ताज़ा खबर
 

‘सुपर सिंधू’ ने कैरोलिना मारिन को हराकर जीता इंडिया ओपन खिताब, पहली बार हासिल की यह ट्रॉफी

इस जीत से सिंधू और मारिन के बीच जीत का रिकार्ड 4-5 हो गया है। सिंधू ने पिछली बार मारिन को पिछले साल दुबई में बीडब्ल्यूएफ सुपर सीरीज में हराया था।

Author नई दिल्ली | April 2, 2017 21:00 pm
सिंधू और मारिन के बीच फाइनल में सभी की दिलचस्पी थी, जो रियो ओलंपिक के फाइनल मैच का रिप्ले था।

रियो ओलंपिक की रजत पदकधारी पीवी सिंधू ने शानदार प्रदर्शन करते हुए मौजूदा ओलंपिक चैम्पियन कैरोलिना मारिन को 21-19 21-16 से हराकर अपना पहला इंडिया ओपन सुपर सीरीज खिताब जीता। सिरीफोर्ट खेल परिसर में घरेलू दर्शकों के सामने तीसरी वरीय भारतीय ने फाइनल मुकाबले में शुरू से ही दबदबा बनाये रखा और स्पेन की खिलाड़ी को 46 मिनट में पराजित कर दिया। इस जीत से सिंधू और मारिन के बीच जीत का रिकार्ड 4-5 हो गया है। सिंधू ने पिछली बार मारिन को पिछले साल दुबई में बीडब्ल्यूएफ सुपर सीरीज में हराया था।

इससे पहले डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसने ने चीनी ताइपे के टिएन चेन चोऊ को सीधे गेम में शिकस्त देकर पुरूष एकल खिताब पर कब्जा किया। तीसरे वरीय एक्सेलसेन को चोऊ को 21-13 21-10 से हराने में महज 36 मिनट लगे जिसके बाद उन्होंने अपना पहला इंडिया ओपन खिताब हासिल किया। सिंधू और मारिन के बीच फाइनल में सभी की दिलचस्पी थी, जो रियो ओलंपिक के फाइनल मैच का रिप्ले था। भारतीय स्टार शटलर ने बदला चुकाने वाले इस मुकाबले में लाजवाब प्रदर्शन किया और वह इस दौरान आत्मविश्वास से भरी दिखीं।

आज के दिन सिंधू स्पेनिश खिलाड़ी से कहीं बेहतर थीं और वह सहजता से गेम में नियंत्रण बनाती दिखीं। मारिन ने कई अनफोर्स्ड गलतियां की जबकि सिंधू के ड्राप्स और ताकतवर क्रास कोर्ट स्मैश ने स्पेनिश खिलाड़ी को मैच पर कब्जा नहीं करने दिया। दोनों ही गेम में सिंधू ने शुरू से ही बढ़त बनायी। शुरूआती गेम में सिंधू ने 6-1 से बढ़त बना ली थी लेकिन मारिन ने धीरे धीरे वापसी की। पहले छह अंकों के बाद दुनिया की दो शीर्ष खिलाड़ियों के बीच यह मुकाबला काफी करीबी हो गया। सिंधू ने ब्रेक से पहले 11-9 की बढ़त बना ली थी। इसके बाद दिलचस्प मुकाबला जारी रहा, एक बार दोनों तब 16-16 से बराबरी पर आ गयी जब मारिन ने क्रास कोर्ट ड्राप शाट से शानदार रैली से अंक जुटाया।

गेम में पहली बार मारिन ने 19-18 की मामूली बढ़त बनायी लेकिन सिंधू ने स्मैश लगाकर वापसी कर अपनी प्रतिद्वंद्वी को कोई मौका नहीं दिया जिससे स्कोर 19-19 की बराबरी पर पहुंच गया। भारतीय खिलाड़ी इसके बाद गेम प्वाइंट पर पहुंच गयी और उन्होंने स्मैश लगाकर इसे अपने नाम कर लिया। दूसरे गेम में सिंधू ने यही लय जारी रखते हुए तेजी से अंक जुटाते हुए 4-0 की बढ़त बना ली। शुरूआती गेम की तरह ही मारिन ने धीरे से गेम में वापसी करते हुए इस अंतर को 6-7 कर दिया। लेकिन सिंधू आज अपनी प्रतिद्वंद्वी से कहीं आक्रामक थी, वह ब्रेक तक 11-9 की बढ़त हासिल करने में सफल रही और फिर अपना दबदबा कायम रखा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App