ताज़ा खबर
 

भारत ने गंवाए मौके, पाक को मिली 2-1 से जीत

इंचियोन। भारत ने गोल करने के कई मौके गंवाये जिसके कारण उसे 17वें एशियाई खेलों की पुरूष हॉकी प्रतियोगिता के ग्रुप बी में आज यहां अपने चिर प्रतिद्वंद्वी और मौजूदा चैंपियन पाकिस्तान के खिलाफ बेहद रोमांचक मैच में 1-2 से हार का सामना करना पड़ा। पहले दो क्वार्टर में कोई गोल नहीं हुआ लेकिन पाकिस्तान […]

Author September 25, 2014 4:35 PM

इंचियोन। भारत ने गोल करने के कई मौके गंवाये जिसके कारण उसे 17वें एशियाई खेलों की पुरूष हॉकी प्रतियोगिता के ग्रुप बी में आज यहां अपने चिर प्रतिद्वंद्वी और मौजूदा चैंपियन पाकिस्तान के खिलाफ बेहद रोमांचक मैच में 1-2 से हार का सामना करना पड़ा।

पहले दो क्वार्टर में कोई गोल नहीं हुआ लेकिन पाकिस्तान ने तीसरे क्वार्टर में बढ़त हासिल की। उसकी तरफ से यह गोल मोहम्मद उमर भुट्टा ने 38वें मिनट में किया। भारत ने चौथे क्वार्टर में बराबरी की लेकिन पाकिस्तान ने तुरंत ही जवाबी हमला करके निर्णायक गोल दाग दिया। भारत के लिए निकिन थिम्मैया (53वें मिनट) ने जबकि पाकिस्तान के खिलाफ मोहम्मद वकास (54वें मिनट) ने गोल किया।

मैच वास्तव में दर्शनीय और रोमांचक था और उम्मीद के अनुरूप उपमहाद्वीप की दोनों टीमों में दिलचस्प मुकाबला देखने को मिला। दोनों टीमों ने तेजतर्रार हॉकी खेली और अपने कौशल का बेजोड़ नमूना पेश किया। दोनों टीमों ने एक दूसरे से बेहतर प्रदर्शन करने की कोशिश की लेकिन आखिर में सरदार सिंह की अगुवाई वाली टीम मायूस होकर स्टेडियम से बाहर निकली।
भारत की हार का कारण गोल करने के कई मौके गंवाना रहा। विशेषकर रमनदीप सिंह ने कई मौके हाथ से जाने दिये जबकि रक्षापंक्ति भी कुछ अवसरों पर दबाव में बिखरती हुई नजर आई।

आज की जीत से पाकिस्तान ने एक तरह से पूल बी में शीर्ष स्थान सुनिश्चित कर लिया है जबकि भारत के लिए परिस्थितियां कड़ी हो गई है। वह अब पूल बी में दूसरे स्थान पर ही रह सकता है और ऐसे में उसे सेमीफाइनल में दक्षिण कोरिया की मजबूत टीम से भिड़ना पड़ सकता है।

लेकिन इसके लिए भी भारत को शनिवार को अपने आखिरी पूल मैच में कम रैंकिंग के लेकिन खतरनाक चीन से पार पाना होगा।
रूपिंदर पाल सिंह के चोटिल होने के कारण पेनल्टी कार्नर की जिम्मेदारी वी आर रघुनाथ पर थी लेकिन इस ड्रैग फ्लिकर का खराब प्रदर्शन जारी रहा और उन्होंने मौके गंवाए।

पाकिस्तानी सर्किल के अंदर रमनदीप सिंह की ट्रैपिंग भी अच्छी नहीं रही और उन्होंने कम से गोल करने के तीन मौके गंवाए। दूसरे क्वार्टर में आकाशदीप सिंह का शाट सीधे गोलकीपर इमरान बट के पास चला गया।

पाकिस्तान को भी गोल करने के मौके मिले। वकास के पास दूसरे क्वार्टर में सुनहरा मौका था जब उनके सामने केवल भारतीय गोलकीपर पी आर श्रीजेश थे लेकिन उनका शॉट बाहर चला गया।

पहले दो क्वार्टर में भारत और पाकिस्तान दोनों ने एक एक पेनल्टी कार्नर पर नाकाम कोशिश की। तीसरे क्वार्टर में वकास का शाट श्रीजेश ने रोक दिया लेकिन भुट्टा ने रिबाउंड पर गोल करके मौजूदा चैंपियन को बढ़त दिला दी।

भारत ने इसके बाद आक्रामक रवैया अपनाया तथा चौथे और आखिरी क्वार्टर में उसने पाकिस्तानी रक्षापंक्ति को काफी व्यस्त रखा लेकिन गोल नहीं हो पाया। दानिश मुज्तबा 49वें मिनट मतें बराबरी का गोल दागने की स्थिति में पहुंच गए थे लेकिन कोठाजीत सिंह के पास पर उनका डिफलेक्शन पाकिस्तानी गोलकीपर ने बड़ी खूबसूरती से रोक दिया।

भारत को लगातार प्रयासों का फल 53वें मिनट में जब थिम्मैया ने कोठाजीत के क्रास पर बराबरी का गोल दागा लेकिन भारत की खुशियां अधिक देर तक नहीं टिक पाई और वकास ने रिवर्स हिट से निर्णायक गोल दाग दिया।

पाकिस्तान तीन जीत से अब पूल बी में शीर्ष पर चल रहा है। वह अपने आखिरी मैच में कमजोर ओमान से भिड़ेगा।

Next Stories
1 एशियाई खेल 2014: प्री क्वार्टर में पहुंचे युकी, सनम और अंकिता
2 मौजूदा चैंपियन चीन से हारी भारतीय महिला हॉकी टीम
3 CLT20: जीत का लय जारी रखना चाहेगी चेन्नई सुपरकिंग्स
यह पढ़ा क्या?
X