ताज़ा खबर
 

वर्ल्ड चैम्पियन पीवी सिंधु सिर्फ 25 मिनट में क्वार्टर फाइनल में पहुंचीं, 19 साल के लक्ष्य सेन ने रचा इतिहास

लक्ष्य सेन मेन्स सिंगल्स के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। वह इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट के अंतिम-8 में जगह बनाने वाले सबसे युवा भारतीय खिलाड़ी बने। अल्मोड़ा के रहने वाले 19 साल के लक्ष्य ने फ्रांस के थॉमस रूक्सेल को 21-18 21-16 से शिकस्त दी।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: March 19, 2021 12:30 AM
Ashwini Ponnappa Sikki Reddy PV Sindhu Lakshya Sen ALL England Badminton Championshipsपीवी सिंधु ने वुमन्स सिंगल्स, लक्ष्य सेन ने मेन्स सिंगल्स और अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी ने वुमन्स डबल्स के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। (ट्विटर @India_AllSports)

वर्ल्ड चैम्पियन पीवी सिंधु ने गुरुवार को ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैम्पियनशिप में वुमंस सिंग्लस के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। सिंधु ने अपनी ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन करते हुए डेनमार्क की लाइन क्रिस्टोफर्सेन को सिर्फ 25 मिनट में 21-8, 21-8 से हरा दिया। ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधु का अब अगला मुकाबला जापान की तीसरी वरीयता प्राप्त अकाने यामागुची से होगा।

लक्ष्य सेन बने सबसे युवा भारतीय

वहीं, लक्ष्य सेन मेन्स सिंगल्स के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। वह इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट के अंतिम-8 में जगह बनाने वाले सबसे युवा भारतीय खिलाड़ी बने। अल्मोड़ा के रहने वाले 19 साल के लक्ष्य ने फ्रांस के थॉमस रूक्सेल को 21-18 21-16 से शिकस्त दी। हालांकि, एचएस प्रणय और बीसाई प्रणीत की जोड़ी को पुरुष एकल के दूसरे दौर में हार का सामना करना पड़ा। लक्ष्य ने 2019 में पांच खिताब जीते थे। अब उनका सामना नीदरलैंड के मार्क कालजोऊ के बीच होने वाले मुकाबले के विजेता से होगा। वह एशियाई जूनियर चैम्पियनशिप खिताब, विश्व जूनियर चैम्पियनशिप का कांस्य और युवा ओलंपिक खेलों का रजत पदक भी जीत चुके हैं।

शीर्ष 10 रैंकिंग में में रह चुके प्रणय हालांकि दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी केंटो मोमोटा की बाधा पार नहीं कर पाए। जापान का यह खिलाड़ी दुर्घटना के बाद पहला टूर्नामेंट खेल रहा है जिसके कारण पिछले साल उन्हें आंख की सर्जरी करानी पड़ी थी। भारतीय खिलाड़ी को 48 मिनट तक चले मुकाबले में मोमोटा से 15-21 14-21 से हार मिली। दूसरी तरफ प्रणीत पहला गेम जीतने के बावजूद डेनमार्क के विक्टर एक्सलसेन से 21-15, 12-21, 12-21 से हार गए।

अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी ने किया उलटफेर

सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की मिश्रित युगल जोड़ी भी टूर्नामेंट से बाहर हो गई। उन्हें शुरुआती दौर में जापान के युकी कानेको और मिसाकी मातसुटोमो से 19-21 9-21 से हार का सामना करना पड़ा। हालांकि, अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी ने वुमन्स सिंगल्स के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया। पोनप्पा और सिक्की ने उलटफेर करते हुए छठी वरीयता प्राप्त बुल्गारिया की स्टोएवा बहनों को 21-17, 21-10 से हराया।

चोट के कारण हटीं साइना नेहवाल

पूर्व नंबर एक खिलाड़ी साइना नेहवाल को बुधवार को चोट लगने के कारण अपने शुरुआती महिला एकल मैच से हटने के लिए बाध्य होना पड़ा था, जबकि चार पुरुष खिलाड़ियों ने दूसरे दौर में प्रवेश किया था। साइना को दाईं जांघ में परेशानी हो रही थी। इस कारण उन्होंने बुधवार की रात को डेनमार्क की सातवीं वरीयता प्राप्त मिया ब्लिचफेल्ट के खिलाफ शुरुआती दौर के मैच में रिटायर होने का फैसला किया, तब वह 8-21 4-10 से पिछड़ रही थीं। मेन्स सिंगल्स में समीर वर्मा ने ब्राजील के यगोर कोल्हो को 21-11 21-19 से पराजित किया था।

अब समीर का सामना डेनमार्क के तीसरे वरीय एंडर्स एंटोनसेन से होगा। यह भारतीय खिलाड़ी जनवरी में टोयोटा थाईलैंड ओपन में मिली करीबी हार का बदला चुकता करना चाहेगा। मिश्रित युगल में प्रणव जेरी चोपड़ा और एन सिक्की रेड्डी को शुरुआती दौर में डेनमार्क के रास्मस एस्पर्सन और क्रिस्टिन बुश की जोड़ी से 15-21 17-21 से हार का सामना करना पड़ा।

Next Stories
1 सूर्यकुमार यादव ने ‘डेब्यू मैच’ में ही लगाई रिकॉर्ड्स की झड़ी, रोहित शर्मा ने भी की विराट कोहली की बराबरी
2 India vs England 4th T20: भारत ने 8 रन से जीता मैच, सीरीज में 2-2 से बराबरी की
3 ‘टीवी ऑन था और मैं ऐसे ही… क्या फर्क पड़ता है,’ कपिल शर्मा के शो में हेजल कीच ने सुनाई थी युवराज के 6 छक्के वाली कहानी
ये पढ़ा क्या?
X