ताज़ा खबर
 

पीबीएल से मिलेगी तैयारी में मदद : कश्यप

चोट के कारण ढाई महीने बाहर रहने वाले पारूपल्ली कश्यप की नजरें अगले महीने होने वाली प्रीमियर बैडमिंटन लीग (पीबीएल) के साथ वापसी करने पर टिकी हैं...

Author नई दिल्ली | Published on: December 22, 2015 4:34 AM
Parupalli Kashyap, korea open, Parupalli Kashyap Korea, Parupalli Kashyap News, Parupalli Kashyap latest Newsपारूपल्ली कश्यप (फाइल फोटो)

चोट के कारण ढाई महीने बाहर रहने वाले पारूपल्ली कश्यप की नजरें अगले महीने होने वाली प्रीमियर बैडमिंटन लीग (पीबीएल) के साथ वापसी करने पर टिकी हैं और इस स्टार भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी ने कहा कि टूर्नामेंट उन्हें जरूरी अभ्यास का मौका देगा और नए सत्र की तैयारी में मदद करेगा। कश्यप को अक्तूबर में फ्रेंच ओपन सुपर सीरीज के दूसरे दौर के मुकाबले के दौरान बाएं पैर की पिंडली में चोट लगी थी। इसके बाद उनके दाएं घुटने में भी परेशानी हुई जिसके कारण उनकी वापसी टल गई।

कश्यप ने कहा कि अब मैं बेहतर महसूस कर रहा हूं। मैं एक हफ्ते से खेल रहा हूं। बाएं पैर की पिंडली की मांसपेशी में चोट थी जिससे उबरने में छह हफ्ते का समय लगा लेकिन इसके बाद दाएं पैर के घुटने में परेशानी हुई क्योंकि संभवत: मैंने इस पर ज्यादा दबाव डाल दिया था। इसे ठीक होने में 10 दिन का और समय लगा और यही कारण है कि वापसी में विलंब हुआ और अब चोट के बाद नौवां हफ्ता है। अगर यह चोट नहीं होती तो अब तक मैं अब तक पूरी तरह ट्रेनिंग में जुट जाता। जब आप चोटिल होते हैं और महीने भर से भी ज्यादा समय तक बाहर रहते हैं तो फिर तेजी से उबरना आसान नहीं होता। मेरा वजन और स्टेमिना घटा है और यह धीमी प्रक्रिया है।

कश्यप ने कहा कि यह अच्छा है कि पीबीएल होने वाला है। मैं प्रतियोगिता के दौरान अपनी तैयारी जारी रख सकता हूं और अगामी महत्त्वपूर्ण टूर्नामेंटों से पहले अच्छा मैच अभ्यास मिलेगा। यह बेहतर होने में मेरी काफी मदद करेगा। चोट के कारण कश्यप की दुबई सुपर सीरीज फाइनल के लिए क्वालीफाई करने की उम्मीद भी टूट गई क्योंकि अक्तूबर में दुनिया के आठवें नंबर का यह खिलाड़ी इसके बाद शीर्ष 10 से भी बाहर हो गया। कश्यप ने कहा कि ये दो महीने निराशाजनक थे। मैंने जीवन, मैच और वित्तीय रूप से भी काफी कुछ गंवाया। मैं भारत में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रहा था और मैं सुपर सीरीज फाइनल के लिए क्वालीफाई करने के करीब था लेकिन तभी सब कुछ बदल गया।

उधर, दुनिया की नंबर दो खिलाड़ी सायना नेहवाल का मानना है कि ‘टंÑप मैच’ का नया नियम प्रीमियर बैडमिंटन लीग में ट्रंपकार्ड साबित होगा और इसे प्रभावी ढंग से इस्तेमाल करना अहम होगा। सायना की टीम में डेनमार्क की क्रिस्टिना पेडरसन, बी साइ प्रणीत, चीन की केइ युन, इंडोनेशियाई हेंड्रा गुनावान और थाईलैंड के बोडिन इसारा हैं।
सायना ने कहा कि हम सभी के लिए यह बेहतरीन समय है कि प्रीमियर बैडमिंटन लीग होने जा रही है जिसमें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी नजर आएंगे। मुझे ट्रंप मैच का नियम बहुत दिलचस्प लग रहा है। यह किसी भी टीम के लिए टर्निंग प्वाइंट होगा।

पीबीएल दो जनवरी से शुरू होगी जिसमें छह टीमें दिल्ली एसर्स, हैदराबाद हंटर्स, बंगलुरु टाप गंस, चेन्नई स्मैशर्स, मुंबई राकेट्स और अवध वारियर्स खिताब के लिए भिड़ेंगी। पहले दिन अवध वारियर्स का सामना मुंबई राकेट्स से होगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories