ताज़ा खबर
 

ओलंपिक में जगह बनाने वाले मनोज और विकास को मिला कांस्य

विकास कृष्णन गुरुवार (23 जून) को कोरिया के ली डोंगयुन के खिलाफ क्वार्टर फाइनल मुकाबले के दौरान चोटिल हो गए थे।

Author बाकू (अजरबैजान) | June 24, 2016 6:29 PM
भारतीय मुक्केबाज विकास कृष्णन (75 किग्रा) (पीटीआई, फाइल फोटो)

ओलंपिक में अपनी सीट पक्की करने के बाद भारतीय मुक्केबाज विकास कृष्णन (75 किग्रा) और मनोज कुमार (64 किग्रा) को अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (एआईबीए) विश्व क्वालीफाईंग टूर्नामेंट में आज कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। विकास को चिकित्सकीय तौर पर अनफिट करार दिया गया जिसके कारण वह तुर्कमेनिस्तान के अचिलोव अर्सलानबेक के खिलाफ अपने मुकाबले में नहीं उतर पाए। दूसरी तरफ मनोज को मौजूदा यूरोपीय चैंपियन ब्रिटेन के पैट मैककोरमाक के हाथों 0-3 से हार का सामना करना पड़ा।

भारत के लिए एक और निराशाजनक खबर यह रही कि सुमित सांगवान (81 किग्रा) की ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने की उम्मीद शुक्रवार (24 जून) को समाप्त हो गई। सुमित गुरुवार (23 जून) रात रूस के शीर्ष वरीयता प्राप्त पीटर खामुकोव से हार गए थे। यदि रूसी मुक्केबाज स्वर्ण पदक जीत जाता तो सांगवान क्वालीफाई कर जाते लेकिन खामुकोव ने सेमीफाइनल में वॉकओवर दे दिया जिससे सुमित की उम्मीदें समाप्त हो गई।

विकास गुरुवार (23 जून) को कोरिया के ली डोंगयुन के खिलाफ क्वार्टर फाइनल मुकाबले के दौरान चोटिल हो गए थे। भारतीय मुक्केबाज ने 3-0 से जीत दर्ज करके सेमीफाइनल में जगह बनाने के साथ ही ओलंपिक के लिये क्वालीफाई किया था। लेकिन चोट के कारण उनके माथे पर टांके लगे हैं जिसके कारण उन्हें शुक्रवार (24 जून) को सेमीफाइनल मुकाबले से बाहर होना पड़ा।

भारतीय टीम के एक अधिकारी ने कहा, ‘विकास कृष्णन शुक्रवार (24 जून) को रिंग पर नहीं उतर सकता क्योंकि प्रतियोगिता के चिकित्सकों ने सुबह उनकी जांच के बाद उन्हें अनफिट करार दिया। उनकी आंख के ऊपर का हिस्सा कट गया था और उसमें टांके लगे हैं।’ राष्ट्रमंडल खेलों के रजत पदक विजेता एल देवेंद्रो सिंह (49 किग्रा) भी शुक्रवार (24 जून) को रिंग पर उतरेंगे। उन्हें ओलंपिक में सीट पक्की करने के लिए सेमीफाइनल में स्पेन के कारमोना हर्डिया को हराना होगा। इस भार वर्ग में केवल दो कोटा स्थान ही हैं।

अब तक तीन भारतीय रियो ओलंपिक खेलों में जगह बना पाए हैं। इनमें विकास और मनोज के अलावा शिव थापा (56 किग्रा) शामिल हैं जिन्होंने मार्च में एशियाई क्वालीफायर्स के जरिये ओलंपिक में अपनी सीट पक्की की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App