ताज़ा खबर
 

विनेश-साक्षी ने रचा इतिहास, रियो ओलंपिक के लिए हासिल किया कोटा

विनेश ने प्रतियोगिता के दूसरे दिन महिला 48 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीता

Author इस्तांबुल | May 7, 2016 10:53 PM
भारत की अनुभवी महिला पहलवान विनेश फोगाट ओलंपिक मैच के दौरान। (एपी फाइल फोटो)

विनेश फोगाट ने स्वर्ण पदक जीता और साक्षी मलिक के साथ शनिवार (7 मई) को यहां दूसरे विश्व ओलंपिक क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में इतिहास रचते हुए देश के लिए ओलंपिक कोटा हासिल करने में सफल रही जिससे पहली बार भारत की दो महिलाओं ने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया। विनेश ने प्रतियोगिता के दूसरे दिन महिला 48 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीता जबकि साक्षी को 58 किग्रा के फाइनल में हार के कारण रजत पदक से संतोष करना पड़ा। दोनों ने रियो ओलंपिक के लिए भारत को कोटा दिलाया।

पहली बार भारत की दो महिला पहलवानों ने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया है। लंदन ओलंपिक 2012 में गीता फोगाट भारत की एकमात्र महिला पहलवान थी। इसके अलावा यह पहला मौका है जब ओलंपिक में तीनों प्रारूपों पुरुष फ्रीस्टाइल और ग्रीको रोमन तथा महिला कुश्ती में भारत का प्रतिनिधत्व होगा।

पदक हासिल करने से पहले ही विनेश और साक्षी ने फाइनल में जगह बनाकर ओलंपिक के लिए कोटा हासिल कर लिया था। यहां चल रही प्रतियोगिता ओलंपिक के लिए अंतिम क्वालीफाइंग टूर्नामेंट है और प्रत्येक भार वर्ग में शीर्ष दो पहलवानों को ओलंपिक कोटा मिलना है।शनिवार (7 मई) के दो कोटा के साथ भारत ने कुश्ती में छह ओलंपिक कोटा हासिल कर लिए हैं। विनेश का यह प्रदर्शन इसलिए भी शानदार है क्योंकि मंगोलिया में पिछले क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में उन्हें 400 ग्राम वजन अधिक होने के कारण अयोग्य घोषित किया गया था।

विनेश को इसके बाद चेतावनी देकर छोड़ दिया गया था और उन्होंने भारतीय कुश्ती महासंघ को इस टूर्नामेंट से ओलंपिक कोटा हासिल करने का वादा किया था जिसे उन्होंने पूरा किया। शनिवार (7 मई) को विनेश के लिए शुरुआती दौर आसान रहे। उन्होंने क्वालीफिकेशन बाउट में उक्रेन की नतालया पुल्कोवस्का को 10-0 से हराने के बाद प्री क्वार्टर फाइनल में फ्रांस की जूली मार्टिन सबाती को 11-0 से शिकस्त दी।

इस भारतीय पहलवान ने क्वार्टर फाइनल में कोरिया की युमी ली को 11-1 जबकि सेमीफाइनल में तुर्की की एविन देमिरहान को 12-2 से हराकर स्वर्ण पदक के मुकाबले में जगह बनाई। फाइनल में भी विनेश को पोलैंड की इवोना नीना मातकोवस्का को 6-0 से हराने में कोई परेशानी नहीं हुई।

गीता फोगाट की जगह 58 किग्रा वर्ग में उतरने वाली साक्षी ने उन्हें मौका देने के फैसले को सही साबित किया। गीता को अस्थाई तौर पर निलंबित किया गया है। साक्षी ने स्पेन की इरीन गार्सियसा गारिडो को 10-0 से हराने के बाद क्वार्टर फाइनल में रोमानिया की झीदाचेवस्का कैटरीना को 12-2 से हराया। उन्होंने इसके बाद करीबी सेमीफाइनल में चीन की लैन झांग को हराकर फाइनल में प्रवेश किया।

इस 23 वर्षीय भारतीय पहलवान को हालांकि फाइनल में रूस की वालेरिया कोबलोवा के खिलाफ 3-7 से शिकस्त के कारण रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

दूसरी तरफ 63 किग्रा वर्ग में शिल्पी शेरोन को कांस्य पदक के मुकाबले में वेनेजुएला की नताली जोसेफीना ग्रीमान हरेरा के खिलाफ शिकस्त झेलनी पड़ी। शिल्पी ने लीडी मार्सेला इजक्वियेर्डो मेंडेज के खिलाफ अपना रेपेशेज मुकाबला 6-4 से जीतकर कांस्य पदक के मुकाबले में जगह बनाई थी।

शिल्पी को प्रीक्वार्टर फाइनल में हेना कटरीना योहानसन के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा था लेकिन उन्होंने स्वीडन की खिलाड़ी के फाइनल में पहुंचने पर रेपेशेज राउंड में जगह बनाई।

ललिता (53 किग्रा), गीतिका जाखड़ (69 किग्रा) और किरण (75 किग्रा) हालांकि शुरुआती चरणों में ही हार गई। ललिता को क्वालीफिकेशन में नतालिया बुडु के खिलाफ 2-4 से शिकस्त झेलनी पड़ी जबकि गीतिका को प्री क्वार्टर फाइनल में अमेरिका का तमाइरा मरियमा मेनसाह ने 5-0 से हराया। किरण को अजरबेजान की गोजाल जुतोवा ने क्वालीफायर में 2-0 से शिकस्त दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App