‘टोक्यो ओलंपिक में मिला भारत को पहला गोल्ड’, रेसलिंग चैंपियन प्रिया मलिक को बधाई देते हुए लोगों ने की बड़ी गलती

टोक्यो ओलंपिक के दूसरे दिन रविवार सुबह सोशल मीडिया पर भारत को पहला गोल्ड मेडल मिलने के संदेश वायरल होने लगे। साथ में ट्रेंड हो रहा था भारतीय महिला रेसलर प्रिया मलिक का नाम।

people-congratulated-priya-malik-for-winning-first-gold-of-tokyo-olympics-instead-of-world-wrestling-championship
रेसलिंग चैंपियन प्रिया मलिक को बधाई देते हुए लोगों ने की बड़ी गलती (Source: twitter)

टोक्यो ओलंपिक की शुरुआत शुक्रवार से हो चुकी है। प्रतियोगिताओं के पहले दिन ही भारतीय वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने भारत की पदक तालिका में सिल्वर मेडल जोड़कर इतिहास रचा था। उसके बाद रविवार सुबह कुछ ऐसा हुआ कि जिसे लेकर हर कोई कंफ्यूज था। सुबह से ही सोशल मीडिया पर भारत को पहला गोल्ड मेडल मिलने के संदेश वायरल होने लगे। साथ में ट्रेंड हो रहा था भारतीय महिला रेसलर प्रिया मलिक का नाम।

हर किसी को ये लग रहा था कि भारत को खेलों के महाकुंभ में गोल्ड मेडल मिला है, लेकिन सच कुछ और ही था। दरअसल हुया ये कि भारतीय महिला रेसलर प्रिया मलिक ने हंगरी के बूडापेस्ट में जारी विश्व कैडेट कुश्ती चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल जीता । पर लोगों को इसे लेकर गलतफहमी हो गई और उन्होंने इसे ओलंपिक से जोड़कर प्रिया मलिक के नाम और भारत के लिए बधाई संदेश भेजना शुरू कर दिया। हर किसी को ये लग रहा था कि भारत को टोक्यो ओलंपिक में पहला गोल्ड मिल गया है।

आप देख सकते हैं कि किस तरह लोगों से इतनी बड़ी गलती हो गई और उन्होंने टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड मेडल मिलने को लेकर ट्वीट किए।

गौरतलब है कि बूडापेस्ट में हुए विश्व कुश्ती कैडेट चैंपियनशिप में भारतीय महिला रेसलर प्रिया मलिक ने बेलारूस की सेनिया पटापोविच को 5-0 से हराकर 73 किलोग्राम भार वर्ग का खिताब अपने नाम किया।

उनके अलावा अन्य भारतीय महिला रेसलर तनु ने भी अपनी प्रतिद्वंदी बेलारूस की वालेरिया मिकिसिच को मात देते हुए 43 किलोग्राम वर्ग में स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट