ताज़ा खबर
 

दंगल 2: गीता-बबीता के बाद उनकी इस बहन ने रिंग में दिखाया दमखम, जीता सिल्वर

23 साल की रितु ने पिछले साल कॉमनवेल्थ रेसलिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल अपने नाम किया था।

फाइनल मुकाबला 4-4 से बराबरी पर छूटने पर टर्की की महिला पहलवान को क्यूशन का फायदा मिला।

बड़ी बहनों गीता और बबीता के साथ मैट पर कुश्ती के दांव-पेच सीखने वाली उनकी छोटी बहन रितु फोगाट ने पोलैंड में वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल  अपने नाम कर लिया है। अंडर-23 सीनियर वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप के 48 किलोग्राम भारवर्ग में देश को रजत पदक दिलाने वाली रितु फोगाट पहली महिला पहलवान बन गई हैं। इससे पहले उनकी बड़ी बहनों ने कांस्य पदक जीता था। फाइनल मुकाबले में रितु को तुर्की की महिला रेसलर देमिरहान ने स्वर्ण पदक के मुकाबले में हराया। 23 साल की रितु ने पिछले साल कॉमनवेल्थ रेसलिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल अपने नाम किया था, लेकिन वह अपने स्वर्णिम प्रदर्शन को यहां दोहरा नहीं पाईं। इससे पहले क्वॉर्टर फाइनल मैच में भारतीय महिला रेसलर रितु ने बुल्गारिया की सेलिष्का को 4-2 के अंतर से शिकस्त दी थी।

रितु ने चीन की रेसलर जियांग झू को सेमीफाइनल में 4-3 से हराकर स्वर्ण पदक के मुकाबले में प्रवेश किया था। रितु ने इससे पहले इंदौर में नेशनल चैंपियनशिप जीती थी। इसी महीने इंदौर में राष्ट्रीय रेसलिंग चैंपियनशिप में रितु ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। उन्होंने इस साल मई में एशियन चैंपियनशिप में कांस्य पदक भी जीता था।

रितु अब अप्रैल 2018 में आस्ट्रेलिया में होने वाली कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप व जनवरी में होने वाली कुश्ती लीग के लिए तैयारियां शुरू करेगी। रितु फोगाट के रजत पदक जीतने पर उनके पिता महावीर फोगाट ने कहा कि उन्हें रितु से गोल्ड की उम्मीद थी। रितु पूरी चैंपियनशिप के दौरान अच्छा खेली थीं। उन्होंने कहा कि फाइनल मुकाबला 4-4 से बराबरी पर छूटने पर भी टर्की की महिला पहलवान को क्यूशन का फायदा मिला और उसे विनर घोषित कर दिया गया। महावीर फोगाट का कहना है कि रितु अब कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप की तैयारी शुरू करेगी और इसमें देश के लिए स्वर्ण पदक प्राप्त करेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App