ताज़ा खबर
 

डोपिंग में फंसे विश्व चैंपियन मुक्केबाज स्ट्रम

स्ट्रम ने अपने लंबे करिअर में अब तक 40 मुकाबले जीते हैं जिसमें 18 में उन्होंने नाकआउट से जीत दर्ज की है।
Author बर्लिन | April 18, 2016 00:24 am
विश्व सुपर हैवीवेट चैंपियन फेलिक्स स्ट्रम

विश्व सुपर हैवीवेट चैंपियन फेलिक्स स्ट्रम ने कहा है कि फरवरी में रूस के फेदोर चुदिनोव पर जीत के बाद एनाबोलिक स्टेरायड के सेवन का दोषी पाए जाने से वे सकते में हैं। इस 37 वर्षीय जर्मन मुक्केबाज को 20 फरवरी को चुदिनोव पर जीत के बाद स्टेरायड के हाइड्रो एक्सवाई स्टेनोजोलोल के सेवन का दोषी पाया गया है। स्ट्रम को विश्व मुक्केबाजी संघ से डोपिंग परीक्षण में नाकाम रहने की खबर ईमेल से शुक्रवार को मिली।

उन्होंने कहा- मैं सकते में हूं। यह बड़ा अजीब था खास तौर से इसलिए कि नतीजों के बारे में मुझे सूचित करने के लिए उन्होंने आठ सप्ताह का समय लिया। इसके अलावा मुकाबले की मेजबानी करने वाले जर्मन पेशेवर मुक्केबाजी संघ (बीडीबी) को भी सूचित नहीं किया गया। केवल मुझे और मेरे ट्रेनर को बताया गया। यदि स्ट्रम का बी नमूना भी पाजीटिव पाया जाता है तो उन पर दो साल का प्रतिबंध लग सकता है जो 37 साल के इस मुक्केबाज का करिअर खत्म कर सकता है। उन्होंने कहा कि मैं इस बी सेंपल की दोबारा जांच करवा के रहूंगा।

स्ट्रम ने अपने लंबे करिअर में अब तक 40 मुकाबले जीते हैं जिसमें 18 में उन्होंने नाकआउट से जीत दर्ज की है। उन्होंने कहा कि मेरे खून और मूत्र के नमूनों की सैकड़ों बार जांच हो चुकी है और कभी कुछ नहीं पाया। मेरी अंतरात्मा साफ है। मैं जल्दी अपने लिए एक वकील नियुक्त करूंगा। मैंने 26 से यह मेहनत यह दिन देखने के लिए नहीं की है।

उन्होंने कहा कि मैं इससे एक शेर की तरह लड़ूंगा, उसी तरह से जैसे मैं रिंग में लड़ता रहा हूं। मैंने कभी कुछ गलत नहीं किया और मैं इससे सकते में हूं। उन्होंने कहा कि वे फरवरी में चुदिनोव से हुए मुकाबले से पहले के 12 हफ्ते के दौरान ली गई सभी चीजों की मुकम्मल सूची बनाएंगे। इसमें ऐसा कुछ भी नहीं है जो यह साबित कर सके कि मैंने किसी गलत या प्रतिबंधित चीज का सेवन किया है। उन्होंने कहा कि पिछले आठ से दल साल के दौरान उन्होंने सिर्फ जर्मनी में बने उत्पादों का सेवन किया है और बाहर की किसी भी चीज का कभी भी सेवन नहीं किया।

स्टेनोजोलोल वह पदार्थ है जिसके सेवन के लिए 1988 में कनाडा के धावक बेन जानसन को दोषी पाया गया था और 100 मीटर दौड़ में जीता गया उनका स्वर्ण पदक छीन लिया गया था। लेकिन स्ट्रम ने कहा कि उनके लिए स्टेरायड के सेवन का कोई औचित्य नहीं है क्योंकि इससे उन्हें कोई फायदा नहीं होने वाला। उन्होंने कहा कि मेरी मांसपेशियां 14 साल की उम्र से ही इसी तरह हैं और मैंने कड़ा प्रशिक्षण लिया है।

स्ट्रम को उम्मीद है कि उन पर लगा स्टेरायड के सेवन का दाग धुल जाएगा। उन्होंने कहा कि ऐसे बहुत से मामले हैं जिसमें बी सेंपल की जांच में पहले टेस्ट के नतीजों को खारिज कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि मैं 1000 फीसद आश्वस्त हूं कि मैंने कुछ गलत नहीं किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
Indian Super League 2017 Points Table

Indian Super League 2017 Schedule