ताज़ा खबर
 

BWF World Championships: वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड जीतकर पीवी सिंधु ने रचा इतिहास, ऐसा करने वाली बनीं पहली भारतीय बनीं

सिंधु ने जापान की नोजोमी ओकुहारा को सीधे सेटों में 21-7, 21-7 से हराया। इससे पहले वर्ल्ड चैंपियनशिप 2017 में भी इन दोनों खिलाड़ियों के बीच भिड़ंत हुई थी। जहां ओकुहारा की जीत हुई थी।

पीवी सिंधु ने वर्ल्ड चैंपियन बनने के बाद कुछ इस तरह खुशी जाहिर की। (सोर्स- ट्विटर)

BWF World Championships 2019 Final: वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में महिला एकल के फाइनल में भारत की स्टार खिलाड़ी पीवी सिंधु और जापानी स्टार नोजोमी ओकुहारा के बीच मुकाबला खेला गया। रविवार को खेले गए इस मैच को पीवी सिंधु ने अपने नाम कर वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप पर कब्जा जमाया। सिंधु ने जापान की नोजोमी ओकुहारा को सीधे सेटों में 21-7, 21-7 से हराया।

पीवी सिंधु।

इससे पहले वर्ल्ड चैंपियनशिप 2017 में भी इन दोनों खिलाड़ियों के बीच भिड़ंत हुई थी। जहां ओकुहारा की जीत हुई थी। सिंधु ने इसके साथ ही ओकुहारा के खिलाफ करियर जीत हार का रिकॉर्ड 9-7 कर लिया सिंधु की ओकुहारा के खिलाफ 30 साल या दूसरी जीत है इससे पहले उन्होंने जुलाई में इंडोनेशिया ओपन में ओकुहारा को 21-14, 21-7 से हराया थाl

सिंधु ने जीत के बाद अपने माता-पिता को अपनी सफलता का श्रेय दिया। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि उन्हें अपने देश भारत पर गर्व है। उन्होंने यह जीत खासतौर पर अपनी मां को समर्पित की। सिंधु की मां का जन्मदिन भी आज है सिंधु ने मैच जीतने के बाद उन्हें हैप्पी बर्थडे मॉम कहकर विश भी किया।

सिंधु इससे पहले वर्ल्ड चैंपियनशिप में दो कांस्य पदक और दो रजत पदक जीत चुकी हैं उन्होंने 2013 और 2014 में कांस्य पदक अपने नाम किया था जबकि 2017 और 2018 में रजत पदक पर कब्जा जमाया था। इस टूर्नामेंट में भारतीय शटलरों के प्रदर्शन की बात करें तो दो पदक हिस्से में आए हैं पीवी सिंधु के अलावा साई प्रणीत ने पुरुष एकल में कांस्य पदक जीता। सिंधु से पहले साइना नेहवाल ने वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप 2015 में रजत पदक जीता था। वहीं 1983 में पुरुष एकल में प्रकाश पादुकोण कांस्य पदक जीतने में सफल रहे थे।

Next Stories
1 वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप पीवी सिंधु ने किया उलटफेर दुनिया की नंबर दो खिलाड़ी को हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई
2 नई उड़ानः ऐश्वर्या ने जीता हौसले का खिताब
ये पढ़ा क्या?
X