योगेश्‍वर दत्‍त नहीं चाहते लंदन आेलंपिक का सिल्‍वर मेडल, ट्विटर पर बताई वजह

अंतर्राष्‍ट्रीय आेलंपिक कमेटी द्वारा खिलाड़‍ियों के सैंपल्‍स को 10 साल तक स्‍टोर रखा जाता है और उनकी एडवांस्‍ड टेक्‍नोलाॅजी से बार-बार जांच होती है।

yogeshwar dutt, besik kudukhov, yogeshwar dutt silver medal upgrade, yogeshwar dutt comments, london 2012 olympics, rio 2016 olympics, besik kudukhov russia, besik kudukhov doping, wrestling, sports news, jansattaस्टार पहलवान योगेश्वर दत्त

भारतीय ओलंपिक मेडलिस्‍ट और पहलवान याेगेश्‍वर दत्‍त ने बुधवार को लंदन 2012 ओलंपिक का अपग्रेडेड सिल्‍वर मेडल लेने से मना कर दिया है। योगेश्‍वर चाहते हैं कि सिल्‍वर मेडल उसी खिलाड़ी, बेसिक कुदुखोव के परिवार के पास रहे। कुदुखोव लंदन के 60 किलोग्राम फ्री-स्‍टाइल इवेंट के दौरान लिए गए डोप टेस्‍ट सैंपल में पॉजिटिव पाए गए थे। बुधवार को योगेश्‍वर ने ट्विटर पर लिखा, ‘बेसिक कुदुखोव शानदार पहलवान थे। उनका मृत्यु के पश्चात dope test में fail हो जाना दुखद हैं। मैं खिलाड़ी के रूप में उनका सम्मान करता हूँ। अगर हो सके तो ये मेडल उन्ही के पास रहने दिया जाए। उनके परिवार के लिए भी सम्मानपूर्ण होगा। मेरे लिए मानवीय संवेदना सर्वोपरि है।” कुदुखोव की 2013 में एक कार हादसे में मौत हो गई थी। मगर इंटरनेशनल आेलंपिक कमेटी द्वारा डोप एब्‍यूज के सैंपल्‍स की फिर से जांच में खुलासा हुआ कि बेसिक ने लंदन आेलंपिक के दौरान क्षमता बढ़ाने वाली दवाएं ली थीं।

लंदन मे, योगेश्‍वर अपने प्री-क्‍वार्टरफाइनल कुदुखोव से हार गए थे। जब कुदुखोव फाइनल में पहुंचे योगेश्‍वर को रेपचेज राउंड में दोबारा मौका मिला। उन्‍होंने फ्रैंकलिन गोमेज, मसहूद ईस्‍लाइलपुर और रि जांग-म्‍योंग को हराकर कांस्‍य पदक जीता। इससे पहले योगेश्‍वर ने आेल‍ंपिक पद को रजत में अपग्रेड किए जाने पर कुछ नहीं कहा था, मगर मंगलवार शाम उन्‍होंने कहा, ”जो लिखा होता है, वो होके रहता है।” उन्‍होंने आगे कहा, ”यह अच्‍छी बात है, भारत के लिए एक और जीत।” अंतर्राष्‍ट्रीय आेलंपिक कमेटी द्वारा खिलाड़‍ियों के सैंपल्‍स को 10 साल तक स्‍टोर रखा जाता है और उनकी एडवांस्‍ड टेक्‍नोलाॅजी से बार-बार जांच होती है। इसी वजह से योगेश्‍वर दत्‍त, पहलवान सुशील कुमार और शूटर विजय कुमार की लीग में शामिल हो सके, जिन्‍होंने भारत के लिए ओलंपिक में रजत पदक जीता है।

READ ALSO: इंग्‍लैण्‍ड-पाकिस्‍तान के मैच में सिर्फ 444 रन ही नहीं बने, टूट गए इतने सारे रिकॉर्ड

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई
Next Stories
1 Selfie के साथ पाए अब साक्षी मलिक के हस्ताक्षर
2 इंग्लैंड की फुटबॉल टीम कप्तान रूनी ने की घोषणा, 2018 में ले लेंगे अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से विदाई
3 US OPEN: जोकोविच-नडाल ने दूसरे दौर में जगह बनाई
यह पढ़ा क्या?
X