ताज़ा खबर
 

शाहिद अफरीदी ने इमरान खान पर साधा निशाना; कहा- उनकी टीम में यूनिटी की कमी, गरीबों की मदद की जगह मंत्री मना रहे थे छुट्टियां

सरकार से जुड़े मामलों पर शाहिद ने कहा, लोगों को राशन पानी नहीं मिल रहा। मैं क्वेटा के आसपास के इलाकों में लोगों की मदद के लिए गया। राशन बांटा। लेकिन, कुछ मिनिस्टर्स और सांसद वहां छुट्टियां मना रहे थे।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: June 30, 2020 2:22 PM
Imran Khan Shahid Afridiशाहिद अफरीदी पिछले साल तक अक्सर इमरान खान के साथ नजर आते थे।

समय समय पर भारत के खिलाफ आग उगलने वाले पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने इस बार अपने ही प्रधानमंत्री इमरान खान पर इशारों-इशारों में निशाना साधा है। अफरीदी का कहना है कि इमरान सरकार में एकता की कमी है। यह बात पूरा मुल्क देख रहा है। अफरीदी पिछले दिनों कोरोनावायरस से संक्रमित हो गए थे। अब वह ठीक हो गए हैं।

उन्होंने कहा, ‘जब मैं देश के पिछड़े इलाकों में जाकर गरीबों की मदद में जुटा था, तब सरकार के कुछ मंत्री और सांसद उसी इलाके में जाकर छुट्टियां मना रहे थे।’ बता दें कि अफरीदी पिछले साल तक अक्सर इमरान के साथ नजर आते थे। हालांकि, अब यह सिलसिला थम गया है। कोविड-19 महामारी के दौरान खबरें आईं थीं कि शाहिद अपने फाउंडेशन के जरिए गरीबों की मदद कर रहे हैं।

शाहिद 13 जून को पॉजिटिव पाए गए थे। उन्होंने सोमवार को एक इंटरव्यू में खुद के संक्रमित होने के सवाल पर कहा, ‘जानता था कि मैं भी संक्रमित हो सकता हूं। यही हुआ। अब मैं बिल्कुल ठीक हूं। मैंने क्वारंटीन नहीं किया। तीन दिन बाद कमरे से बाहर आ गया। ट्रेनिंग शुरू की। इस बीमारी में सोशल डिस्टेंसिंग बहुत जरूरी है। लेकिन इसे सिर पर नहीं चढ़ाना चाहिए। यह भी ध्यान रहे कि लापरवाही न करें। रही बात स्मार्ट लॉकडाउन की तो यह मेरी समझ में नहीं आया।’

अफरीदी ने इमरान सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘ऊपर वाले ने हमारे नेताओं को कुर्सी और ताकत दी। ये लोग गरीबों की मदद क्यों नहीं करते? मेरे पास तो कुर्सी नहीं है। बस, अच्छी नियत जरूरी है। इन लोगों को यहां और ऊपर वाले दोनों जगह जवाब देना होगा। एनजीओ सिर्फ मीडिया में नजर आने के लिए शहरों में काम करते हैं। मुझे कुर्सी नहीं चाहिए। मैं फिलहाल सियासत में नहीं आना चाहता। पूरा मुल्क देख रहा है कि इमरान खान की टीम में यूनिटी की कमी है। प्रधानमंत्री के पास बहुत बड़ा मौका है।’

सरकार से जुड़े मामलों पर शाहिद ने कहा, ‘सरकार अहसास प्रोग्राम चला रही है। इसके बावजूद लोगों को राशन पानी नहीं मिला। मैं क्वेटा के आसपास के इलाकों में लोगों की मदद के लिए गया। राशन बांटा। लेकिन, अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है कि हमारे यहां ऐसे भी मिनिस्टर्स और सांसद हैं जो वहां छुट्टियां मनाने गए थे। उन्हें रास्तों में मिलने वाले इन गरीबों की तकलीफ का अहसास नहीं था। भूखे बच्चे नंगे पैर घूम रहे थे।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘हमारे पास सट्टेबाजों से पूछताछ का अधिकार नहीं,’ ICC के बाद BCCI ने भी की फिक्सिंग के खिलाफ कानून बनाने की वकालत
2 भारत में टिकटॉक बैन होने से डेविड वॉर्नर को हुआ बड़ा नुकसान, अश्विन ने फिल्‍मी अंदाज में लिए मजे
3 UVA Premier League T20: 2 मैच के बाद ही रद्द हुआ टूर्नामेंट, जानिए श्रीलंका बोर्ड ने क्यों उठाया ऐसा कदम