाला। लेकिन दूसरे दौर में रितु ने शानदार वापसी की। अपनी तेजी, चपलता और सूझबूझ के जरिए उन्होंने लिंपे को कभी भी आक्रमण का मौका नहीं दिया। रितु ने सिंग्ल लेग अटैक के सहारे ही उन्हें अपने दांव में लपेटा और दूसरे दौर में दस अंक की बढ़त लिया और फिर अलीसा को बेहतरीन चित कर मुकाबला जीत लिया।

रितू ने बाद में कहा कि पहले दौर में मैं चार अंकों से पीछे थी। तब मेरे कोच ने कहा कि अलीसा को थकाओ और मैंने वैसा ही किया। वे जब थक गर्इं तो मैं ने अपने दांव में उन्हें लपेटा। पुरुषों के 125 किग्रा भार वर्ग में जार्जिया के जियोर्जी सैकनडेलिद्ज का मुकाबला हमवतन मोद्जमानशविलि दावित से था। दावित ने अपने मजबूत प्रतिद्वंद्वी को ब्रेक तक 2-2 से बराबरी पर रखा था लेकिन इसके बाद जियोर्जी ने दूसरे दौर में अच्छा प्रदर्शन किया और 7-4 से जीत दर्ज करके मुंबई को 3-0 से आगे कर दिया। महिलाओं के 53 किग्रा में ओडुनायो अडेकुओरोये ने अपना अजेय अभियान जारी रखा। उन्होंने ललिता सहरावत को 10-0 से हराकर मुंबई को 4-0 से अजेय बढ़त दिलाकर फाइनल में जगह पक्की कर दी।

ओडुनायो लीग में पूरी लय में हैं। दर्शकों की चहेती इस पहलवान ने ललिता को फतह करने में करीब सवा मिनट का समय लगाया। पहले दस मिनट में ही काला जंघ दांव पर ललिता को उन्होंने लपेटा और 4-0 की बढ़त बनाई। ओडुनायो के दांव के सामने ललिता बेबस नजर आर्इं। ओडुनायो ने उनकी कमजोरी का फायदा उठा कर फितले लगाया और छह अंक बना कर कुश्ती जीत ली। इसके बाद बंगलुरु के लिए कुछ नहीं बचा था। वह अपना सम्मान बचाने के लिए ही लड़ रहा था। उसके आइकन खिलाड़ी नरसिंह यादव ने पुरुषों के 74 किग्रा में प्रदीप को 7-0 से हराया। नरसिंह को शनिवार को बेहतरीन पहलवान का पुरस्कार मिला। लेकिन इस पुरस्कार की हकदार रितु, ओडुनायो या फिर एडलिन ग्रे थीं। जिन्होंने शनिवार को अखाड़े में अपना दबदबा बनाए रखा। मुंबई की आइकन खिलाड़ी एडलिन ग्रे ने महिलाओं के 69 किग्रा में नवजोत कौर को तीन मिनट के भीतर चित कर मुंबई कके जीत के अंतर को बढ़ाया। भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया ने दिन के अखरी मुकाबले में अमित धनक्कड़ को 10-4 से हरा कर अपनी श्रेष्ठता साबित की।

Next Stories
1 युवराज को 2014 के फाइनल में बेहतर प्रदर्शन नहीं करने का मलाल
2 बीसीसीआइ-वेस्ट इंडीज क्रिकेट बोर्ड के बीच गतिरोध खत्म
3 दिल्ली-एनसीआर सहित उत्तर भारत में भूकंप के झटके, अफगानिस्तान के हिन्दूकुश में केंद्र
ये पढ़ा क्या?
X