ताज़ा खबर
 

विश्व क्वालीफाइंग टूर्नामेंट: ओलंपिक कोटा हासिल करने पर लगी हैं भारतीय पहलवानों की निगाहें

इस टूर्नामेंट में शीर्ष दो में पहुंचने वाले दो पहलवाना स्वत: ही ओलंपिक स्थान हासिल कर लेंगे लेकिन दो कांस्य पदकधारियों के लिये रियो खेलों के लिये कोटा हासिल करने लिये भिड़ंत होगी।

Author उलनबटेर (मंगोलिया) | April 21, 2016 7:39 PM
सेना के सपोर्ट में आए पहलवान योगेश्वर दत्त। (FILE Photo)

दो मौकों पर ओलंपिक कोटा चूकने के बाद 15 सदस्यीय भारतीय टीम शुक्रवार (22 अप्रैल) से यहां शुरू हो रहे विश्व क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में ज्यादा से ज्यादा कोटा हासिल करने के लिये प्रतिबद्ध होगी। इस टूर्नामेंट के बाद केवल एक और ही ओलम्पिक क्वालीफाइंग टूर्नामेंट होगा। यह प्रतियोगिता यहां 22 से 24 अप्रैल तक चलेगी जिसमें प्रत्येक वर्ग में से शीर्ष तीन पहलवान देश के लिये ओलंपिक कोटा हासिल करेंगे।

शीर्ष दो में पहुंचने वाले दो पहलवाना स्वत: ही ओलंपिक स्थान हासिल कर लेंगे लेकिन दो कांस्य पदकधारियों के लिये रियो खेलों के लिये कोटा हासिल करने लिये भिड़ंत होगी। अभी तक देश के तीन पहलवान अगस्त में होने वाले महासमर के लिये क्वालीफाई कर चुके हैं, जिनमें दो पुरुष फ्रीस्टाइल वर्ग में और एक ग्रीको रोमन वर्ग से है।

यह रियो खेलों के लिये तीसरा क्वालीफाइंग टूर्नामेंट है। पहला पिछले साल लास वेगास में विश्व चैम्पियनशिप थी, जिसमें केवल एक भारतीय नरसिंह यादव ने पुरुष 74 किग्रा फ्रीस्टाइल में कोटा हासिल किया था। दूसरी प्रतियोगिता अस्ताना में एशियाई ओलंपिक क्वालीफिकेशन कुश्ती चैम्पियनशिप थी, जो पिछले महीने आयोजित हुई थी। इसमें लंदन खेलों के कांस्य पदकधारी योगेश्वर दत्त (पुरुष 65 क्रिगा फ्रीस्टाइल) और हरदीप (ग्रीको रोमन 98 किग्रा) ने अपने वर्ग में ओलंपिक कोटा हासिल किया था।

इस टूर्नामेंट के लिये भारतीय टीम में पुरुष फ्रीस्टाइल में चार, ग्रीको रोमन में पांच और महिलाओं में छह पहलवान शामिल हैं। योगेश्वर और नरसिंह ने पहले ही खेलों के लिये क्वालीफाई कर लिया है, पुरुष फ्रीस्टाइल वर्ग की अगुवाई अनुभवी सत्यव्रत कादियां (97 किग्रा) करेंगे। संदीप तोमर (57 किग्रा), सोमवीर (86 किग्रा) और सुमित (125 किग्रा) यहां शीर्ष स्थान हासिल करने ककी कोशिश करेंगे।

भारत की किसी भी महिला पहलवान ने अभी तक कोटा हासिल नहीं किया है लेकिन तीन फोगाट बहनों विनेश (48 किग्रा), बबीता कुमारी (53 किग्रा) और अनुभवी गीता (58 किग्रा) से काफी उम्मीदें हैं जिनके पास इस बार ओलंपिक स्थान सुनिश्चित करने का बढ़िया मौका है। महिलाओं की टीम में अनीता (63 किग्रा), नवजोत कौर (67 किग्रा) और ज्योति (75 किग्रा) शामिल हैं।

ग्रीको रोमन में भारत का दबदबा नहीं है, लेकिन इसमें हरदीप ने एशियाई ओलंपिक क्वालीफिकेशन टूर्नामेंट में इतिहास रच दिया था, वह 2004 एथेंस खेलों के बाद देश के लिये ओलंपिक कोटा हासिल करने वाले पहले भारतीय ग्रीको रोमन पहलवान बने। 2004 ओलंपिक में मौसम खत्री ने ओलंपिक का टिकट कटाया था। अन्य ग्रीको रोमन पहलवान निश्चित रूप से हरदीप से प्रेरणा लेंगे और अगले तीन दिनों में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगे। अंतिम ओलंपिक क्वालीफायर (दूसरा विश्व क्वालीफिकेशन टूर्नामेंट) छह से आठ मई तक तुर्की के इस्तांबुल में होगा।

टीम इस प्रकार है :

पुरुष फ्रीस्टाइल : संदीप तोमर (57 किग्रा), सोमवीर (86 किग्रा), सत्यव्रत कादियां (97 किग्रा), सुमित (125 किग्रा)
पुरुष ग्रीको रोमन : गौरव शर्मा (59 किग्रा), रविंदर (66 किग्रा), हरप्रीत सिंह (75 किग्रा), रविंदर खत्री (85 किग्रा), नवीन (130 किग्रा)

महिला पहलवान : वीनेश फोगाट (48 किग्रा), बबीता कुमारी (53 किग्रा), गीता फोगाट (58 किग्रा), अनीता (63 किग्रा), नवजोत कौर (67 किग्रा), ज्योति (75 किग्रा)।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App