पीवी सिंधु ने पूछा- क्यों मेरे खेल को कहा जाता है ‘Bad’, मिला ये जवाब; देखें Video

भारत के लिए दो बार ओलंपिक मेडल जीतने वाली स्टार शटलर पीवी सिंधु ने एक वीडियो जारी करते हुए दिलचस्प सवाल पूछा है। उन्होंने कहा कि, हमारे खेल बैडमिंटन को ‘बैड’ क्यों कहा जाता है ?

pv-sindhu-asks-why-badminton-is-called-bad-know-the-history-behind-the-name-how-badminton-comes-from-united-kingdom-watch-video
पीवी सिंधु की कोर्ट की तस्वीर (सोर्स- Instagram @PVSindhu1)

भारत की स्टार महिला शटलर पीवी सिंधु ने अपने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर किया है। हालांकि ये पेड पार्टनरशिप का वीडियो है लेकिन इसमें जो सवाल उन्होंने पूछा है वो काफी दिलचस्प है। वहीं उसका जवाब उससे भी ज्यादा रोचक है। दरअसल दो बार की ओलंपिक पदक विजेता ने ये सवाल किया है कि उनके खेल बैडमिंटन को ‘बैड’ (Bad) यानी गंदा क्यों कहते हैं।

पीवी सिंधु अपने इस वीडियो में कहती हैं कि, ‘बचपन से ही मैं एक बैडमिंटन खिलाड़ी बनना चाहती थी। लोग मुझसे पूछते थे बैडमिंटन ही क्यों तो मैं कहती थी मैं इसे पसंद करती हूं। लेकिन हमेशा एक सवाल मेरे मन में आता है कि इसका नाम बैड-मिंटन क्यों पड़ा जबकि ये बिल्कुल भी गंदा (बैड) नहीं है।’

ऑनलाइन स्टडी प्लेटफॉर्म के इस वीडियो में सिंधु को उनके इस सवाल का जवाब भी मिलता है। जिसमें ये बताया जाता है कि बैडमिंटन बिल्कुल भी बैड या बुरा खेल नहीं है। बल्कि यूनाइटेड किंगडम में एक जगह के नाम पर इस खेल का नाम बैडमिंटन पड़ा।

‘बैडमिंटन’ को कैसे मिला ये नाम?

वर्ष 1873 में ग्लूस्टरशायर स्थित बैडमिंटन हाउस में इस खेल को शुरू किया गया था। उस समय तक, इसे “बैडमिंटन का खेल” नाम से जाना जाता था और बाद में इस खेल का आधिकारिक नाम बैडमिंटन पड़ गया। 1887 तक, ब्रिटिश भारत में जारी नियमों के ही तहत यह खेल खेला जाता रहा। 1887 में ही इस खेल के कई आधिकारिक नियम भी बनाए गए।

इसके बाद 1893 में, इंग्लैंड बैडमिंटन एसोसिएशन ने आज के नियमों जैसे ही, इन विनियमों के अनुसार नियमों का पहला सेट प्रकाशित किया और उसी साल 13 सितम्बर को इंग्लैंड के पोर्ट्समाउथ स्थित 6 वैवर्ली ग्रोव के “डनबर” नामक भवन में आधिकारिक तौर पर बैडमिंटन की शुरुआत हुई।

1899 में उन्होंने ऑल इंग्लैंड ओपन बैडमिंटन चैम्पियनशिप भी शुरू की, जो विश्व की पहली बैडमिंटन प्रतियोगिता बनी। भारत की तरफ से बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के पिता प्रकाश पादुकोण भारत के लिए ऑल इंग्लैंड ओपन बैडमिंटन चैम्पियनशिप जीतने वाले पहले शटलर हैं।

अंतर्राष्ट्रीय बैडमिंटन महासंघ (IBF) (जो अब विश्व बैडमिंटन संघ के नाम से जाना जाता है) इसकी स्थापना 1934 में हुई। कनाडा, डेनमार्क, इंग्लैंड, फ्रांस, नीदरलैंड, आयरलैंड, न्यूजीलैंड, स्कॉटलैंड और वेल्स इसके संस्थापक बने। भारत सन् 1936 में एक सहयोगी के रूप में शामिल हुआ। बीडब्ल्यूएफ अब अंतर्राष्ट्रीय बैडमिंटन खेल को नियंत्रित करता है और खेल को दुनिया भर में विकसित करता है।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट