ताज़ा खबर
 

पाकिस्तानी क्रिकेटर का आरोप- वकार यूनूस ने दी धमकी, देखें कौन खेलने देता है क्रिकेट

उमर ने कबूल किया है कि टेस्ट मुकाबलो में उन्होंने विकेट कीपिंग करने से इनकार कर दिया। जिसपर उनके कोच ने उनपर दबाव बनाया की वो विकेट कीपिंग करते रहे, लेकिन उन्होंने कोच की बात नहीं मानी।

उमर अकमल। (Photo Courtesy : ICC)

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के बल्लेबाज उमर अकमल ने पूर्व मुख्य कोच वकार यूनूस पर बड़ा गंभीर आरोप लगाया है। उमर अकमल ने आरोप लगाया है कि वकार यूनूस ने उनपर दबाव बनाया और उनसे जबरदस्ती विकेट कीपिंग करने के लिए कहा। उमर अकमल ने कहा कि विकेट कीपिंग नहीं करने पर वकार युनूस ने उन्हें पाकिस्तान क्रिकेट टीम से बाहर कर देने की धमकी भी दी। उमर अकमल ने साल 2009 में न्यूजीलैंड के खिलाफ हुए एकदिवसीय मुकाबलों से अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का आगाज किया था। उस समय उमर अकमल मध्यक्रम में बल्लेबाजी करने आते थे। उमर अकमल ने कहा है कि पाकिस्तान कप के दौरान उन्होंने टेस्ट मैचों में विकेट कीपिंग करने से इनकार कर दिया था, लेकिन प्रमुख कोच वकार यूनूस ने उनसे विकेट कीपिंग जारी रखने को कहा।

उमर पिछले चार सालों से टीम के लिए विकेट कीपिंग कर रहे हैं। लेकिन उन्हें लगता है कि टेस्ट मैचों में ज्यादा देर तक विकेट के पीछे खड़ा रहने से उनकी बल्लेबाजी पर असर पड़ सकता है। उमर ने कबूल किया है कि टेस्ट मुकाबलो में उन्होंने विकेट कीपिंग करने से इनकार कर दिया। जिसपर उनके कोच ने उनपर दबाव बनाया की वो विकेट कीपिंग करते रहे, लेकिन उन्होंने कोच की बात नहीं मानी।

27 साल के इस खिलाड़ी ने आगे कहा कि विकेट कीपिंग के लिए मेरे इनकार करने से टीम के कोच वकार यूनूस मुझसे नाराज थे। उमर ने कहा कि ‘मुझे अच्छे से याद है कि उस वक्त नाराज यूनूस ने मुझसे कहा था कि मैं देखता हूं कि कौन तुम्हें भविष्य में क्रिकेट खेलने देता है। इसपर मैंने उनसे कहा था कि मैं देश के लिए खेलना चाहता हूं’। आपको बता दें कि पाकिस्तानी बल्लेबाज उमर अकमल अब तक के अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में कई बार टीम से बाहर रहे हैं। अब अचानक उमर अकमल ने अपनी चुप्पी तोड़ी है और टीम के पूर्व कोच को ही निशाने पर ले लिया है। फिलहाल उमर अकमल के इन आरोपों के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड में खलबली मच गई है। पाकिस्तानी मीडिया में भी उमर के आरोपों को लेकर चर्चा हो रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App