ताज़ा खबर
 

पीवी सिंधू का नाम ही भूल गए हरियाणा के सीएम खट्टर, दूसरे से पूछा फिर कहा- कर्नाटक की हैं

खट्टर सरकार ने हैदराबाद की बैडमिंटन खिलाड़ी सिंधु के लिये भी 50 लाख रूपये के नकद पुरस्कार की घोषणा की है।

Author रोहतक | Updated: August 24, 2016 7:51 PM
साक्षी को नरेंद्र मोदी सरकार के ‘बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ’ कार्यक्रम के लिये हरियाणा का ब्रांड एम्बेसडर भी नियुक्त किया था।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर आज ओलंपिक रजत पदकधारी पीवी सिंधू का पूरा नाम भूल गये और उन्होंने भूलवश उसे कर्नाटक की भी कह डाला। खट्टर ने कहा, ‘‘यह हमारे लिये गौरव का क्षण है क्योंकि हमारी दो बेटियों ने रक्षा बंधन के पर्व पर दो पदक जीते। हरियाणा की साक्षी मलिक और सिंधु (दूसरों से पूछने लगे कि उसका नाम क्या है)….कर्नाटक की पीवी सिंधु (सिंधु हैदराबाद की हैं)। ’’ खट्टर यहां हरियाणा सरकार द्वारा ओलंपिक कांस्य पदकधारी साक्षी मलिक के स्वागत सम्मान समारोह के दौरान भारी संख्या में मौजूद लोगों के समक्ष भाषण दे रहे थे। साक्षी रियो डि जिनेरियो से आज सुबह रोहतक के निकट बहादुरगढ़ पहुंची और यहीं पर यह कार्यक्रम आयोजित किया गया। खट्टर सरकार ने हैदराबाद की बैडमिंटन खिलाड़ी सिंधु के लिये भी 50 लाख रूपये के नकद पुरस्कार की घोषणा की है।

बहादुरगढ़ में 11 मिनट के भाषण के दौरान खट्टर ने यह भी कहा कि उनकी सरकार उन एथलीटों की पहचान करेगी और मदद करेगी जिन्होंने हरियाणा में पुलिसकर्मियों की भर्ती के दौरान अच्छा समय निकाला है। खट्टर को पहले साक्षी मलिक को रोहतक स्थित उनके गांव मोखरा खास में सम्मानित करना था लेकिन बाद में बहादुरगढ़ में ही सम्मानित करने का फैसला किया गया। उनके साथ उनके वरिष्ठ कैबिनेट साथी कप्तान अभिमन्यु और ओपी धनकड़ इस स्टार पहलवान के स्वागत के लिये मौजूद थे। इस सम्मान समारोह में साक्षी को मुख्यमंत्री ने 2.5 करोड़ रूपये का चेक प्रदान किया। मुख्यमंत्री ने इस 23 वर्षीय पहलवान के दोनों कोचों के लिये भी 10…10 लाख रूपये के नकद पुरस्कार की घोषणा की, इसके अलावा साक्षी के गांव के लिये खेल नर्सरी और स्टेडियम की भी घोषणा की। साक्षी को नरेंद्र मोदी सरकार के ‘बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ’ कार्यक्रम के लिये हरियाणा का ब्रांड एम्बेसडर भी नियुक्त किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अमेरिकी सांसदों की अपील, सिख खिलाड़ियों के खिलाफ खत्म हो भेदभाव वाली नीति
2 मैरीकोम से लेकर सरिता के मेंटर रह चुके हैं जयपुर के रहने वाले 48 साल के दयाल
3 ओडिशा के 11 साल के फुटबॉलर चंदन को बायर्न म्‍यूनिख ने चुना, जर्मनी में दिग्‍गज देंगे ट्रेनिंग
ये पढ़ा क्‍या!
X