ताज़ा खबर
 

पीवी ​सिंधू बनाम कैरोलिना मैरिन: अभी तक 9 बार आमने-सामने हुई हैं दोनों खिलाड़ी, जानिए कौन पड़ा है किस पर भारी

इससे पहले हुए नौ मुकाबलों में कैरोलिना ने सिंधू को पांच बार मात दी है, जिसमें पिछले साल अगस्त में खेला गया रियो ओलंपिक का फाइनल भी शामिल है। वहीं, पीवी सिंधू ने अपनी स्पेनिश प्रतिद्वंदी को चार बार हराया है।

Carolina Marin vs PV Sindhu, India Open Super Series Final, Carolina Marin vs PV Sindhu Head To Head, Rivalry between PV Sindhu and Carolina Marin, Rio Olympics Final between PV Sindhu and Carolina Marin, Badminton Match, Sports News, PV Sindhu, Indian Shuttler PV Sindhu, Carolina Marin, Spanish Shuttler Carolina Marinभारतीय बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधू और स्पे​न की शटलर कैरोलिना मैरिन।(File Photo)

भारत की स्टार बैडमिंटन प्लेयर पीवी सिंधू रविवार को इंडिया ओपन सुपर सीरीज के फाइनल मुकाबले में एक बार फिर चिर प्रतिद्वंदी स्पेन की कैरोलिना मैरिन से भिड़ेंगी। नई दिल्ली के सिरी फोर्ट स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में खेले गए सेमिफाइल मुकाबलों में कैरोलिना ने चौथी वरीयता प्राप्त खिलाड़ी अकाने यामागुची को 21-16, 21-4 से हराया था। वहीं, पीवी सिंधू ने तीन सेट तक चले कड़े मुकाबले में सुंग जी युन को 21-18, 18-21, 21-14 से मात देकर फाइनल का टिकट कटाया। यह दसवां अवसर होगा जब दोनों खिलाड़ी एक दूसरे के खिलाफ चुनौती पेश करेंगी। इससे पहले हुए नौ मुकाबलों में कैरोलिना ने सिंधू को पांच बार मात दी है, जिसमें पिछले साल अगस्त में खेला गया रियो ओलंपिक का फाइनल भी शामिल है। वहीं, पीवी सिंधू ने अपनी स्पेनिश प्रतिद्वंदी को चार बार हराया है। साल 2010 में मैक्सिको में खेले गए बीएफडब्लू वर्ल्ड जूनियर चैम्पियनशिप्स में सिंधू ने कैरोलिन मैरिन को 21-17, 21-19 से हराकर खिताब अपने नाम किया था। हम आपको इन दोनों खिलाड़ियों के बीच हुए खेले गए कुछ बेहतरीन मुकाबलों के बारे में बता रहे हैं…

मालदिव्स चैलेंज, 2011: तीन सेट तक चले सेमिफाइनल मुकाबले में पीवी सिंधू ने कैरोलिना मैरिन ने को हराया। सीनियर लेवल पर खेले गए पहले मुकाबले में पीवी सिंधू ने कैरोलिना मैरिन को मात दी थी। उन्होंने मैरिन को 21-7, 15-21, 21-13 से हराया था। पीसी तुलसी के फाइनल मुकाबले में चोटिल होकर बाहर होने के कारण पीवी सिंधू को वॉक ओवर मिल गया और इस तरह वो खिताब जीतने में सफल रहीं।

आॅस्ट्रेलियन ओपन, 2014: मालदिव्स ओपन के सेमीफाइनल मुकाबले के बाद इन दोनों खिलाड़ियों की भिड़ंत आॅस्ट्रेलियन ओपन में हुई। इस टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में कैरोलिना मैरिन ने पीवी सिंधू को 21-17, 21-17 से हराकर बाहर का रास्ता दिखाया। इस टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में साइना नेहवाल ने कैरोलिना मैरिन को 21- 18, 21-11 से हराकर खिताब भी जीता और सिंधू की हार का बदला भी चुकता कर लिया।

वर्ल्ड चैम्पियनशिप्स, 2014: साल 2014 में ही आॅस्ट्रेलियन ओपन के दो महीने बाद दोनों खिलाड़ी डेनमार्क की राजधानी कोपेनहेगन में खेले गए विश्व चैम्पियनशिप में एक दूसरे के सामने थीं। कैरोलिना मैरिन ने इस बार भी पीवी सिंधू पर अपनी बादशाहत कायम रखी और 21-17, 21-15 से हरा दिया। फाइनल मुकाबले में कैरोलिना मैरिन ने चीन की ली जुरेई को 21-8, 21-14 से हराकर लगातार दूसरी बार खिताब अपने नाम किया। वहीं, पीवी सिंधू को लगातार दूसरी बार इस टूर्नामेंट में ब्रॉन्ज मेडल से संतोष करना पड़ा।

सैय्यद मोदी इंटरनेशनल ग्रैंड प्रिक्स, 2015: इस बार दोनों खिलाड़ियों का मुकाबला भारत में था। पीवी सिंधू के घर में खेले गए मुकाबले में कैरोलिना मैरिन ने एक बार फिर जीत दर्ज की। उन्होंने सिंधू को 21-13, 21-13 के अंतर से मात दे दी। लेकिन, आॅस्ट्रेलियन ओपन की तरह इस बार भी कैरोलिन मैरिन को फाइनल मुकाबले में साइना नेहवाल ने 19-21, 25-23, 21-16 से मात दे दी।

डेनमार्क ओपन सुपर सीरीज, 2015: साल 2015 तक कैरोलिना मैरिन ने अपने आपको दुनिया की शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी के रूप में स्थापित कर लिया था। डेनमार्क ओपन सुपर सीरीज के सेमीफाइनल मुकाबले में पीवी सिंधू ने कैरोलिना के खिलाफ अपनी हार का सिलसिला तोड़ दिया और तीन सेट तक चले मुकाबले में 21-15, 18-21, 21-17 से हरा दिया। इस टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में पीवी सिंधू को चीन की ली जुरेई ने 21-19, 21-12 से हराकर खिताब से वंचित कर दिया।

हांगकांग सुपर सीरीज, 2015: साल 2015 में हांगकांग सुपर सीरीज में दोनों खिलाड़ी एक बार फिर एक दूसरे के आमने सामने थीं। इस भिडंत में कैरोलिना ने पीवी सिंधू को 21-17, 21-9 से हराकर हार जीत का रिकॉर्ड 4-3 कर लिया। कैरोलिन ने इस टूर्नामेंट के फाइनल में जापान की नाजोमी ओकूहारा को 21-17, 18-21, 22-20 से हराकर खिताब अपने नाम कर लिया।

रियो ओलंपिक्स, 2016: इन दोनों खिलाड़ियों के बीच अब तक की सबसे बड़ी भिडंत रियो ओलंपिक्स के बैडमिंटन स्पर्धा के महिला सिंगल के फाइनल में हुई। भारत को गोल्ड दिलाने की उम्मीद लिए हुए करोड़ों निगाहें टीवी स्क्रीन पर टिकी थीं। पीवी सिंधू के साथ ही देश को निराशा हाथ लगी और कैरोलिना मैरिन ने उनको पहला सेट 19-21 से हारने के बाद जबरदस्त वापसी करते हुए 21-12, 21-15 से हरा दिया। पीवी सिंधू को सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा और इसके साथ ही वो ओलंपिक्स में सिल्वर मेडल जीतने वाली भारत की पहली महिला खिलाड़ी बन गईं।

दुबई वर्ल्ड सुपर सीरीज, 2016: पीवी सिंधू ने कैरोलिना मैरिन से रियो ओलंपिक की हार का बदला चुकता कर लिया। साल 2016 के आखिरी में दुबई वर्ल्ड सुपर सीरीज में उन्होंने मैरिन को 21-17, 21-13 से परास्त किया। सेमीफाइनल में उन्हें सुंग जी ह्यून के हाथों हार का सामना करना पड़ा। इस टूर्नामेंट में कैरोलिन मैरिन को एक भी जीत नसीब नहीं हुई और उन्हें अपने ग्रुप के सभी तीन मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा।

वीडियो: कैरोलिना मैरिन और पीवी सिंधू के बीच रियो ओलंपिक्स का फाइनल मुकाबला

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पीवी सिंधू ने जीतीं इंडिया ओपन सुपर सीरीज, कैरोलिना मा‍रिन से लिया रियो ओलंपिक की हार का बदला
2 भीषण गर्मी पर योगेश्वर दत्त ने किया ट्वीट, तो खूब हुई वाहवाही, कहा-जोरदार बात बोल गए पहलवान जी
3 पीवी सिंधू इंडिया ओपन सुपर सीरीज के फाइनल में पहुंचीं, अंतिम-4 में सुंग जी ह्यून को दी मात
ये पढ़ा क्या?
X