PAK vs AUS: दुबई में हर हाल में रचा जाएगा इतिहास, पाकिस्तान बनाएगा रिकॉर्ड या ऑस्ट्रेलिया का कायम रहेगा जलवा

वर्ल्ड कप के इतिहास में नॉकआउट स्टेज में कभी भी पाकिस्तान ऑस्ट्रेलिया को मात नहीं दे पाया है। वहीं पाकिस्तान में पिछले 16 टी20 मुकाबले पाकिस्तान ने अपने नाम किए हैं। इस लिहाज से दूसरा सेमीफाइनल काफी दिलचस्प होने वाला है।

pak-vs-aus-semifinal-2-t20-world-cup-2021-records-pakistan-vs-australia-uae-records-knockout-history-babar-azam-match-preview
पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम और ऑस्ट्रेलिया के कप्तान एरोन फिंच (सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस, ईएसपीएन क्रिकइंफो)

दुबई में पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच आज टी20 वर्ल्ड कप 2021 का दूसरा सेमीफाइनल मुकाबला खेला जाएगा। इस मुकाबले में अगर कुछ खास रिकॉर्ड की बात करें तो पाकिस्तान ऑस्ट्रेलिया से कभी भी वर्ल्ड कप के नॉकआउट मुकाबलों में जीत नहीं पाया है। वहीं यूएई में पाकिस्तान ने पिछले 16 टी20 इंटरनेशनल मुकाबले जीते हैं।

आपको बता दें कि 1987 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल, 1999 वर्ल्ड कप फाइनल, 2010 टी20 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल और 2015 वर्ल्ड कप क्वॉर्टरफाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को हराया है। पाकिस्तान की टीम अपने दूसरे खिताब की ओर बढ़ती नजर आ रही है लेकिन आस्ट्रेलिया के खिलाफ उसकी राह आसान नहीं होगी।

विश्व टी20 2016 के पहले दौर में बाहर होने के बाद पाकिस्तान ने इस बार शानदार प्रदर्शन किया है। बाबर आजम की अगुआई वाला 2009 का चैंपियन पाकिस्तान मौजूदा टूर्नामेंट की एकमात्र टीम है जिसे अब तक शिकस्त का सामना नहीं करना पड़ा है।

दोनों टीमों के बीच पिछली बार टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल में आस्ट्रेलिया ने माइक हसी के शानदार प्रदर्शन की बदौलत रोमांचक मुकाबले में जीत दर्ज की थी।

यूएई में हालांकि मौजूदा टूर्नामेंट में पाकिस्तान की टीम दबाव में अच्छा प्रदर्शन कर रही है और यहां की परिस्थितियों को लेकर सहज है। वर्ष 2009 में श्रीलंका की टीम बस पर आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान में लंबे समय तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं हुआ और देश ने यूएई में अपने घरेलू मैच खेले। पाकिस्तान सुपर लीग के कई सत्र भी यहां आयोजित हुए।

भारत के खिलाफ एतिहासिक जीत से अभियान शुरू करने वाली पाकिस्तान की टीम अजेय नजर आ रही है और न्यूजीलैंड तथा अफगानिस्तान के खिलाफ विषम हालात में जीत दर्ज करके जज्बा दिखा चुकी है।

टूर्नामेंट के शीर्ष स्कोर बाबर (264) की अगुआई में पाकिस्तान का शीर्ष क्रम काफी मजबूत है। बाबर चार अर्धशतक जड़ चुके हैं और टीम को उनसे एक बार फिर अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी। आस्ट्रेलिया का गेंदबाजी आक्रमण हालांकि उनकी चुनौती के लिए पूरी तरह से तैयार होगा और किसी भी गलती का फायदा उठाना चाहेगा।

बाबर और मोहम्मद रिजवान की सलामी जोड़ी अगर विफल रहती है तो पाकिस्तान के पास मध्यक्रम में कई मैच विजेता हैं जिसमें लंबे छक्के जड़ने वाले आसिफ अली और अनुभवी शोएब मलिक और मोहम्मद हफीज सभी लय में हैं। टीम को हालांकि फखर जमां से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद होगी जो एकमात्र बल्लेबाज हैं जो अब तक नाकाम रहे हैं।

2 साल बाद टीम में वापसी को तैयार उस्मान ख्वाजा पर इयान चैपल ने कसा तंज, ऑस्ट्रेलियाई ओपनर ने कर दी अपने ही देश के पूर्व कप्तान की ‘बेइज्जती’

पाकिस्तान के गेंदबाजी आक्रमण ने भी काफी प्रभावित किया है। तेज गेंदबाजों शाहीन शाह अफरीदी और हारिस राउफ ने विरोधी बल्लेबाजों को परेशान किया है लेकिन हसन अली उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं। बाबर को आस्ट्रेलिया के खिलाफ हसन से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है।

इमाद वसीम, मोहम्मद हफीज और शादाब खान आस्ट्रेलिया के खिलाफ स्पिन विभाग में कप्तान बाबर के मुख्य हथियार होंगे। स्पिन के खिलाफ आस्ट्रेलिया को कई मौकों पर परेशानी का सामना करना पड़ा है। दूसरी तरफ 2010 का उपविजेता आस्ट्रेलिया सही समय पर अपना शीर्ष खेल दिखा रहा है और वह यहां खिताब जीतकर आईसीसी के उस टूर्नामेंट को भी जीतना चाहेगा जिसे अब तक नहीं जीत पाया है।

इंग्लैंड के खिलाफ आठ विकेट की शिकस्त के अलावा फिंच की अगुआई वाली टीम ने अपने बाकी सभी मुकाबलों में दबदबा बनाते हुए जीत दर्ज की है और दक्षिण अफ्रीका को पछाड़कर सेमीफाइनल में जगह बनाई।

आस्ट्रेलिया के पास जोश हेजलवुड, मिशेल स्टार्क और पैट कमिंस की मौजूदगी वाला बेहद मजबूत तेज गेंदबाजी आक्रमण है जबकि बीच के ओवरों में लेग स्पिनर एडम जंपा ने शानदार प्रदर्शन किया है जो मौजूदा टूर्नामेंट के दूसरे सबसे सफल गेंदबाज हैं।

Lanka Premier League: इरफान पठान और शाहिद अफरीदी को नहीं मिली जगह, 5 में 3 आइकॉन क्रिकेटर्स 40 साल से ज्यादा उम्रदराज; देखिए पूरी लिस्ट

आलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल और मिशेल मार्श ने टीम को गेंद से सफलताएं दिलाई है और उसके पास बायें हाथ के स्पिनर एश्टन एगर को खिलाने का विकल्प भी होगा। डेविड वार्नर की फॉर्म में वापसी से आस्ट्रेलिया को मजबूती मिली है। टूर्नामेंट से पहले खराब फॉर्म से जूझ रहे वार्नर दो अर्धशतक जड़ चुके हैं जिसमें पिछले मैच में नाबाद 89 रन की पारी भी शामिल है।

वार्नर और फिंच की सलामी जोड़ी किसी भी गेंदबाजी आक्रमण को ध्वस्त करने में सक्षम है। तीसरे नंबर पर मार्श अच्छी फॉर्म में हैं। जल्दी विकेट गंवाने की स्थिति में भरोसेमंद स्टीव स्मिथ पर पारी को स्थिरता देने का दारोमदार होगा। उनका स्ट्राइक रेट हालांकि उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा है। इस मैदान पर लक्ष्य का पीछा करने वाली टीमों का पलड़ा भारी रहा है और ऐसे में टॉस एक बार फिर अहम भूमिका निभाएगा।

दोनों टीमें इस प्रकार हैं:-

आस्ट्रेलिया: आरोन फिंच (कप्तान), एश्टन एगर, पैट कमिंस, जोश हेजलवुड, जोश इंगलिस, मिशेल मार्श, ग्लेन मैक्सवेल, केन रिचर्डसन, स्टीव स्मिथ, मिशेल स्टार्क, मार्कस स्टोइनिस, मिशेल स्वेपसन, मैथ्यू वेड, डेविड वार्नर और एडम जम्पा।

पाकिस्तान: बाबर आजम (कप्तान), शादाब खान, आसिफ अली, फखर जमां, हैदर अली, हारिस राउफ, हसन अली, इमाद वसीम, मोहम्मद हफीज, मोहम्मद नवाज, मोहम्मद रिजवान, मोहम्मद वसीम जूनियर, सरफराज अहमद, शाहीन शाह अफरीदी और शोएब मलिक।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट