ताज़ा खबर
 

अवध ने चेन्नई को हराया, हंटर्स सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर

अवध वारियर्स ने सायना नेहवाल के बिना भी शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए सोमवार को यहां प्रीमियर बैडमिंटन लीग (पीबीएल) के सेमीफाइनल में अपनी जगह लगभग सुरक्षित की..

Author हैदराबाद | January 12, 2016 1:46 AM
हैदराबाद हंटर्स के मार्किस किडो और ज्वाला गुट्टा के खिलाफ मुकाबले के दौरान मुंबई राकेट्स के व्लादिमीर इनावोव (दाएं) और कैमिला जूही।

अवध वारियर्स ने सायना नेहवाल के बिना भी शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए सोमवार को यहां प्रीमियर बैडमिंटन लीग (पीबीएल) के सेमीफाइनल में अपनी जगह लगभग सुरक्षित की लेकिन हैदराबाद हंटर्स का निराशाजनक प्रदर्शन जारी रहा। वारियर्स ने शाम के मैच में चेन्नई स्मैशर्स को 4-1 से हराया लेकिन हंटर्स को इससे पहले मुंबई राकेट्स के हाथों 1-4 से हार का सामना करना पड़ा जिससे वह सेमीफाइनल की दौड़ से भी बाहर हो गया।

अवध वारियर्स ने कप्तान सायना नेहवाल के बिना भी अपना अच्छा प्रदर्शन जारी रखा। दोनों टीमें पहले चार मैच के बाद 2-2 से बराबरी पर थी और ऐसे में सारा दारोमदार मिश्रित युगल पर टिका था जिसे दोनों टीमों ने अपना-अपना ट्रंप मैच बनाया था। इस मैच में हालांकि अवध वारियर्स के बोडिन इसारा और क्रिस्टीना पेडरसन ने चेन्नई के क्रिस एडकाक और पिया जेबाडियाह को 15-7, 15-10 से हराकर अपनी टीम को शानदार जीत दिलाई। मुकाबले की शुरुआत पुरुष एकल से हुई। इसमें पहले मैच में चेन्नई के ब्राइस लेवरडेज ने वारियर्स के तानोंगसाक सेमसोमबूनसाक को 15-13, 15-9 से हरा कर स्मैशर्स को शुरुआती बढ़त दिलाई। वारियर्स के साई प्रणीत ने हालांकि पुरुष एकल में तीन गेम तक चले अगले मैच में टोनी सुनकोरो को 12-15 15-8 15-13 से पराजित करके स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया।

पुरुष युगल में वारियर्स की काई युन और हेंड्रा गुनावन ने चेन्नई के प्रणव चोपड़ा और टोबी एनी को 5-13 15-11 से पराजित करके अपनी टीम को बढ़त दिला दी। स्टार भारतीय खिलाड़ी पीवी सिंधू ने हालांकि सायना की जगह पर महिला एकल में खेल रही वारियर्स की वर्षाली गुमादी को आसानी से 15-7, 15-3 से हराकर मैच को फिर से बराबरी पर ला दिया। मुकाबला बेहद रोमांचक बन गया था क्योंकि दोनों टीमों ने मिश्रित युगल को ट्रंप मैच चुना था। यह मैच निर्णायक भी बन चुका था। वारियर्स की जोड़ी ने पहले गेम में शुरू में बढ़त हासिल की और उसे आखिर तक बनाए रखा। दूसरे गेम में एक समय स्कोर 10-10 से बराबरी पर था। यहां पर इसारा और पेडरसन ने लगातार पांच अंक बनाकर अपनी टीम को शानदार जीत दिलाई।

इससे पहले भारत के उदीयमान शटलर एच एस प्रणय ने ट्रंप मैच में हमवतन पारूपल्ली कश्यप को हराया जिससे मुंबई राकेट्स ने हैदराबाद हंटर्स पर आसान जीत दर्ज की। गुरुसाईदत्त ने हैदराबाद के उदीयमान शटलर सिरिल वर्मा को पुरुष एकल में अपने ट्रंप मैच में 15-12, 15-4 से हराकर अपनी टीम को दो अंक की बढ़त दिलायी। प्रणय ने हालांकि पुरुष एकल ने कश्यप को 15-11, 15-13 से हराकर उलटफेर किया। यह हैदराबाद का ट्रंप मैच था। इससे हैदराबाद की उम्मीदें समाप्त हो गईं।

चोट से उबरने के बाद पीबीएल में अभी तक अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने में नाकाम रहे कश्यप का निराशाजनक प्रदर्शन जारी रहा। मुंबई के प्रणय ने इस उलटफेर भरी जीत के बाद कहा कि यह हमारे लिए बेहद महत्त्वपूर्ण मैच था क्योंकि हम पहले दो मैच हार चुके थे और मुझे खुशी है कि मैं अपनी टीम का खाता खोलने में सफल रहा। यह उनके लिए ट्रंप मैच था और मैं जीत दर्ज करने में सफल रहा।हैदराबाद की जोड़ी ज्वाला गुट्टा व मार्किस किडो और मुंबई की कैमिला जूही व व्लादीमीर इवानोव के बीच मिश्रित युगल मैच में भी हैदराबाद को निराशा का सामना करना पड़ा। डेनमार्क और रूस की जोड़ी ने भारतीय-इंडोनेशियाई जोड़ी को 15-8, 15-8 से पराजित किया। हैदराबाद ने महिला एकल और पुरुष युगल मैच जीतकर दो अंक बनाए थे लेकिन ट्रंप मैच गंवाने से उसकी उम्मीदें समाप्त हो गईं। महिला एकल में हैदराबाद की सुपानिंदा के ने मुंबई की लियु झी डी को करीब मुकाबले में 13-15, 15-14, 15-14 से हराया।

हैदराबाद की पुरुष युगल जोड़ी कार्लसन मोगेनसन और मार्किस किडो ने चायुट टी और व्लादीमीर इवानोव के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करके 15-7, 15-14 से जीत दर्ज की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App