ताज़ा खबर
 

बैटिंग कोच के बिना इंग्लैंड जाएगी पाकिस्तानी टीम, यूनिस खान ने छोड़ा पद; 12 साल पहले इस कारण कप्तानी से भी देना पड़ा था इस्तीफा

पाकिस्तान की टीम 25 जून से 20 जुलाई तक तीन एकदिवसीय और तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए ब्रिटेन का दौरा करेगी। टीम इसके बाद 21 जुलाई से 24 अगस्त तक वेस्टइंडीज जाएगी। वहां उसे पांच टी20 अंतरराष्ट्रीय और दो टेस्ट मैच खेलने हैं।

Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: June 22, 2021 4:44 PM
यूनिस खान को पिछले नवंबर 2020 में 2022 आईसीसी टी20 विश्व कप तक के लिए बल्लेबाजी कोच नियुक्त किया गया था। (सोर्स- फाइल फोटो)

पाकिस्तान क्रिकेट टीम इंग्लैंड दौरे पर बिना बैटिंग कोच के जाएगी। दरअसल, टीम के पूर्व कप्तान यूनिस खान ने मंगलवार को पाकिस्तान के बल्लेबाजी कोच पद से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने कहा कि उसने इस फैसले को ‘अनिच्छा लेकिन सौहार्दपूर्ण ढंग से’ स्वीकार कर लिया। पीसीबी ने हालांकि इसका कोई कारण नहीं बताया है।

पाकिस्तान की टीम 25 जून से 20 जुलाई तक तीन एकदिवसीय और तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए ब्रिटेन का दौरा करेगी। टीम इसके बाद 21 जुलाई से 24 अगस्त तक वेस्टइंडीज जाएगी। वहां उसे पांच टी20 अंतरराष्ट्रीय और दो टेस्ट मैच खेलने हैं। टीम की रवानगी से दो दिन पहले पीसीबी की ओर से जारी बयान में कहा गया, ‘पाकिस्तान पुरुषों की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम बल्लेबाजी कोच के बिना ब्रिटेन की यात्रा करेगी, जबकि वेस्टइंडीज दौरे के लिए यूनिस खान की जगह किसी और को नियुक्त करने पर फैसला बाद में किया जाएगा।’

यूनिस खान को करीब 12 साल पहले कप्तानी से भी इस्तीफा देना पड़ा था। यूनिस खान को पहली बार 2005 में पाकिस्तान क्रिकेट टीम की कमान सौंपी गई थी। साल 2007 में यूनिस खान ने तत्कालीन पीसीबी अध्यक्ष से मिलने का समय मांगा था। पीसीबी अध्यक्ष ने उनसे मिलने से इंकार कर दिया। इसके बाद उन्होंने चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान टीम की कप्तानी करने से इंकार कर दिया।

साल 2009 में कुछ खिलाड़ियों के विद्रोह के बाद उन्होंने कप्तान के पद से इस्तीफा दे दिया था। यही नहीं, अपने करियर के अंतिम दिनों में, उन्होंने पीसीबी की ओर से दिए गए नकद पुरस्कार को भी वापस कर दिया था, क्योंकि वह पीसीबी पदाधिकारियों के उनके साथ किए गए व्यवहार से खुश नहीं थे।

अब पीसीबी के ऐलान के बाद अटकलें लगाई जा रही हैं कि यूनिस ने खुद पद छोड़ने का फैसला किया था, क्योंकि वह टीम के साथ अपनी भूमिका से खुश नहीं थे। वह चयन मामलों में अधिक दखल चाहते थे। एक सूत्र के मुताबिक, जिस तरह से राष्ट्रीय टीम को भविष्य के लिए तैयार किया जा रहा है, यूनिस उससे संतुष्ट नहीं थे।

यूनिस को पिछले साल नवंबर में दो साल के लिए 2022 आईसीसी टी20 विश्व कप तक के लिए बल्लेबाजी कोच नियुक्त किया गया था। पीसीबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वसीम खान ने कहा कि यूनिस के समान अनुभव वाले विशेषज्ञ का साथ छूटना दुखद है। उन्होंने कहा, ‘कई बार की बातचीत के बाद दोनों हम दोनों आपसी सहमति से अलग-अलग दिशा में आगे बढ़ने पर सहमत हुए। यह हमारी इच्छा के खिलाफ था लेकिन हमने सौहार्दपूर्ण तरीके से यह फैसला स्वीकार किया।’

उन्होंने कहा, ‘उम्मीद है कि वह उभरते हुए क्रिकेटर्स के साथ अपने खेल के ज्ञान को साझा करके पीसीबी की सहायता के लिए उपलब्ध रहेंगे।’ बोर्ड के बयान में कहा गया है कि पीसीबी और यूनिस दोनों इस फैसले पर आगे कोई टिप्पणी नहीं करने पर सहमत हैं। यूनिस टेस्ट में पाकिस्तान के सर्वोच्च स्कोरर हैं। उन्होंने इस फॉर्मेट में 10,000 से अधिक रन बनाए हैं।

Next Stories
1 Pakistan Super League: इस्लामाबाद को हरा मुल्तान पहली बार PSL फाइनल में, बाबर आजम की टीम का टूटा सपना
2 India vs New Zealand WTC Final 5th Day: दूसरी पारी में टीम इंडिया के 2 विकेट गिरे, न्यूजीलैंड के खिलाफ 32 रन की लीड ली
3 वानखेड़े स्टेडियम में बवाल पर शाहरुख खान को पत्नी गौरी से पड़ी थी डांट, सुहाना-आर्यन ने भी कही थी ये बातें
ये पढ़ा क्या?
X