ताज़ा खबर
 

पिछले 48 घंटे के दौरान WWE के तीन-तीन पहलवानों की गई जान

पूरी दुनिया में आज रैसलिंग को काफी पसंद किया जाता है। यह एक ऐसा खेल है जिसमें फैन्स अपने पसंदीदा रैसलर को जितते हुए देखना चाहते हैं। रिंग में कई बार रेसलर की मौत लड़ते-लड़ते भी हुई है। आपको यह जानकर धक्का लगेगा कि पिछले 48 घंटे के दौरान रैसलिंग की दुनिया के तीन प्रोफेशनल रैसलर की मौत हो गई है।

निकोलाई वोलकॉफ, ब्रिकहाउस ब्राउन और ब्रायन क्रिस्टोफर।

प्रोफेशनल रैसलिंग के लिए रविवार 29 जुलाई का दिन बेहद दुखदायी रहा। पूरी दुनिया में आज रैसलिंग को काफी पसंद किया जाता है। यह एक ऐसा खेल है जिसमें फैन्स अपने पसंदीदा रैसलर को जितते हुए देखना चाहते हैं। रिंग में कई बार रेसलर की मौत लड़ते-लड़ते भी हुई है। आपको यह जानकर धक्का लगेगा कि पिछले 48 घंटे के दौरान रैसलिंग की दुनिया के तीन प्रोफेशनल रैसलर की मौत हो गई है। यह तीनों रैसलर्स WWE नेटवर्क पर लगातार नजर आ रहे थे, लेकिन एक ही दिन में इन तीनों की मौत ने सबको हैरत में डाल दिया है। 70 साल के निकोलाई वोलकॉफ पिछले कुछ समय से स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से गुजर रहे थे, उन्हें डीहाइड्रेशन समेत कई अन्य बीमारियां परेशान कर रही थी। इस वजह से वह कुछ समय से अस्पताल में भर्ती थी, लेकिन हाल ही में उन्हें डिसचार्ज कर दिया गया था। घर पर आने के बाद उन्हें एक बार फिर समस्या हुई और मौत हो गई। निकोलाई वोलकॉफ ने साल 1967 में रैसलिंग में डेब्यू किया था और इसके बाद से उन्होंने रैसलिंग की दुनिया में कई उपलब्धि हासिल की।

शायद ही कोई ऐसा इंसान हो जो ब्रायन क्रिस्टोफर के नाम से परिचित ना हो। रैसलिंग लैजेंड जैरी “द किंग” लॉलर के बेटे ब्रायन क्रिस्टोफर का निधन भी वोलकॉफ के साथ ही हुई। ब्रायन की मौत किसी बीमारी की वजह से नहीं बल्कि सुसाइड के कारण हुआ।रविवार को ब्रायन ने फांसी लगा ली, जब तक उन्हें अस्पताल ले जाया जाता वह मर चुके थे। सुसाइड के पीछे की वजह अभी तक पता नहीं चल पाई है।

वहीं ब्रिकहाउस ब्राउन की मौत कैंसर की वजह से हुई। साल 1980 में रैसलिंग में डेब्यू करने वाले ब्राउन ने विंस मैकमैहन के साथ भी काफी टाइम बिताया था और वह उनके काफी करीबी माने जाते थे। रैसलिंग से जुड़े कई बड़े लोगों ने इन तीनों रैसलर्स की मौत पर सोशल मीडिया के जरिए दुख जताया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App